यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राजधानी मे पत्नी को ‘I LOVE U’ मैसेज कर लगाई फांसी, Suicide का गवाह बना CC कैमरा


🗒 गुरुवार, मई 09 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राजधानी में बुधवार को एक दिलदहलाने वाला मामला सामने आया है। नाका थानाक्षेत्र स्थित गणेशगंज में एक व्यापारी ने सुबह पत्‍नी को ‘आइ लव यू’ का मैसेज भेजकर अपनी दुकान में पंखे के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। दर्दनाक नजारा दुकान में लगे सीसी कैमरे में कैद हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। सीओ कैसरबाग अतिम कुमार राय के मुताबकि, पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। मामले की जांच की जा रही है। वहीं घरवालों ने केजीएमयू में उपेंद्र की आंखें दान कर दी हैं।मामला नाका हिंडोला के गनेशगंज स्थित तकिया का है। यहां के निवासी व्यापारी उपेंद्र अग्रवाल (42)की आर्य समाज मंदिर रोड स्थित अपने 'मिस टू मिसेज' नामक बुटीक की दुकान थी। परिवार में मृतक उपेंद्र के परिवार में पत्नी सागरिका, बेटा आकर्षण बीकॉम प्रथम वर्ष का छात्र व एक बेटी यशस्वी हाईस्कूल में पढ़ती है।

राजधानी मे पत्नी को ‘I LOVE U’ मैसेज कर लगाई फांसी, Suicide का गवाह बना CC कैमरा

मृतक के बड़े भाई शैलेंद्र ने बताया कि बुधवार सुबह उपेंद्र घर से स्कूटी लेकर निकले थे। दुकान का कर्मचारी इरफान जब वहां पहुंचा तो बाहर से ताला खुला मिला। वह शटर खोलकर भीतर दाखिल हुआ, जहां शव फंदे से लटका मिला। इरफान ने घरवालों और नाका पुलिस को घटना की सूचना दी। सीओ कैसरबाग ने बताया कि सीसी कैमरे की फुटेज खंगाली गई। इस दौरान एक कैमरे की फुटेज में देखा गया कि उपेंद्र ने काउंटर पर रखा दुपट्टा उठाया था और एक स्टूल लेकर पंखे के नीचे खड़े हो गए थे। मृतक ने मोबाइल फोन में पत्‍नी को आइ लव यू लिखकर वाट्सएप मैसेज किया। इसके बाद गले में फंदा डाल लिया। उपेंद्र ने दोनों हाथों से पहले फंदा पकड़ा था। इसके बाद उसी के सहारे स्टूल से दोनों पैर हटा दिए और फिर झटके से फंदे पर झूल गए थे।सूत्रों के मुताबिक, उपेंद्र का परिवार की एक महिला सदस्य से बुधवार सुबह किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी। विवाद के बाद वह नाराज होकर घर से निकले थे। हालांकि परिवारीजन ने किसी भी प्रकार के विवाद की बात से इन्कार किया है। उपेंद्र का बेटा आकर्षण बीकॉम प्रथम वर्ष का छात्र है, जबकि बेटी यशस्वी हाईस्कूल में पढ़ती है।पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे उपेंद्र के घरवालों ने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया। आत्महत्या का कारण पूछने पर मृतक के भाई ने बताया कि उनके भाई ने कर्ज ले रखा था। कुछ दिन से वह काफी परेशान थे, जिसकी वजह से उन्होंने जान दे दी। हालांकि यह नहीं पता चल सका कि कितने रुपये का कर्ज ले रखा था। सीसी कैमरे की फुटेज जब खंगाले गए तो पता चला कि मृतक मोबाइल फोन में कुछ लिख रहे हैं। पुलिस ने मोबाइल को कब्जे में लेकर छानबीन की तो पत्‍नी को भेजा गया मैसेज पड़ा मिला। हालांकि इंटरनेट कनेक्शन बंद होने के कारण वह मैसेज उन्हें डिलीवर नहीं हुआ था।सीओ कैसरबाग के मुताबिक,  उपेंद्र के घरवालों ने इस प्रकरण में कोई लिखित शिकायत नहीं की है। पोस्टमार्टम के बाद परिवारीजन शव लेकर चले गए और अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस आत्महत्या का कारण पता कर रही है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» जल निगम विभाग की घोर लापरवाही सड़कों पर बह रहा पेयजल

» ग्राम पंचायतों की ग्राम समाज की जमीन से अवैध कब्जेदारी हटाने में नाकाम तहसील प्रसाशन

» चकबंदी भर्ती घोटाले के आरोपित सुरेश सिंह की रिमांड मंजूर

» आरोपित अनुभव मित्तल को VIP ट्रीटमेंट, छह सिपाही निलंबित

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- तय समय में शुरू हों नए मेडिकल कॉलेज

 

नवीन समाचार व लेख

» जिला गोंडा में भाजपा के बूथ अध्यक्ष पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला, हालत गंभीर

» अब गलत शिकायत पर दंड के प्रावधान पर पुनर्विचार करेगा चुनाव आयोग

» प्रयागराज-वाराणसी हाईवे परबिल्टी थी मुर्गी के दाना की लेकिन ट्रक में लदी थी शराब, दो गिरफ्तार

» केंद्रीय कारागार नैनी में शराब पार्टी की फोटो वायरल, जांच शुरू

» अब बाबा दरबार में सक्रिय होगी शिकायत निवारण व्यवस्था, गठित होगा विशेष प्रकोष्ठ