यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ के भ्रष्टाचार निवारण संगठन के स्टेनो पर मेडल पाने के लिए लगे गंभीर आरोप


🗒 शनिवार, जून 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

भ्रष्टाचार निवारण संगठन उत्तर प्रदेश कार्यालय में लंबे समय से तैनात स्टेनो महेंद्र कुमार वर्मा पर स्थानांतरण निरस्त कराने के लिए खुद को अस्वस्थ और राष्ट्रपति पदक पाने लिए स्वस्थ बताने के गंभीर आरोप हैं। उन्होंने संगठन के मुखिया पुलिस महानिदेशक तक को गुमराह किया। दो अलग-अलग मेडिकल प्रमाणपत्र प्रस्तुत किए। एक में खुद को किडनी जैसी गंभीर बीमारी से ग्रसित बताकर प्रतिष्ठित निजी अस्पताल में इलाज चलने की जानकारी दी। दूसरे में बकायदा बलरामपुर अस्पताल का मेडिकल प्रमाणपत्र लगाकर पूर्ण रूप से स्वस्थ होने का दावा किया। मामला संज्ञान में आने पर पूरे मामले की सात महीने से अधिक समय से जांच चल रही है। 

लखनऊ के भ्रष्टाचार निवारण संगठन के स्टेनो पर मेडल पाने के लिए लगे गंभीर आरोप

संगठन के ही निरीक्षक सुंदर सिंह सोलंकी ने शिकायत में कहा कि स्टेनो महेंद्र कुमार वर्मा, गोपनीय सहायक के रूप में पुलिस महानिदेशक भ्रष्टाचार निवारण संगठन कार्यालय में लंबे समय से तैनात हैं। पुलिस मुख्यालय इलाहाबाद से 15 अगस्त 2018 के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक व अन्य पदकों के लिए सूचना मांगी गई थी।महेंद्र कुमार वर्मा ने अपने तबादले पर प्रधान लिपिक सुरेश चंद्र मिश्र से साठगांठ की। डीओ में यह बताया कि महेंद्र कुमार वर्मा किडनी रोग से पीड़ित हैं और उनका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है, जिसके चलते वह स्थानांतरण पर कहीं और नहीं जाना चाहते। बताया गया कि सेवानिवृत्ति में भी 27 महीने शेष हैं। वहीं राष्ट्रपति पदक के लिए आवेदन करके बलरामपुर अस्पताल के मेडिकल प्रमाणपत्र में खुद को स्वस्थ बताया।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अब सरयू कहलाएगी घाघरा नदी, यूपी कैबिनेट की मुहर के बाद अब योगी सरकार केंद्र को भेजेगी प्रस्ताव

» लखनऊ के 40 थानों में लागू होगा कमिश्नरी सिस्टम, राजधानी को मिले दो नए थाने

» लखनऊ नगर निगम में फर्जी रेट लिस्ट से हो रही थी पुर्जों की खरीद एजेंसियों से वसूली का नोटिस

» सुजीत पाण्डेय लखनऊ और आलोक सिंह गौतमबुद्धनगर के बने पहले पुलिस कमिश्नर

» UP में कमिश्नर प्रणाली लागू होते ही बढ़ा पुलिस के अधिकारों का दायरा

 

नवीन समाचार व लेख

» लखीमपुरखीरी-प्राइवेट कर्मचारी मौजी लाल सीएचसी में कर रहा मनमानी।

» लखीमपुर खीरी -लापरवाही के चलते मौत को दावत देते है जिम्मेदार कर्मचारी

» सत्ता पाने के लिए कांग्रेस गांधी जी, मनमोहन और प्रणव से भी अलग होने को तैयार

» अब सरयू कहलाएगी घाघरा नदी, यूपी कैबिनेट की मुहर के बाद अब योगी सरकार केंद्र को भेजेगी प्रस्ताव

» फर्रुखाबाद के नर्सिंगहोम में कुत्ते ने नवजात बच्चे की आंख नोची, दर्दनाक मौत