यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने दिया अखिलेश को झटका, जौनपुर से उतारा प्रत्याशी


🗒 रविवार, अप्रैल 14 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आज अप्रत्याशित फैसला कर दिया। पार्टी ने जौनपुर से प्रत्याशी उतारकर अपने सहयोगी समाजवादी पार्टी को झटका दिया है। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन कर बसपा का इरादा भाजपा को सत्ता से बाहर करने का है। मायावती के इस कदम से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव खासे परेशान होंगी। अखिलेश यादव जौनपुर से अपने भाई तथा मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप सिंह यादव उर्फ तेजू को उतारना चाहते थे। मायावती ने जौनपुर से अपना प्रत्याशी श्याम सिंह यादव को घोषित कर दिया है। पीसीएस अधिकारी श्याम सिंह यादव को जौनपुर लोकसभा से उम्मीदवार बनाया गया है। 65 वर्ष श्याम सिंह यादव रानी पट्टी, ब्लाक मडिय़ाहूं, जौनपुर के निवासी हैं।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने दिया अखिलेश को झटका, जौनपुर से उतारा प्रत्याशी

मायावती ने आज अपने लोकसभा चुनाव के लिए 16 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की। इस घोषणा में सबसे बड़ा झटका उसने अपनी सहयोगी समाजवादी पार्टी को दिया है। जौनपुर से समाजवादी पार्टी अपना प्रत्याशी उतारना चाहती थी, लेकिन बसपा ने यहां से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी चाहती थी कि बसपा यहां से अपना प्रत्याशी न उतारे। वह इस सीट के बदले सपा बलिया की सीट बसपा को देने को तैयार थी। समाजवादी पार्टी जौनपुर में तेज प्रताप सिंह यादव को एडजस्ट करना चाहती थी। मायावती ने एसपी प्रमुख की इस मांग को कोई तवज्जो नहीं दी।समाजवादी पार्टी ने तेज प्रताप की सीट मैनपुरी से इस बार सपा ने मुलायम सिंह यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। मुलायम सिंह यादव वहां से नामांकन भी कर चुके हैं। अब तेज प्रताप के पास कोई भी सुरक्षित सीट नहीं है। एसपी प्रमुख ने मैनपुरी से टिकट अपने पिता मुलायम सिंह यादव को दिया है। यही नहीं यहां से एसपी के दिग्गज नेता पारसनाथ यादव भी चुनाव लडऩा चाहते थे।समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव जौनपुर से अपने चचेरे भाई तेज प्रताप यादव को टिकट देना चाहते थे, क्योंकि तेज प्रताप मैनपुरी से टिकट काटे जाने से नाराज हैं। उनके समर्थकों ने यहां प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद उनके समर्थक जिला इकाई को भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भंग कर दिया है।आज बीएसपी ने जिन 16 सीटों के नामों का ऐलान किया है उसमें बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी का भी नाम है। एसपी प्रमुख अखिलेश यादव ने कभी अंसारी बंधुओं को पार्टी में लेने से मना कर दिया था और वह माफिया को टिकट देने के पक्ष में नहीं थे। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» मोहनलालगंज पुलिस ने वांछित अभियुक्त को गिरफ्तार कर भेजा जेल

» नगराम थाना क्षेत्र मे दो पक्षो में जमकर हुई मारपीट जमीनी विवाद को लेकर मुकदमा दर्ज

» हजरतगंज कोतवाली में CM योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले युवक पर FIR दर्ज

» अब बलिया तक बनेगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे CM योगी ने पलटा अखिलेश सरकार का फैसला

» साध्वी प्राची का अलीगढ़ में मासूम बच्ची की हत्या पर फूटा गुस्सा, बोलीं- दोषियों को सड़क पर जला दें

 

नवीन समाचार व लेख

» मोहनलालगंज पुलिस ने वांछित अभियुक्त को गिरफ्तार कर भेजा जेल

» नगराम थाना क्षेत्र मे दो पक्षो में जमकर हुई मारपीट जमीनी विवाद को लेकर मुकदमा दर्ज

» मथुरा के गोवर्धन के पास अड़िग में भूत-प्रेत भगाने के नाम पर महिला से दुष्कर्म का प्रयास रिपोर्ट हुई दर्ज

» मथुरा के शेरगढ रॉड पर भट्टा से दो किशोरियों का अपहरण कर ले गए नामजद

» मथुरा में बिजली विभाग ने गुल कर दी बीएसएनएल की बत्ती, कार्यालय में मची अफरा-तफरी