यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मोहनलालगंज क्षेत्र में खराब पड़ी मर्करी ग्रामीणों में आक्रोश शासन प्रशासन सुस्त


🗒 सोमवार, अगस्त 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मोहनलालगंज तहसील में कई मोहल्लों वह गांव में पथ प्रकाश की व्यवस्था तो की गई है लेकिन अधिकांश स्ट्रीट लाइट खराब पड़ी हैं अगर कुछ ठीक भी हैं तो उनका कवर टूटा है कई जगह तो स्विच ही खराब पड़े हैं इससे लाइट दिन में भी जलती है मोहनलालगंज में तहसील परिसर की चन्द कदम की दूरी पर लम्बे समय से खराब पड़ी स्ट्रीट लाइट जो रात में जलते ही नहीं हैं यही हाल अन्य कई जगहों का है अन्य मोहल्ले में करीब कई स्थानों पर स्ट्रीट लाइट खराब हैं इन मोहल्लों में कहीं लाइट जलती भी है तो उसका स्विच खराब है ऐसे में दिन में भी लाइट जलती रहती है पथ प्रकाश की बेहतर व्यवस्था नहीं होने से कई मोहल्ले में सड़कों पर अंधेरा रहता है मोहल्ले में दर्जन भर से अधिक घरों तक पहुंचने के लिए अंधेरे में होकर जाना पड़ता है तमाम स्थानों पर पोल ही नहीं है तो स्ट्रीट लाइट कहां से लगेगी पथ प्रकाश की व्यवस्था को लेकर प्रशासन गंभीर नहीं है खराब पड़ी स्ट्रीट लाइट को ठीक कराने में कोई रुचि नहीं ले रहा है रात के समय बिजली रहने पर भी सड़क से गुजरने पर अंधेरे में होकर जाना पड़ता है सभी स्थानों पर पथ प्रकाश की बेहतर व्यवस्था की गई है लेकिन स्ट्रीट लाइट खराब होने पर ठीक नहीं कराया जाता है लोगों को भले ही बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है स्ट्रीट लाइटें सच्चाई बया करती है हाईवे पर  लगाई गई स्ट्रीट लाइटें वर्षों से खराब पड़ी हैं जिम्मेदारों ने इस परियोजना के नाम पर पानी की तरह पैसा बहाया इसके बाद दुबारा ध्यान देना मुनासिब नहीं समझा स्थानीय नागरिकाें का कहना है कि मरकरी लाइट खराब हो जाने के बाद से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है रोड पर अंधेरे में चलने में दिक्कत होती है हर जगहों पर लगी हुई मर्करी लाइट ठीक कराई जाए जिससे मोहनलालगंज के नागरिकों को आने जाने में दिक्कतें न हो कुछ महीने जलने के बाद धीरे-धीरे खराब होने लगती है स्ट्रीट लाइट इसके चलते स्ट्रीट लाइटों का जलना बंद हो गया स्थानीय लोगोें का कहना है हाईवे को रोशन किया जाए खराब पड़ी सभी लाइटें ठीक की जाए शो पीस बनीं मोहनलालगंज की स्ट्रीट लाइटें, मुख्य मार्गो पर रहता अंधेरा रोड पर राहगीरों को रोशनी दिखाने के नाम पर हर वर्ष करोड़ों रुपये का बिजली बिल फूंक रहा है फिर भी शहर के गली-मोहल्लों और मेन रोड पर अंधेरा छाया हुआ है हर वर्ष स्ट्रीट लाइट के मेंटेनेंस पर ही लाखों रुपये खर्च करता है बावजूद इसके शहर में फिलहाल करीब 40 फीसदी से भी अधिक स्ट्रीट लाइटें बंद ही रहती हैं
 
राजेश मिश्रा मोहनलालगंज

मोहनलालगंज क्षेत्र में खराब पड़ी मर्करी ग्रामीणों में आक्रोश शासन प्रशासन सुस्त

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» दो दुस्साहसिक हत्याओं लखनऊ की सुरक्षा-व्यवस्था पर बड़े सवाल, डीजीपी ने दिये के कड़े निर्देश

» राजधानी लखनऊ में दहशत, दिनदहाड़े चीरा बीटेक के छात्र का सीना और पेट

» अखिलेश यादव ने कहा, दिन-प्रतिदिन बिगड़ रही है उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था

» लखनऊ से शमशेर ने बनवाए थे तीन प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर, ई-टिकटों से बढ़ रहा टेरर फंडिंग का कालातंत्र

» लखनऊ में हाईस्कूल छात्रा हत्याकांड मे पुलिस कर रही पिता से पूछताछ की तैयारी

 

नवीन समाचार व लेख

» महोबा -अध्यक्ष और महासचिव पद पर दो-दो प्रत्याशी होने से सीधी

» महोबा - 25 फरवरी से प्रारम्भ होगी प्रायोगिक परीक्षा

» महोबा - कृष्ण की लीलाओं के साथ ही बुंदेली राई गायन की प्रस्तुति

» महोबा - शैक्षिक महासंघ की बैठक में विभिन्न प्रस्ताव हुए पास

» महोबा - घर में घुसने का विरोध करने पर वृद्ध महिला को पीटा