UPPSC के भ्रष्ट अधिकारी सरकार के निशाने पर

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UPPSC के भ्रष्ट अधिकारी सरकार के निशाने पर


🗒 रविवार, जुलाई 14 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उप्र लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। भ्रष्टाचारी अधिकारी व कर्मचारी सरकार के निशाने पर हैं। पीसीएस-जे 2018 के अभ्यर्थियों से अपने लखनऊ स्थित आवास में शनिवार की मुलाकात करते हुए योगी ने कहा कि आयोग में हुए भ्रष्टाचार की जांच एसटीएफ कर रही है। एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती पेपर लीक मामले में अभियुक्त कौशिक कुमार कर व उसके प्रिंटिंग प्रेस के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।योगी ने बताया कि सरकार ने आयोग को एलटी ग्रेड परीक्षा परिणाम जारी करने से मना किया था। लेकिन आयोग स्वायत्तशासी संस्था है इसलिए उसने परिणाम जारी कर दिया। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे अभ्यर्थी आशीष पटेल ने बताया कि योगी से पीसीएस-जे 2018 की परीक्षा में धांधली होने की शिकायत करके उन्हें उससे जुड़े कुछ प्रमाण दिखाया गया।इस पर योगी ने कहा कि प्रतियोगी छात्रों के साथ न्याय होगा। भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सरकार ने डॉ. प्रभात कुमार जैसे ईमानदार व सख्त अधिकारी को आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। जल्द ही भ्रष्टाचार के विरुद्ध बड़े स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए आयोग में मौजूद अधिकारियों व कर्मचारियों की संपत्ति का ब्योरा एकत्र कराया जा रहा है। कहा कि पीसीएस-जे मामले में वह आयोग के अध्यक्ष से बात करके उचित कार्रवाई को कहेंगे। अभ्यर्थियों से उन्होंने आयोग अध्यक्ष से मिलने को कहा है। प्रतिनिधिमंडल में केपी सिंह, जितेंद्र मिश्र, मनोज, अनुपम सिंह, वीरेंद्र प्रताप सिंह शामिल रहे।

UPPSC के भ्रष्ट अधिकारी सरकार के निशाने पर

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» राजधानी मे मोबाइल पर युवती ने कहा कुछ ऐसा, गोमती में कूद गया छात्र

» लखनऊ में बिजली गिरने से सआदतगंज की जामा मस्जिद की गुम्बद क्षतिग्रस्त

» योगी टीम में 18 नए चेहरे, मंत्रिमंडल के पहले विस्तार में 23 ने ली शपथ

» तहसील मोहनलालगंज क्षेत्र के अंतर्गत पीड़ित सपरिवार समेत आत्म हत्या करने पर मजबूर

» जन्माष्टमी की तैयारियां निगोहा थाना पर शुरू

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर पुलिस के हत्थे चढ़े पांच एटीएम हैकर

» कानपुर मे पत्नी के नाम से बीमा कंपनी में 21.50 लाख रुपये का बीमा मौत बताकर क्लेम दाखिल

» कानपुर मे पति ने मोबाइल फोन नहीं दिलाया तो पत्नी ने दांव लगा दी जिंदगी

» अलीगढ मे बड़े भाई ने नहीं दिया मोबाइल तो टंकी से कूद गया छोटा भाई

» प्रतापगढ़ के अंतू थाना क्षेत्र मे आकाश से गिरी बिजली, किसान समेत आधा दर्जन मवेशियों की मौत