यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जल निगम विभाग की घोर लापरवाही सड़कों पर बह रहा पेयजल


🗒 बुधवार, जून 05 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मोहनलालगंज  लखनऊ
 पेयजल को लेकर जगह जगह मच रही त्राहि त्राहि के बीच जलनिगम कर्मचारियों की घोर लापरवाही से मऊ ग्राम पंचायत में लगे पेयजलो के नलो में टोटियां न लगी होने के कारण दिन भर काफी मात्रा में पानी सड़को पर बहकर बर्बाद हो रहा है 
लेकिन जिम्मेदारो के ऊपर इस बात का कोई फर्क नही पड़ रहा है जबकि तहसील मोहन लाल गंज से मऊ की दूरी महज 1 किलोमीटर है ऐसा भी नही है कि जिम्मेदार उधर से गुजरते नही ग्रामीणों ने जलनिगम के सम्बंधित जिम्मेदारो से रोज हजारो लीटर पानी सड़को पर बहने की शिकायत भी की लेकिन जलनिगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को नलो में टोटियां लगवाने की फुरसत अब तक नही मिल पाई है  और रोज हजारो लीटर पानी का दोहन है जिससे ग्रामीणों में जिम्मेदारो कई इस घोर लापरवाही को लेकर खासा रोष पनप रहा है जबकि मऊ गांव से कुछ दूरी पर प्रशासनिक जिम्मेदार अधिकारी तहसील में विराजमान रहते है शायद जलनिगम के जिम्मेदारो को उनका भी किसी प्रकार का खौफ नही है इसी का कारण है कि नलो में टोटियां तक लगाने की जहमत जिम्मेदार नही उठाते है ।
 
राजेश मिश्रा मोहनलालगंज

जल निगम विभाग की घोर लापरवाही सड़कों पर बह रहा पेयजल

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» ग्राम पंचायतों की ग्राम समाज की जमीन से अवैध कब्जेदारी हटाने में नाकाम तहसील प्रसाशन

» चकबंदी भर्ती घोटाले के आरोपित सुरेश सिंह की रिमांड मंजूर

» आरोपित अनुभव मित्तल को VIP ट्रीटमेंट, छह सिपाही निलंबित

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- तय समय में शुरू हों नए मेडिकल कॉलेज

» राजधानी के पॉश इलाके में नौ ताले तोड़ हाई कोर्ट के जज के घर में घुसे चोर, रुपये-पैसे छोड़ उड़ा ले गए ये सब

 

नवीन समाचार व लेख

» ग्राम पंचायतों की ग्राम समाज की जमीन से अवैध कब्जेदारी हटाने में नाकाम तहसील प्रसाशन

» विश्व पर्यावरण दिसव के उपलक्ष्य में विद्यालय में किया वृक्षारोपण

» चौमुहां में युवक की हत्या कर घर के सामने फेंका शव

» विश्व पर्यावरण दिवस पर ऑटो (टैम्पू) की धुआं की जांच के साथ निशुल्क बांटे गए प्रमाण पत्र

» विश्व पर्यावरण दिवस पर पशु पक्षियों के लिए दाना पानी के साथ तुलसी जी के पौधे भेंट किये