यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नकल माफिया पर योगी आदित्यनाथ सरकार की नकेल, दो दिन में पांच लाख ने छोड़ी परीक्षा


🗒 गुरुवार, फरवरी 08 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाओं में नकल माफिया पर हावी है। परीक्षा को अभी तीसरा दिन ही है, लेकिन पांच लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा से किनारा कर लिया है। गृह विज्ञान तथा हिंदी जैसे आसान विषय में ही लोगों से पसीने छूट गए। सरकार का नकल माफिया पर सख्ती का ही असर है कि पांच लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी है।

नकल माफिया पर योगी आदित्यनाथ सरकार की नकेल, दो दिन में पांच लाख ने छोड़ी परीक्षा

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के पास माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा विभाग है। परीक्षा के पहले दिन से ही उन्होंने ताबड़तोड़ औचक निरीक्षण किया है। एक-एक दिन में चार जिलों में उन्होंने परीक्षा केंद्रों का जायजा लिया है। इसके साथ ही हर परीक्षा केंद्र को सीसीटीवी कैमरा से जोड़ा गया है। पहली बार एसटीएफ को भी उत्तर प्रदेश बोर्ड की परीक्षा में लगाया गया है। यूपी बोर्ड ने आंकड़े जारी करते हुए बताया कि पहले दिन दसवीं में 69201 और बारहवीं में 220107 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी।

उत्तर प्रदेश बोर्ड की 2018 की परीक्षा में सरकार की सख्ती का असर दिखाई देने लगा है। बोर्ड परीक्षा के पहले दो दिनों में पांच लाख से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी है। कल 144 नकलची पकड़े गए। माना जा रहा है सरकार की सख्ती की वजह से नकल के भरोसे परीक्षा देने वाले छात्रों को मायूसी हाथ लगी है, जिसकी वजह से इतनी बड़ी संख्या में छात्र परीक्षा छोड़ चुके हैं।डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा खुद हेलीकॉप्टर से कई जिलों में औचक निरीक्षण कर रहे हैं, जिसकी वजह से नकलविहीन परीक्षा कराने के सरकार के प्रयास को बल मिला है। डॉ दिनेश शर्मा जौनपुर, हरदोई और गोंडा जिलों का औचक निरिक्षण कर चुके हैं।

इसके साथ सीसीटीवी और एसटीएफ की मुस्तैदी से भी नकल माफियाओं को तगड़ा झटका लगा है। जानकार भी मान रहे हैं कि इस बार नकलविहीन परीक्षा का माहौल बना है। यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि परीक्षा के दो दिन बीत चुके हैं। सभी जिलों से उत्साहजनक सूचनाएं आ रही हैं। नकल माफिया के हौसले पस्त हैं। हर बड़े जिले में एसटीएफ सक्रिय है। कहीं पर भी नकल की सूचना मिलते ही सख्त से सख्त कार्रवाई की जा रही है।

यूपी बोर्ड के मुताबिक शुरुआती दो दिनों में 144 छात्र नकल करते पकड़े गए। कल दूसरे दिन 128 नकलची पकड़े गए। जिनमें हाईस्कूल की परीक्षा में 92 नकलची पकड़े गए। इण्टर की परीक्षा में 36 नकलची पकड़े गए। इनमें 25 मथुरा जिले के हैं। कल ही प्रतापगढ़ जिले में एक छात्र के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई है।

यूपी बोर्ड की छह फरवरी से शुरू हुई परीक्षा के लिए कुल 66 लाख 37 हजार छात्रों को एडमिट कार्ड जारी हुआ था। दो दिन में पांच लाख से अधिक ने परीक्षा छोड़ दी। पहले दिन कुल 289308 परीक्षार्थियों ने छोड़ी परीक्षा। दूसरे दिन दसवीं में 214265 व बारहवीं में 1496 छात्र अनुपस्थित रहे। दूसरे दिन कुल 215761 छात्रों ने परीक्षा छोड़ी। 

समाचार से अन्य समाचार व लेख

» बरेली के कोटक महिंद्रा बैंक में सामने आया 1.32 करोड़ का फर्जीवाड़ा

» बस्ती जनपद मे पेड़ से टकराई बारातियों से भरी पिकअप, तीन की मौत

» बहराइच में बेटे के प्रेम प्रसंग में बाप की हत्या

» अलीगढ़ में सेल्समैन को धमकाकर पेट्रोल पंप से 1.66 लाख लूटे

» फैजाबाद में मुन्ना बजरंगी गैंग के दो शार्प शूटर गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» मैनपुरी के किशनी में सड़क हादसे में बाल-बाल बचे कैबिनेट मंत्री, आपस में टकराईं काफिले की कई गाड़ियां

» उनाव सांसद साक्षी महाराज ने फिर उगला जहर, 'ममता बनर्जी को राक्षस हिरण्यकश्यप की वंशज बताया'

» लखनऊ एयरपोर्ट से फर्जी पासपोर्ट मामले में फरार आरोपी गिरफ्तार, आईबी ने जारी किया था नोटिस

» अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य समारोह रांची में होगा पीएम मोदी रहेंगे मौजूद, तैयारियां शुरू

» सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या समेत लंबित हैं कई बड़े धार्मिक व राजनीतिक मामले