यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर तैनात दारोगा का फंदे पर लटकता मिला शव


🗒 गुरुवार, नवंबर 07 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर तैनात एक दरोगा का शव घर में फंदे से झूलता हुआ मिला। शव रेलिंग के नीचे रस्‍सी से सहारे लटकते हुए मिला। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई और शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा गया।   जनपद देवरिया के तेलियाकलांन ग्राम बेलवा निवासी विजय कुमार यादव उम्र 30 वर्ष पुत्र पृथ्वीराज यादव सीआईएसएफ में दरोगा थे। विजय कुमार क्षेत्र के हनुमान पुरी कॉलोनी में सीआईएसएफ में ही तैनात इंस्पेक्टर रामसागर चौरासिया के घर पर किराए पर अकेले रह रहे थे। पत्नी स्मिता यादव व परिवार गांव में ही रह रही थी। गुरुवार को घर के अंदर जीने की रेलिंग से नायलॉन की रस्सी के सहारे लटक रहे विजय कुमार के शव को पड़ोसियों ने देखा तो दंग रह गए। सूचना पुलिस को दी गई पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर आवश्यक कार्रवाई की।थाना प्रभारी प्रमेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि घटना की जानकारी उनके पिता पृथ्वीराज यादव को दे दी गई। उनकी छह माह पहले ही बेटी हुई थी। आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। परिजन भी इस विषय पर कुछ ज्यादा नहीं बता सके। 

लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर तैनात दारोगा का फंदे पर लटकता मिला शव

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» महिला ने दारोगा पर पिटाई का लगाया आरोप

» पुलिस दम्पति ने मज़दूरों और जरूरतमंदों को बाँटा भोजन और फल

» यूपी में प्रधानमंत्री के विशेष राहत पैकेज से बनेंगे प्रवासी श्रमिकों व कामगारों के घर

» लखनऊ मे मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने का झांसा देकर 41 लाख हड़पे, FIR दर्ज

» लखनऊ मे मासूम बच्‍चों को बंधक बनाकर लूट करने वाला मुठभेड़ में गिरफ्तार, पैर में लगी गोली

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ़,पूसा द्वारा अनुसूचित जाति के किसानों को वितरित किया गया उन्नत फसलों का बीज

» अलीगढ़ जनपद के लिए आयी दुःखद खबर- 11पॉजिटिव की रिपोर्ट

» समाज सेबी कर्मवीर योद्धाओं व पत्रकारों का सम्मान समारोह ।

» कानपुर नगर मे कोरोना मरीजों की संख्या दिनोदिन बढ़ती जा रही संख्या पहुँची 330 नही थम रहा कोरोना कहर ।

» मौदहा-अवैध संबंध में पति ने पत्नी के प्रेमी को गला घोट कर उतारा मौत के घाट