यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रियंका वाड्रा के निशाने पर फिर यूपी सरकार मैनपुरी की घटना को बताया शर्मनाक


🗒 बुधवार, दिसंबर 04 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सोनभद्र नरसंहार और उन्नाव दुष्कर्म कांड की तरह ही कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने मैनपुरी नवोदय विद्यालय मामले पर भी सरकार को घेरने का प्रयास तेज कर दिया है। पहले उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा। योगी ने ताबड़तोड़ कार्रवाई कर मैनपुरी के डीएम और एसपी को हटा दिया। सीबीआइ जांच के लिए केंद्र को रिमाइंडर भेजने के साथ ही एसआइटी से जांच भी शुरू करा दी। जांच के साथ ही गंभीर तथ्य सामने आने लगे।इस पर प्रियंका फिर हमलावर हो गईं हैं। उन्होंने ट्वीट किया कि- 'महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में यूपी सबसे ऊपर क्यों है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 16 सितंबर को शव छात्रावास में मिला था। छात्रा का परिवार गुहार लगाता रहा कि सच्चाई सामने लाइये लेकिन, कुछ नहीं हुआ।' उन्होंने लिखा है- 'उस छात्रा के साथ दुष्कर्म हुआ था लेकिन, उप्र सरकार का प्रशासन इतने दिन तक मामले को टरकाता रहा। यह हम सबकी नजरों के सामने आई ऐसी चौथी घटना है। शर्मनाक।'बता दें कि 16 सितंबर की सुबह नवोदय विद्यालय की छात्रा का शव फंदे पर लटका मिला था। 17 सितंबर को छात्रा के पिता ने दुष्कर्म व हत्या की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसमें एक नाबालिग छात्र के अलावा विद्यालय की तत्कालीन प्रधानाचार्य सुषमा सागा व वार्डन को नामजद करते हुए एक अज्ञात को आरोपित किया गया था। प्रधानाचार्य को निलंबित कर दिया गया था और शासन स्तर से सीबीआइ जांच की सिफारिश कर दी गई। दो महीने की जांच में पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची। जांच और कार्रवाई में देरी से नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी के डीएम और एसपी का तबादला कर दिया। इस बीच आगरा विधि विज्ञान प्रयोगशाला की जांच रिपोर्ट में नवोदय विद्यालय की छात्रा के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो गई।इस मामले में कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, साथ ही पार्टी नेता जितिन प्रसाद ने भी मैनपुरी आकर पीड़ित परिवार से जानकारी ली। दो दिन पहले प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भी लिखा था। इसके बाद शासन स्तर से सक्रियता बरती गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद रविवार को एसपी अजय शंकर राय को हटा दिया गया। सोमवार को जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय को भी स्थानांतरित कर दिया गया।यूपी सरकार पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को फिर उन्नाव दुष्कर्म कांड की याद दिलाई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि 'उन्नाव मामले में सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि 45 दिन में ट्रायल पूरा किया जाए। 80 दिन बीत चुके हैं। अभी तक ट्रायल पूरा नहीं हुआ। महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में यूपी सबसे ऊपर है। अपराधियों के खिलाफ मामले ही नहीं दर्ज होते और अगर मामला रसूख वाले भाजपा विधायक का है तो पहले एफआइआर में देरी होती है, फिर गिरफ्तारी में और अब ट्रायल लटका पड़ा है।'

प्रियंका वाड्रा के निशाने पर फिर यूपी सरकार मैनपुरी की घटना को बताया शर्मनाक

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ RTO में ऑनलाइन नीलामी तीन लाख 56 हजार में ब‍िका 0001 नंबर

» STF ने साइबर अपराधियों के गिरोह का क‍िया राजफाश, लखनऊ से चार गिरफ्तार

» UP के 368 पुलिस अफसरों व कर्मियों को मिलेगा डीजीपी का प्रशंसा चिह्न, गणतंत्र दिवस पर दिये जाएंगे मेडल

» भाजपा के 11 और जिलाध्यक्ष घोषित, संगठनात्मक दृष्टि से कुल 98 जिलों में अध्यक्षों की तैनाती पूरी

» CAA का विरोध पर अल्पसंख्यक आयोग की अपील, राष्ट्रदोही व असमाजिक तत्वों के बहकावे में न आएं

 

नवीन समाचार व लेख

» लखनऊ RTO में ऑनलाइन नीलामी तीन लाख 56 हजार में ब‍िका 0001 नंबर

» STF ने साइबर अपराधियों के गिरोह का क‍िया राजफाश, लखनऊ से चार गिरफ्तार

» UP के 368 पुलिस अफसरों व कर्मियों को मिलेगा डीजीपी का प्रशंसा चिह्न, गणतंत्र दिवस पर दिये जाएंगे मेडल

» भाजपा के 11 और जिलाध्यक्ष घोषित, संगठनात्मक दृष्टि से कुल 98 जिलों में अध्यक्षों की तैनाती पूरी

» CAA का विरोध पर अल्पसंख्यक आयोग की अपील, राष्ट्रदोही व असमाजिक तत्वों के बहकावे में न आएं