यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

डीआरएम कार्यालय में सहायक अकाउंटेंट सोनी ने घरवालों से बताई थी प्रताडऩा की कहानी


🗒 सोमवार, अप्रैल 15 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 डीआरएम कार्यालय में सहायक अकाउंटेंट सोनी की आत्महत्या के मामले में पुलिस को अभी तक परिवारीजन से कोई तहरीर नहीं मिली है। सोमवार को बिहार के नालंदा से सोनी के परिवारीजन राजधानी पहुंचे। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद उन्हें शव सौंप दिया। गुलाला घाट पर घरवालों ने सोनी का अंतिम संस्कार कर दिया। पीडि़त परिवार का आरोप है कि सोनी को उनके ऑफिस के अधिकारी और कर्मचारी लगातार प्रताडि़त कर रहे थे। यह बात उन्होंने घरवालों को भी बताई थी। सोनी के चाचा सुनील दत्त ने बताया कि होली के समय मां की तबीयत खराब होने पर सोनी ने आदित्य से दो दिन की छुट्टी मांगी थी। प्रार्थना पत्र देने के बाद सोनी घर चली गई थीं। आरोप है कि वापस लौटने पर उन्हें कारण बताओ नोटिस दे दिया गया था। कार्यालय में हो रहे उत्पीडऩ की लिखित शिकायत सोनी ने डीएफएम से भी की थी। बाद में दबाव बनाकर सोनी से प्रार्थना पत्र वापस लेने के लिए कहा गया था।

डीआरएम कार्यालय में सहायक अकाउंटेंट सोनी ने घरवालों से बताई थी प्रताडऩा की कहानी

घरवालों का कहना है कि सुसाइड नोट में सोनी ने जिन लोगों पर आरोप लगाए हैं, उनके खौफ से वह ऑफिस जाने से भी डरने लगी थीं। सोनी को बेवजह परेशान किया जा रहा था, जिससे आहत होकर उन्होंने जान दे दी। पोस्टमार्टम हाउस पर सोनी के भाई संतोष, भाभी प्रियतमा, चचेरे भाई अभिषेक ने पुलिस से आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सीओ आलमबाग डॉ. संजीव सिन्हा के मुताबिक घरवालों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया है। पुलिस ने उनसे तहरीर मांगी है। पीडि़त परिवार जो भी तहरीर देंगे, उसके आधार पर एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। सोनी मूलरूप से बिहार के नालंदा जिले के जामनपुर गांव की रहने वाली थीं।उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल कार्यालय में तैनात सहायक अकाउंटेंट सोनी कुमारी अपने बेहतरीन काम के कारण डीआरएम अवार्ड से सम्मानित हो चुकी थीं। हर काम अपडेट रखने में माहिर सोनी पिछले कई महीनों से विभागीय काम में रुचि नहीं ले रही थीं। इसको लेकर सोनी के भाई भी परेशान थे और इस संबंध में वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक से मिल चुके थे। आरोप है कि छुट्टी स्वीकृत हुए बिना भी वे बिहार जा चुकी थीं। 

वहीं सोनी के भाई संतोष ने सुसाइड नोट में लिखे गए सभी कर्मियों को दोषी बताया है। उनके मुताबिक उनकी बहन को बेवजह मानसिक रूप से परेशान किया जाता था। यही नहीं वरिष्ठों द्वारा बेवजह काम का दबाव बनाया जाता था और उल्टे सीधे कमेंट किए जाते थे, जिसको लेकर बहन अकसर तनाव में रहती थी। नालंदा में कोचिंग चलाने वाले संतोष ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सभी दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। आलमबाग स्थित रेलवे की वीजी मल्टी स्टोरी आवासीय कॉलोनी के चौथे तल से रविवार सुबह कूदकर सोनी ने आत्महत्या कर ली थी। वह हजरतगंज स्थित उत्तर रेलवे के डीआरएम दफ्तर में सहायक अकाउंटेंट के पद पर तैनात थीं। पुलिस ने उनके फ्लैट से सुसाइड नोट बरामद किया है। नोट 28 मार्च को लिखा गया था, जिसमें सोनी ने एसएसओ आदित्य शुक्ला व सोमेश मित्तल, डबल ए आकाश कुमार, करुणेश, विवेक कुमार और अवधेश कुमार पर संगीन आरोप लगाए हैं।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» जल निगम विभाग की घोर लापरवाही सड़कों पर बह रहा पेयजल

» ग्राम पंचायतों की ग्राम समाज की जमीन से अवैध कब्जेदारी हटाने में नाकाम तहसील प्रसाशन

» चकबंदी भर्ती घोटाले के आरोपित सुरेश सिंह की रिमांड मंजूर

» आरोपित अनुभव मित्तल को VIP ट्रीटमेंट, छह सिपाही निलंबित

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- तय समय में शुरू हों नए मेडिकल कॉलेज

 

नवीन समाचार व लेख

» पचपेड़ा मौजा धर्मापुर में चोरों ने उड़ाया नगदी समेत लाखों के जेवरात

» तिलोक पुरवा मंदिर के निकट बीती रात हुआ भीषण एक्सीडेंट दो की मौत एक घायल

» क्रांतिकारी जनसंघर्ष मोर्चा सामाजिक संगठन ने किया बृक्षारोपण।

» आगरा मे अनबन पर प्रेमिका ने खाया जहर; अस्पताल में देखने पहुंचे प्रेमी के परिवार को लड़की के घरवालों ने पीटा

» जिला गोंडा में भाजपा के बूथ अध्यक्ष पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला, हालत गंभीर