यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ पुलिस अब शहर और गैर जनपद में हुए हादसों के लिए आपादा प्रबंधन का काम करेगीतैयार हो रहा है रोड मैप


🗒 शनिवार, जून 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

शहर के अलावा गैर जनपदों में हुई आपदा, दुर्घटना में घायलों और उनके परिवारीजनों को दिक्कत न हो इसलिए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बृहद और मिनी आकस्मिक ट्रॉमा सेंटर स्कीम के तहत प्लान बनाया है। प्लान का नाम ऑपरेशन ट्रॉमा-1 दिया गया है। कोई बड़ी घटना होते ही कंट्रोल रूम अथवा किसी वरिष्ठ अधिकारी द्वारा ऑपरेशन ट्रॉमा-1 लागू होने की सूचना मिलते ही संबंधित पुलिसकर्मी तत्काल अपने ड्यूटी स्थल पर पहुंच जाएगा। 

लखनऊ पुलिस अब शहर और गैर जनपद में हुए हादसों के लिए आपादा प्रबंधन का काम करेगीतैयार हो रहा है रोड मैप

ट्रॉमा सेंटर प्रवेश द्वार : इंस्पेक्टर ताल कटोरा, चौक इंचार्ज चरक चौराहा, छह सिपाही, पीएसी और फायर टेंडर रहेगा। यह लोग पीड़ित और उनके परिवारीजनों को वाहनों की पार्किग व्यवस्था को सुनिश्चित कराएंगे

ट्रॉमा निकास द्वार : चौक इंचार्ज बारूदखाना दो सिपाहियों के साथ रहेंगे। यह लोग ट्रॉमा से बाहर जाने वाले वाहनों को सुगमता से निकलवाएंगे

यातायात व्यवस्था : चौकी इंचार्ज आगामीर ड्योढ़ी, दो सिपाही, मेडिकल कॉलेज चौराहे से कन्वेंशन सेंटर तक यातायात व्यवस्था दुरुस्त कराएंगे 

ट्रॉमा सेंटर पोर्टिको : सीओ और इंस्पेक्टर कैसरबाग, इंस्पेक्टर नाका, पांच दारोगा, आठ दारोगा, डेढ़ सेक्सन पीएसी रहेगी। यह लोग मुख्य प्रवेश द्वार से निर्धारित व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति देंगे। पोर्टिको में भीड़ नहीं लगने देंगे। मीडिया को ब्रीफ करेंगे, इसके अलावा एंबुलेंस को ट्रॉमा सेंटर मुख्य द्वार तक पहुंचाएंगे 

ट्रॉमा सेंटर ग्राउंड फ्लोर : सीओ, इंस्पेक्टर बाजारखाला, इंस्पेक्टर अमीनाबाद, नौ दारोगा, 27 सिपाही, फील्ड यूनिट, इनका काम लॉबी में फालतू खड़े लोगों को बाहर निकालेंगे पीड़ितों के परिवारीजनों से वार्ता कर उन्हें सांत्वना देंगे। दो सिपाही लिफ्ट पर रहेंगे। फील्ड यूनिट के लोग घायलों की फोटोग्राफी करेंगे

इमरजेंसी कक्ष, वार्ड : सीओ-इंस्पेक्टर चौक, एक दारोगा और सिपाही तैनात रहेंगे। इनका काम चिकित्सकों से संपर्क बनाए रखना। परिवारीजनों को समझाकर घायलों की स्थिति के बारे में बताना। अथवा किसी की मृत्यु होने पर शव को पोस्टमॉर्टम हाउस भेजना और घायलों की मेडिकल संबंधित रिपोर्ट लेना

पोस्टमॉर्टम हाउस : सीओ, इंस्पेक्टर चौक, इंस्पेक्टर ठाकुरगंज, नौ दारोगा, 25 सिपाही, डेढ़ सेक्शन पीएसी, फायर टेंडर। इनकी जिम्मेदारी पंचायतनामा, पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई कराना। उच्चाधिकारियों को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की जानकारी देना। शव को उनके घर तक भेजने की व्यवस्था कराने एवं संबंधित जनपद को सूचना देना।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» प्रदेश की योगी सरकार को भूमाफिया दिखा रहे हैं ठेंगा

» आशियाना थाना क्षेत्र अंतर्गत टप्पेबाज सवारी बन बैटरी रिक्शा ले उड़े

» कृष्णा नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत शेड़ी युवक ने पड़ोसी महिला संग दिनदहाड़े किया बलात्कार का प्रयास

» लखनऊ के 1090 चौराहे पर चल रहा था मौत का खेल, Police को देख भागने लगे स्टंटबाज

» राजधानी लखनऊ मे नौकरी का झांसा देकर किया दुष्कर्म दो महीने पहले हुई थी Facebook दोस्ती

 

नवीन समाचार व लेख

» सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या समेत लंबित हैं कई बड़े धार्मिक व राजनीतिक मामले

» मेरठ मे दुल्हन भी होगी और रिश्तेदार भी लेकिन सब फर्जी शादी के अगले ही दिन नगदी लेकर फरार

» बाराबंकी में बंकी रेल ट्रैक के पास एक महिला का संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिला

» मथुरा में पुलिस प्रशासन द्वारा शहर की व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण,

» मथुरा के गोवर्धन में शोभायात्रा के बीच मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्न - आन्यौर के गोविंद कुंड पर धार्मिक आयोजन