यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

शिवपाल व अखिलेश मुलायम के आवास पर मिले पर कम नहीं हो रही रिश्तों की खटास


🗒 मंगलवार, जून 11 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

समाजवादी पार्टी के संरक्षक तथा देश के पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव के आवास पर कल सीएम योगी आदित्यनाथ के आगमन के दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव भी पधारे। इस चाचा व भतीजे (शिवपाल व अखिलेश) के बीच आयी रिश्तों की खटास कम होने की उम्मीद जगी जरूर परंतु ऐसा नहीं हो सका। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव व अखिलेश यादव इस दौरान आमने-सामने बैठे जरूर, लेकिन इनके बीच बात नहीं हुई।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल दिन में मुलायम सिंह के स्वास्थ्य का हाल लेने के उनके आठ- विक्रमादित्य मार्ग स्थित आवास पर पहुंचे। करीब 15 मिनट वहां रहें। इस मौके पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनके चाचा व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव भी मौजूद थे। दोनों के बीच कोई संवाद नहीं हो सका। मुख्यमंत्री के लौटते ही शिवपाल यादव ने अपने आवास पर आकर अपनी पार्टी के मंडल प्रभारियों के साथ चुनावी समीक्षा बैठक की। शिवपाल यादव ने कार्यकर्ताओं को वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव अकेले लडऩे की जोरदार तैयारी करने का निर्देश दिया।

शिवपाल व अखिलेश मुलायम के आवास पर मिले पर कम नहीं हो रही रिश्तों की खटास

अखिलेश यादव ने इस मुलाकात के बाद ट्वीट करते हुए कहा कि नेता जी के स्वास्थ्य का हाल जानने आए माननीय योगी जी से सद्भावपूर्ण भेंट।' अखिलेश ने मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात की कुछ फोटो भी शेयर किए परंतु उनमें से किसी में शिवपाल नहीं दिखे। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे कई फोटो में योगी आदित्यनाथ के साथ यादव परिवार के सदस्य एक साथ दिख रहे है।सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव बेटे अखिलेश और भाई शिवपाल के बीच सुलह कराने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। दोनों के बीच मतभेद दूर करने के लिए पिछले दिनों मुलायम ने अखिलेश और शिवपाल से अलग-अलग मुलाकात की थी। मुलायम सिंह ने दोनों नेताओं से आपसी मतभेद को भुलाकर एक होने की बात कही थी। हाल ही की बात करें तो लोकसभा चुनाव के पहले से शिवपाल और अखिलेश को एक साथ नहीं देखा गया। मुलायम सिंह की तबीयत खराब है तो सोमवार को दोनों नेताओं को मुलायम के आवास पर एक साथ देखा गया। सीएम योगी के जाने के बाद मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल और अखिलेश यादव से बंद कमरे में करीब आधे घंटे बात की।लोकसभा चुनाव के बाद से मुलायम सिंह यादव लगातार अपने कुनबे को एक करने की कोशिश कर रहे हैं। अखिलेश और शिवपाल के बीच रिश्ते सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं, क्योंकि दोनों नेता एक दूसरे पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं। मुलायम सिंह लगातार शिवपाल यादव की सपा में वापसी की पैरवी कर रहे हैं, लेकिन शिवपाल को लेकर अखिलेश यादव असमंजस में है कि उन पर भरोसा करें कि नहीं। अखिलेश यादव चाहते हैं कि शिवपाल उनके नेतृत्व को स्वीकार करें, इसके बाद ही वापसी हो सकती है। शिवपाल मानते हैं कि कल वो अकेले थे आज नहीं। इस तरह से बहुत देर हो चुकी है वह बहुत आगे निकल आए हैं। शिवपाल यादव अपनी 'प्रगतिशील समाजवादी पार्टी' का सपा में विलय से इनकार कर चुके हैं।ऐसे में माना जा रहा है कि अभी भी सुधार की गुंजाइश छोड़ रखी गई है। उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद परिवार में एकजुटता के लिए मुलायम सिंह यादव लगातार कोशिश कर रहे है परंतु फिलवक्त बात बनती नही दिख रहीं। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी से विधायक रवींद्र जायसवाल बने मंत्री, अनिल राजभर और नीलकंठ तिवारी का प्रमोशन

» योगी सरकार में आगरा के दो विधायकों ने ली राज्‍यमंत्री की शपथ

» लखनऊ के आलमबाग थाना क्षेत्र मे बेटी ने मां को कराया आजाद, तीन दिन तक बंधक बनाकर बहू और बेटे ने दी ऐसी यातनाएं

» योगी के मंत्रिमंडल विस्तार के जरिये जातीय और क्षेत्रीय समीकरण साधने की कोशिश

» राजधानी मे तीन घंटे तक पत्‍नी को लिए भटकता रहा पति, नहीं मिला वेंटिलेटर-मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» हाथरस मे ट्रक की टक्कर से दो बाइक सवारों की मौत

» महिला मित्र से मिलने आए तीन बच्‍चों के बाप का शव उसी के घर पर फंदे पर लटका मिला

» जिला जौनपुर में छप्पर पर अनियंत्रित ट्रक पलटने से मासूम की मौत, मां-बेटी गंभीर रूप से घायल

» वाराणसी से विधायक रवींद्र जायसवाल बने मंत्री, अनिल राजभर और नीलकंठ तिवारी का प्रमोशन

» योगी सरकार में आगरा के दो विधायकों ने ली राज्‍यमंत्री की शपथ