यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राजधानी में लग्‍जरी कारों के चोरी के मामला में एक और अरेस्ट, बरामद तीन कारें


🗒 शुक्रवार, नवंबर 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राजधानी पुलिस ने शुक्रवार को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बादशाहनगर मेट्रो स्टेशन के पास कनक कार बाजार से चोरी हुई तीन और लग्‍जरी कार समेत एक अन्य आरोपित ठाकुरगंज निवासी मोहम्मद फैज गिरफ्तार कर लिया गया है। बरामद गाड़ियों में दो इनोवा और एक आइ20 हैं। अब तक आठ गाडिय़ों में से पुलिस ने सात कारें समेत तीन आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस के मुताबिक, एक फॉर्च्यूनर गाड़ी अभी भी फरार आरोपितों के पास है। जिनकी तलाश की जा रही है।पुलिस ने मूलरूप से हरदोई के अटिया शाहपुर बेनीगंज निवासी रामजी शुक्ला उर्फ श्याम और बांगरमऊ उन्नाव निवासी दीपक चौरसिया को गिरफ्तार किया। दोनों आरोपितों के पास से बीएमडब्ल्यू, एक इंडिवर, ऑडी और आइ 20 कार बरामद की गई।पुलिस का कार बाजार के बाहर, डालीगंज पुल, आइटी चौराहा और मेडिकल कॉलेज चौराहे पर फुटेज में आरोपित कार ले जाते दिखे थे। फुटेज की मदद से पुलिस ने केजीएमयू परिसर की पार्किंग में छानबीन की तो उन्हें गाडिय़ां मिल गईं, जिसके बाद आरोपितों को दबोच लिया गया।

राजधानी में लग्‍जरी कारों के चोरी के मामला में एक और अरेस्ट, बरामद तीन कारें

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ मे पांच साल के बेटे को रोता छोड़ फंदे पर लटकी मां, सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने लगाई फांसी

» बजट को अर्थशास्त्रियों ने सराहा, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं रोजगार पर दिया जोर

» केजीएमयू के पत्‍नी-बेटी की बीमारी से परेशान युवक ने मजार पर खुद को मार ली गोली

» लखनऊ में बच्ची के साथ दरिंदगी और दुष्कर्म की पुष्टि, आरोपित को भेजा गया जेल

» यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा पहले ही दिन 2.39 लाख ने छोड़ी मातृभाषा हिंदी की परीक्षा

 

नवीन समाचार व लेख

» बांदा में चारपाई के नीचे पड़ा था खून से लथपथ बेटे का शव

» कानपुर मे बीच सड़क कार सवार लड़कियों और युवकों के बीच जमकर हुई गाली गलौज, लग गया मजमा

» हंडिया के आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज में बीएएमएस की छात्रा ने की आत्महत्या

» लखनऊ मे पांच साल के बेटे को रोता छोड़ फंदे पर लटकी मां, सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने लगाई फांसी

» बजट को अर्थशास्त्रियों ने सराहा, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं रोजगार पर दिया जोर