यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

डायल 112 से जुड़े 5.25 लाख वरिष्ठ नागरिक, पुलिस का रिस्पांस टाइम हुआ 11:54 मिनट


🗒 शुक्रवार, जनवरी 10 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

आपात सेवाएं डायल 112 से सूबे के 5.25 लाख वरिष्ठ नागरिक सीधे जुड़ चुके हैं। सवेरा योजना के तहत और वरिष्ठ नागरिकों के रजिस्ट्रेशन की प्रकिया चल रही है, जिससे अकेले रहने वाले बुजुर्गों को किसी आपात स्थिति में त्वरित सहायता उपलब्ध कराई जा सके। यूपी 112 के तीसरे स्थापना दिवस के मौके पर डीजीपी ओपी सिंह ने ऐसी कई उपलब्धियां साझा कीं। उन्होंने बताया कि पीआरवी (पुलिस रिस्पांस व्हेकिल) का रिस्पांस टाइम में पिछले वर्ष के मुकाबले और सुधार हुआ है। अब पुलिस का रिस्पांस टाइम 11:54 मिनट हो गया है। शहरी क्षेत्र में यह 10:28 मिनट व ग्रामीण क्षेत्र में 12:53 मिनट है।डीजीपी ने कहा कि पहले पुलिस के पास वाहनों व संसाधनों की कमी थी। अब अत्याधुनिक तकनीक के सहयोग व संसाधानों के साथ पुलिस कदम बढ़ा रही है। स्मार्ट पुलिसिंग समय की जरूरत है। पुलिस का अभिप्राय अब 112 है। डीजीपी ने बताया कि जल्द यूपी 112 को बीट प्रणाली से भी जोड़ा जाएगा। समारोह में डीजीपी ने यूपी 112 की वार्षिक रिपोर्ट जारी करने के साथ ही त्रैमासिक पत्रिका तेजस का विमोचन भी किया। बताया गया कि वर्ष 2019 को प्रशिक्षण वर्ष घोषित किया गया था, जिसके तहत 14005 पुलिसकर्मियों को विशेष ट्रेनिंग दिलाई गई है। एडीजी यूपी 112 असीम अरुण ने कहा कि इस वर्ष स्मार्ट सिटी, एक्सप्रेसवे व सीसीटीवी कैमरों को प्रभावी बनाए जाने की योजना है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से एडीजी एटीएस डीके ठाकुर, आइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी, एसपी साइबर क्राइम सेल मु.इमरान व अन्य वरिष्ठ अधिकारी थे। सिटीजन कॉलर ऑफ द ईयर की श्रेणी में गौतमबुद्धनगर के राघवेंद्र सिंह यादव को डीजीपी ने किया सम्मानित। बच्चा चोरी के संदेह में भीड़ द्वारा घेरी गई महिला के बारे में सूचना देकर उसकी जान बचाने में राघवेंद्र ने अहम भूमिका निभाई थी। इसके अलावा कानपुर नगर के दिनेश कुमार को भी किया सम्मानित। दिनेश ने रेलवे ट्रैक पर बच्चे के साथ आत्महत्या करने जा रही महिला के बारे में सूचना दी थी। पुलिस ने महिला व बच्चे को बचाया था।डीजीपी ने पीआरवी पर तैनात रहकर उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया। इनमें मुजफ्फरनगर के निरीक्षक गिरीश चंद्र शर्मा, मऊ के निरीक्षक प्रमेश कुमार सिंह, शामली के निरीक्षक कपिल गौतम, गौतमबुद्धनगर के पीआरवी कमांडर राजेंद्र सिंह, मथुरा के पीआरवी कमांडर अरविंद प्रताप सिंह, बागपत के पीआरवी कमांडर सत्य प्रकाश शर्मा, गौतमबुद्धनगर के पीआरवी कमांडर तेजपाल सिंह व पीआरवी पायलेट रजनीश चौधरी शामिल हैं। 

डायल 112 से जुड़े 5.25 लाख वरिष्ठ नागरिक, पुलिस का रिस्पांस टाइम हुआ 11:54 मिनट

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में अधिवक्ता शिशिर त्रिपाठी मर्डर केस में चारो हत्यारोपित गिरफ्तार

» लखनऊ में तीन दिन बाद भी आरआइ पर नहीं हुई कार्रवाई, महिला सिपाही को बयान के लिए बुलाया

» UP में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने पर फिर मंथन, लखनऊ व नोएडा में शुरू हो सकता पायलेट प्रोजेक्ट

» बेलगाम नौकरशाही पर योगी सरकार की बड़ी नकेल, अब तक 45 से अधिक अफसरों पर हो चुकी कार्रवाई

» सपा कार्यकर्ता और छात्र संगठन ने हॉल बुक कर देखी 'छपाक' मूवी, कहा 'महिला विरोधी हैं भाजपाई'

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ मे ससुराल से मायके आई विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत

» मेरठ मे दिनदहाड़े अनाज मंडी में नमक कारोबारी को गोली मारी

» नैनी में रिटायर्ड डिप्‍टी जेलर की गोली मारकर हत्‍या

» वाराणसी मे प्रियंका ने कहा- कांग्रेस सरकार आई तो हटाएंगे CAA और NRC

» कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उत्पात, राज घाट पर माला-फूल बचने वाली की चौकी तोड़ी