यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने लोअर सबार्डिनेट परीक्षा की निरस्त


🗒 शुक्रवार, मई 31 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने 700 पदों के लिए 15 जुलाई, 2018 को हुई लोअर सबार्डिनेट परीक्षा निरस्त कर दी है। एसटीएफ ने परीक्षा में पेपर लीक होने का राजफाश किया था। आयोग ने एसटीएफ की जांच रिपोर्ट व विधिक परामर्श के आधार पर इसकी लिखित परीक्षा निरस्त कर दी है। अब नए सिरे से लिखित परीक्षा कराई जाएगी।दरअसल, वर्ष 2016 में सपा सरकार ने 700 पदों के लिए सम्मिलित अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा के विज्ञापन निकाले थे। इसमें करीब 67500 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे। इसकी लिखित परीक्षा 15 जुलाई, 2018 को लखनऊ व कानपुर में कराई गई थी। इसमें करीब 31 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा के बाद अभ्यर्थियों ने पेपर लीक होने की शिकायत की थी। आयोग ने इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी थी। एसटीएफ ने जांच कर चार अप्रैल, 2019 को अपनी रिपोर्ट आयोग को सौंप दी थी।आयोग सचिव आशुतोष मोहन अग्निहोत्री ने बताया कि चयन आयोग ने लिखित परीक्षा निरस्त करने का निर्णय लिया है। अब नए सिरे से परीक्षा कराई जाएगी। इसकी सूचना वेबसाइट पर प्रकाशित की जाएगी।

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने लोअर सबार्डिनेट परीक्षा की निरस्त

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» केजीएमयू के आइसीयू में फैल रहा फंगस, दवाएं बेअसर-प्रसूता व पुरुष की मौत

» राजधानी में शौहर को लेकर परेशान दो पत्नियां पांच बच्चों के साथ परिवार परामर्श केंद्र पहुंची

» योगी सरकार का बड़ा फैसला, अयोध्या में लगेगी मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा

» अखिलेश यादव की जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा वापस लेगी केंद्र सरकार

» विधानसभा में पेश किया वित्तीय वर्ष 2019-2020 का पहला अनुपूरक बजट

 

नवीन समाचार व लेख

» गोरखपुर मे गेंद खोजने बाउंड्री पर चढ़ा छात्र तो उद्योगपति के बाडीगार्ड ने मार दी गोली

» सिख दंगा मामले में दोषी ठहराए गए 33 लोगों को मिली SC से जमानत

» कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्‍नोई के आवासों पर छापे

» मेरठ मे कप्तान बंगले के पास चौकी के सामने बाइक सवार हमलावरों ने युवती के सिर मेंं सटाकर मारी गोली

» जनपद कौशांबी में बालू के अवैध खनन की जांच को फिर पहुंची सीबीआइ