उत्तरप्रदेश मे करीब 1400 एनकाउंटर में घायल पुलिसकर्मियों की संख्या हुई 300 पार

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तरप्रदेश मे करीब 1400 एनकाउंटर में घायल पुलिसकर्मियों की संख्या हुई 300 पार


🗒 सोमवार, मार्च 26 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
उत्तरप्रदेश मे करीब 1400 एनकाउंटर में घायल पुलिसकर्मियों की संख्या हुई 300 पार

यूपी में इन दिनों पुलिस आॅपरेशन क्लीन में व्यस्त है. पूरे प्रदेश में ताबड़तोड़ एनकाउंटर सामने आ रहे हैं. कहीं 1 लाख का ईनामी एके 47 के साथ ​पकड़ा जा रहा है तो कहीं वर्षों से फरार बदमाश सलाखों के पीछे पहुंच रहा है.

पुलिस कई इनामी बदमाश भी ढेर कर रही है. इस बीच तस्वीर का दूसरा पहलू ये भी है कि इस अभियान में अभी तक पुलिस को 4 साथियों की शहादत से भी रूबरू होना पड़ा है. यही नहीं प्रदेश में अब तक हुए करीब 1400 एनकाउंटर में 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल भी हो चुके हैं.
गाजियाबाद में शनिवार रात में 2 जगह पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ हुई. इस दौरान एक इंस्पेक्टर और एक सिपाही घायल हो गए. सभी घायलों का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज किया गया है. विजयनगर इलाके के बेहरामपुर में वाहन चेकिंग के दौरान बाइक सवार बदमाश ने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग कर दी. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की. दोनों तरफ से हुई फायरिंग में बदमाश सुंदर घायल हो गया. इस दौरान बदमाश की गोली से विजयनगर के एसओ नरेश कुमार सिंह भी घायल हो गए. जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि एसओ की हालत नाजुक है क्योकि गोली उनके पेट में लगी है.
सिर्फ नरेश कुमार सिंह ही नहीं उत्तर प्रदेश में दर्जनों ऐसे पुलिसकर्मी हैं, जो बदमाशों से लोहा लेने में उनकी गोलियों का निशाना बन गए. इसी तरह मुज़फ्फरनगर के मीरापुर थाना क्षेत्र में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई. मुठभेड़ में पुलिस ने दो 20-20 हजार रूपये के इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जबकि इस मुठभेड़ में एक बदमाश और एक पुलिसकर्मी गोली लगने से घायल घायल हुआ है.
आंकड़ों पर गौर करें तो उत्तर प्रदेश में पिछले एक साल में 5 मार्च तक हुए पुलिस एनकाउंटर में 283 पुलिसकर्मी घायल हुए. इनमें सबसे ज्यादा मेरठ जोन में 145 पुलिसकर्मी घायल हुए. इसी तरह बरेली जोन में 62 और वाराणसी में 18 पुलिसवाले एनकाउंटर में घायल होकर अस्पताल पहुंचे.डीआईजी लॉ एंड आॅर्डर प्रवीण कुमार कहते हैं कि अभी तक जितने भी पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, उन्हें अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था द्वारा प्रशस्ति पत्र जारी किए गए हैं. साथ ही सभी एसएसपी को ये निर्देश हैं कि पुलिसकर्मियों के इलाज का खर्च वहन करें और प्रतिपूर्ति की प्रक्रिया में इन मामलों को प्राथमिकता पर रखें. ताकि उनकी जेब से कुछ भी खर्च न करना पड़े. प्रवीण कुमार कहते हैं कि इसके अलावा केस की डिग्री के हिसाब से इन पुलिसकर्मियों के नाम विभिन्न पुरस्कारों के लिए भी भेजे जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर कोई ईनामी अपराधी पकड़ा जाता है तो उसका ईनाम तो पुलिसकर्मियों को मिलता ही है, साथ ही उनके सर्विस रोल में भी इसका फायदा मिलता है. जिसका लाभ उन्हें ​प्रमोशन आदि में मिलेगा. प्रवीण कुमार कहते हैं कि सबसे बड़ा पुरस्कार तो उसका काम ही है, जिसकी प्रशंसा उसे समाज से मिलती है.
20 मार्च 207 से 5 मार्च 2018 तक के सरकारी आंकड़े
आगरा — 225 एनकाउंटर में 27 पुलिसकर्मी घायल, शहीद 2
मेरठ — 500 एनकाउंटर में 145 पुलिसकर्मी घायल, शहीद 1
लखनऊ — 59 एनकाउंटर में 13 पुलिसकर्मी घायल
इलाहाबाद — 64 एनकाउंटर में 4 पुलिसकर्मी घायल, 1 शहीद
बरेली — 219 एनकाउंटर में 62 पुलिसकर्मी घायल
गोरखपुर — 45 एनकाउंटर में 6 पुलिसकर्मी घायल
कानपुर — 107 एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मी घायल
वाराणसी — 102 एनकाउंटर में 18 पुलिसकर्मी घायल

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में वन व‍िभाग के जाल में फंसे सांप तस्‍कर

» पांच पुलिस उपाधीक्षक इधर से ऊधर

» निराश्रित महिला पेंशन के लिए कैंप लगाने के निर्देश

» सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुर में तीन से छह साल तक के बच्चों को बांटेंगे प्री स्कूल किट

» एक ट्रिलियन डालर अर्थव्यवस्था के लिए तेजी से हो रहा काम - सीएम योगी