यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ पुलिस अब शहर और गैर जनपद में हुए हादसों के लिए आपादा प्रबंधन का काम करेगीतैयार हो रहा है रोड मैप


🗒 शनिवार, जून 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

शहर के अलावा गैर जनपदों में हुई आपदा, दुर्घटना में घायलों और उनके परिवारीजनों को दिक्कत न हो इसलिए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बृहद और मिनी आकस्मिक ट्रॉमा सेंटर स्कीम के तहत प्लान बनाया है। प्लान का नाम ऑपरेशन ट्रॉमा-1 दिया गया है। कोई बड़ी घटना होते ही कंट्रोल रूम अथवा किसी वरिष्ठ अधिकारी द्वारा ऑपरेशन ट्रॉमा-1 लागू होने की सूचना मिलते ही संबंधित पुलिसकर्मी तत्काल अपने ड्यूटी स्थल पर पहुंच जाएगा। 

लखनऊ पुलिस अब शहर और गैर जनपद में हुए हादसों के लिए आपादा प्रबंधन का काम करेगीतैयार हो रहा है रोड मैप

ट्रॉमा सेंटर प्रवेश द्वार : इंस्पेक्टर ताल कटोरा, चौक इंचार्ज चरक चौराहा, छह सिपाही, पीएसी और फायर टेंडर रहेगा। यह लोग पीड़ित और उनके परिवारीजनों को वाहनों की पार्किग व्यवस्था को सुनिश्चित कराएंगे

ट्रॉमा निकास द्वार : चौक इंचार्ज बारूदखाना दो सिपाहियों के साथ रहेंगे। यह लोग ट्रॉमा से बाहर जाने वाले वाहनों को सुगमता से निकलवाएंगे

यातायात व्यवस्था : चौकी इंचार्ज आगामीर ड्योढ़ी, दो सिपाही, मेडिकल कॉलेज चौराहे से कन्वेंशन सेंटर तक यातायात व्यवस्था दुरुस्त कराएंगे 

ट्रॉमा सेंटर पोर्टिको : सीओ और इंस्पेक्टर कैसरबाग, इंस्पेक्टर नाका, पांच दारोगा, आठ दारोगा, डेढ़ सेक्सन पीएसी रहेगी। यह लोग मुख्य प्रवेश द्वार से निर्धारित व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति देंगे। पोर्टिको में भीड़ नहीं लगने देंगे। मीडिया को ब्रीफ करेंगे, इसके अलावा एंबुलेंस को ट्रॉमा सेंटर मुख्य द्वार तक पहुंचाएंगे 

ट्रॉमा सेंटर ग्राउंड फ्लोर : सीओ, इंस्पेक्टर बाजारखाला, इंस्पेक्टर अमीनाबाद, नौ दारोगा, 27 सिपाही, फील्ड यूनिट, इनका काम लॉबी में फालतू खड़े लोगों को बाहर निकालेंगे पीड़ितों के परिवारीजनों से वार्ता कर उन्हें सांत्वना देंगे। दो सिपाही लिफ्ट पर रहेंगे। फील्ड यूनिट के लोग घायलों की फोटोग्राफी करेंगे

इमरजेंसी कक्ष, वार्ड : सीओ-इंस्पेक्टर चौक, एक दारोगा और सिपाही तैनात रहेंगे। इनका काम चिकित्सकों से संपर्क बनाए रखना। परिवारीजनों को समझाकर घायलों की स्थिति के बारे में बताना। अथवा किसी की मृत्यु होने पर शव को पोस्टमॉर्टम हाउस भेजना और घायलों की मेडिकल संबंधित रिपोर्ट लेना

पोस्टमॉर्टम हाउस : सीओ, इंस्पेक्टर चौक, इंस्पेक्टर ठाकुरगंज, नौ दारोगा, 25 सिपाही, डेढ़ सेक्शन पीएसी, फायर टेंडर। इनकी जिम्मेदारी पंचायतनामा, पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई कराना। उच्चाधिकारियों को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की जानकारी देना। शव को उनके घर तक भेजने की व्यवस्था कराने एवं संबंधित जनपद को सूचना देना।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अब दो गुना होगा हाउस टैक्स, नगर निगम ने तय कीं गृह कर की नई दरें

» अब यू-ट्यूब पर व‍िवाद‍ित गाना अपलोड, गायक समेत चार ह‍िरासत में

» राजधानी मे नशा देकर कराता था देह व्यापार, अपने शरीर पर लगाता था क‍िशोर‍ियों का खून

» BJP के 30 हजार विस्तारक सदस्यता अभियान को देंगे गति, कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा ने की समीक्षा

» रद हो आजम खां की लोकसभा सदस्यता जया प्रदा के साथ भाजपा सांसद रमा देवी की मांग

 

नवीन समाचार व लेख

» कुलदीप बिश्‍नोई पर आयकर विभाग की घेरा कसा, बेटे भव्‍य को साथ ले गई जांच टीम

» उन्नाव मे बाइक से गिरे छात्र को रोडवेज बस ने रौंदा, भीड़ ने बस में तोडफ़ोड़ कर लगाया जाम

» इटावा मे चालक को पहले जमकर पीटा, फिर बेहोश कर ट्रक लूट ले गए हाईवे के लुटेरे

» कन्नोज मे रेलिंग तोड़कर रजबहा में पलटी रोडवेज बस, 30 यात्री घायल

» कन्नोज मे बारिश में ढही कच्ची दीवार, मलबा में दबकर बच्चे की गई जान