यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में शराबियों की अराजकता रोकने के लिए एसएसपी ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर


🗒 बुधवार, अगस्त 14 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

खुले में शराब पीने वालों की अब खैर नहीं। शराब पीकर अगर हंगामा किया तो जेल जाना पड़ेगा। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने राजधानी के समस्त थाना क्षेत्रों में शराब के ठेकों/ मॉडल शॉप के आसपास खुले में शराब पीने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही के लिए पूर्व में ही सभी थाना प्रभारियों व प्रभारी निरीक्षक को आवश्यक दिशा निर्देश निर्गत किए गए थे कि राजधानी में शराब की दुकानों में दुकान के बाहर खड़े होकर खुले में शराब सेवन (मदिरापान) करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। थाना हुसैनगंज के चौकी हुसैनगंज क्षेत्र में महा ठंडी बीयर के सामने कुछ लोगों द्वारा खुले में बीयर पीते हुए का वीडियो व फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसको तत्काल संज्ञान में लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने उस क्षेत्र में तैनात चौकी प्रभारी अंकित कुमार वर्मा, मुख्य आरक्षी ओम प्रकाश चौधरी, आरक्षी राहुल तिवारी, आरक्षी सतीश कुमार व आरक्षी सुशील कुमार को अपने कर्तव्यों का पालन सही तरीके से न करने पर तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया गया है। साथ ही एसएसपी ने वायरल वीडियो की जांच पुलिस अधीक्षक प्रोटोकोल को दी है। एसएसपी ने थाना प्रभारी व प्रभारी निरीक्षक को भी अलर्ट किया है कि इस प्रकार की पुनरावृत्ति दोबारा न हो, वरना सख्त कार्रवाई की जाएगी।खुले में शराब पीने व पिलाने की किसी प्रकार की कोई शिकायत हो तो एंटी क्राइम हेल्पलाइन नंबर 7839861314 पर सूचना दे। सूचना देने वाले का नाम व पता गोपनीय रखा जाएगा तथा गोपनीय जांच करा कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी

लखनऊ में शराबियों की अराजकता रोकने के लिए एसएसपी ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» मुख्यमंत्री योगी ने लिया फैसला...अब UP सरकार नहीं भरेगी मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के वेतन पर आयकर

» लखनऊ KGMU में किशोरी से छेड़छाड़ करने वाला डॉक्टर निलंबित, वार्ड ब्वॉय को हटाया

» कांग्रेस की रफ्तार पर CM योगी आदित्यनाथ ने लगाया ब्रेक

» जी एस टावर बिल्डिंग में निशुल्क इंडियन लाइब्रेरी का उद्घाटन

» मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत पत्नी ने पति के ऊपर लगाया दहेज प्रताड़ना का आरोप

 

नवीन समाचार व लेख

» सरकारी खजाने से भरा जाता है CM, मंत्रियों का आयकर

» उन्नाव हिन्दुस्तान पेट्रोलियम गैस प्लांट को हटाने को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश

» जन्मस्थान को न्यायिक व्यक्ति मानने के लिए क्या जरूरी है, मुस्लिम पक्ष से सुप्रीम कोर्ट का सवाल

» UP के निवासियों को मिल रही सबसे महंगी बिजली

» मुख्यमंत्री योगी ने लिया फैसला...अब UP सरकार नहीं भरेगी मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के वेतन पर आयकर