यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

डीजीपी बोले, राजनीतिक रंजिश में हुई वारदात, फरार आरोपियों को जल्द पकड़ेंगे


🗒 सोमवार, मई 27 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

अमेठी में भाजपा सांसद स्मृति ईरानी के करीबी और बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र प्रताप सिंह हत्याकांड पर यूपी के डीजीपी ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि दो अभी भी फरार हैं जो कि जल्द ही हमारी गिरफ्त में होंगे। डीजीपी ने कहा कि यह पूरी तरह स्पष्ट है कि मृतक व आरोपियों के बीच राजनीतिक रंजिश थी। इसीलिए घटना को अंजाम दिया गया।गिरफ्तार आरोपी नसीम (झोलाछाप डॉक्टर), धर्मनाथ गुप्ता (पूर्व प्रत्याशी ग्राम प्रधान बरौलिया) और रामचंद्र (वर्तमान में बीडीसी) हैं। वारदात में आरोपी वसीम और गोलू की गिरफ्तारी के लिए 10 लोगों को हिरासत में लेकर दबिश दी जा रही है।गौरतलब है कि सुरेंद्र प्रताप सिंह की शनिवार रात पांच बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। सूचना मिलते ही रविवार को स्मृति बरौलिया पहुंचीं, परिवार को सांत्वना दी और सुरेंद्र की अर्थी को कंधा दिया। सुरेंद्र के बड़े भाई ने पांच आरोपियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है।सुरेंद्र के बेटे अभय और पत्नी रुक्मणी सिंह का आरोप है कि हत्या के पीछे सियासी रंजिश है। अभय ने बताया कि स्मृति की जीत के बाद क्षेत्र में विजय यात्रा निकाली गई थी। लगता है कि कांग्रेस समर्थकों ने इसी कारण हत्या को अंजाम दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओम प्रकाश सिंह को वारदात का खुलासा करने के निर्देश दिए थे।सुरेंद्र बरौलिया गांव के बाहर कमालपुर में रहते थे। शनिवार रात वह एक शादी समारोह में गए थे। रात करीब 11 बजे लौटे और बरामदे में सोए हुए थे। इसी बीच दो बाइक से पहुंचे पांच बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोलियों की तड़तडाहट सुनकर परिवार के लोग बाहर निकले तो सुरेंद्र खून से लथपथ मिले। परिजन उन्हें पहले पीएचसी जायस फिर जिला अस्पताल रायबरेली ले गए। वहां से उन्हें ट्रॉमा सेंटर लखनऊ ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण सिर में लगी गोली को बताया गया है।भाजपा जिलाध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी ने पूर्व प्रधान सुरेंद्र की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है। दुर्गेश ने कहा कि सुरेंद्र के निधन से पार्टी ने एक ऊर्जावान व जुझारू कार्यकर्ता खो दिया है। जिलाध्यक्ष ने सुरेंद्र की तेरहवीं तक पार्टी के सभी कार्यक्रम व उत्सव को स्थगित करने की बात कही है।

डीजीपी बोले, राजनीतिक रंजिश में हुई वारदात, फरार आरोपियों को जल्द पकड़ेंगे

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में चार और नगर अभियंता सड़क निर्माण घपले में फंसे

» राजधानी में किशोरी के साथ दुष्‍कर्म, पीडि़ता ने खाया जहर

» मौलाना यासूब अब्‍बास ने मांगा शियाओं के लिए आरक्षण से लेकर हज सब्सिडी

» प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रदेश की योगी सरकार को किसान विरोधी करार दिया

» प्रदर्शन करने वाले कांग्रेसियों पर मुकदमा, 20 से 25 कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR

 

नवीन समाचार व लेख

» हरिद्वार -फिर एक पत्रकार की मौत हत्या या आत्महत्या में उलझा मामला

» बांदा-मसीहा बने दलपत सिंह

» अलीगढ़,युवाओं ने करे हस्ताक्षर अतरौली विकास के लिए अतरौली नगर में चला हस्ताक्षर अभियान।।

» अलीगढ़,अमुवि में देश विरोधी गतिविधियों पर हो कार्यवाही ( विशाल देशभक्त)

» अतर्रा -ठण्ड लगने से बृद्ध की मौत