यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UP के खनन घोटाले में प्रजापति और चार आइएएस के खिलाफ केस


🗒 गुरुवार, जुलाई 11 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

भ्रष्टाचार तथा घोटालों के खिलाफ मुहिम छेडऩे वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने उत्तर प्रदेश में खनन घोटाले में शामिल रहे अफसरों पर शिकंजा कसा है। कल इन अफसरों के आवास पर सीबीआइ छापे के बाद सरकार ने सभी दागी अफसरों को हटाकर प्रतीक्षारत कर दिया है।उत्तर प्रदेश के दो और जिलों में खनन पट्टों के आवंटन में हुए घोटाले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) का शिकंजा कस गया है। सीबीआइ ने देवरिया और फतेहपुर जिले में नियमों की धज्जियां उड़ाकर किए गए आवंटन के मामलों में दो केस दर्ज करते हुए चार आइएएस अफसरों समेत दूसरे आरोपितों के 12 स्थानों पर छापे मारे। आरोपितों में प्रदेश की तत्कालीन सपा सरकार में खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति और फतेहपुर व देवरिया के तत्कालीन जिलाधिकारी और निवर्तमान में डीएम बुलंदशहर अभय कुमार सिंह, यूपी कौशल विकास निगम के एमडी विवेक और आजमगढ़ के सीडीओ डीएस उपाध्याय शामिल हैं। सीबीआइ के छापों के बाद प्रदेश सरकार ने तीनों आइएएस अधिकारियों को उनके पदों से हटाकर प्रतीक्षारत कर दिया है।सीबीआइ की पहली एफआइआर में गायत्री के साथ राज्य के तत्कालीन खनन सचिव जीवेश नंदन, खनन विभाग में ही तत्कालीन विशेष सचिव संतोष कुमार राय को आरोपित बनाया गया है। दूसरी एफआइआर के अनुसार देवरिया के जिलाधिकारी रहते हुए अभय ने दो खनन पट्टों का अवैध नवीनीकरण किया। इस मामले में देवरिया में तत्कालीन माइनिंग इंस्पेक्टर पंकज सिंह को भी आरोपी बनाया गया है।एजेंसी की कार्रवाई के दायरे में एक अन्य आइएएस अफसर और अखिलेश सरकार में खनन विभाग के सचिव रहे संतोष कुमार राय भी आए। कल सुबह ही सीबीआइ के 17 अधिकारियों की टीम बुलंदशहर के जिलाधिकारी के सरकारी आवास पर पहुंच गए। सीबीआइ ने उनके आवास पर छापा मारा। एजेंसी ने छापे में 49 लाख रुपये नकद बरामद होने का दावा किया है।विवेक के लखनऊ के सुशांत गोल्फ सिटी स्थित निजी घर की भी सीबीआइ ने तलाशी ली, जहां अंसल विला लखनऊ में दो प्लॉट और नोएडा में फ्लैट के दस्तावेज मिले हैं। आजमगढ़ के सीडीओ डीएस उपाध्याय के यहां छापे में 10 लाख रुपये नकद मिले। बुधवार को गायत्री प्रजापति के यहां छापा नहीं मारा गया।

UP के खनन घोटाले में प्रजापति और चार आइएएस के खिलाफ केस

मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) डीएस उपाध्याय, आजमगढ़ के पद से हटाए गए

देवरिया में तीन नवंबर 2012 से 15 अप्रैल 2013 तक एडीएम प्रशासन व खनन प्रभारी पद के दौरान नियम को ताक पर रखकर दिए पट्टे।

विवेक आइएएस यूपी कौशल विकास निगम के एमडी पद से हटाए गए

04 मार्च 2013 से 10 जून 2013 तक देवरिया के डीएम रहे हैं। अवैध तरीके से खनन पट्टा किया। हाईकोर्ट के आदेश की सीधी अवेहलना की।

गायत्री प्रजापति पूर्व मंत्री : दुष्कर्म और धमकाने के मामले में जेल में बंद

अखिलेश सरकार में वर्ष 2013 से 2016 के बीच खनन मंत्री रहते हुए गायत्री प्रजापति ने हमीरपुर में अपने चहेतों को पट्टे दिलाए।

जे. नंदन आइएएस, घोटाले के समय खनन विभाग के सचिव

सीबीआइ ने मामला दर्ज करके पूछताछ कर चुकी है। वरिष्ठ आइएएस अधिकारी के ठिकानों पर छापे नहीं पड़े हैं।

अभय सिंह, जिलाधिकारी बुलंदशहर के पद से हटाए गए

साल 2012 में फतेहपुर के डीएम रहते हुए अवैध खनन कराने और नियमों को ताक पर रखकर पांच पट्टों का आवंटन किया।

चरम पर रहा भ्रष्टाचार

14 खनन पट्टे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने खुद खनन विभाग के प्रभारी मंत्री के रूप में आवंटित किए थे।

13 पट्टे एक ही दिन में आवंटित कर दिए गए थे। वहीं गायत्री ने आठ पट्टों के आवंटन को स्वीकृति दी थी।

14 मार्च 2017 को गायत्री प्रजापति को दुष्कर्म के एक मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» पारा के कनक सिटी में जब अवैध संबंध में रोड़ा बनने लगा किराएदार, मकान मालिक ने कर दी हत्या

» लविवि में बोले उपमुख्यमंत्री मूलभूत सुविधाओं तक हर व्यक्ति की पहुंच जरूरी

» राजधानी मे फैक्‍ट्री खोलने के नाम पर पिता-पुत्र ने ठगा, बैंक को लगाया ढाई करोड़ का चूना

» उत्तर प्रदेश कांग्रेस की नई टीम प्रियंका वाड्रा के फॉर्मूले पर ही बनेगी

» उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने शिया और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की संपत्तियों में गड़बड़ियों की सीबीआइ जांच की सिफारिश

 

नवीन समाचार व लेख

» पारा के कनक सिटी में जब अवैध संबंध में रोड़ा बनने लगा किराएदार, मकान मालिक ने कर दी हत्या

» बाबरी मस्जिद के पक्षकार के आवास पर बैठक मुस्लिमों ने कहा सुप्रीमकोर्ट का फैसला हमें मान्य

» लविवि में बोले उपमुख्यमंत्री मूलभूत सुविधाओं तक हर व्यक्ति की पहुंच जरूरी

» अयोध्या मामले में इस हफ्ते बंद हो जाएंगे दलीलों के दरवाजे, दिवाली के बाद आएगा फैसला

» नर्वल में दोहरा हत्याकांड में आरोपित पति को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेजा