बहुजन समाज पार्टी संगठन में एक बार फिर उलट फेर रितेश पांडेय बने लोकसभा में दल नेता, मलूक उपनेता

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बहुजन समाज पार्टी संगठन में एक बार फिर उलट फेर रितेश पांडेय बने लोकसभा में दल नेता, मलूक उपनेता


🗒 सोमवार, जनवरी 13 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

बहुजन समाज पार्टी (BSP) संगठन में एक बार फिर उलट फेर किया गया है। सामाजिक गणित साधने के लिए बसपा प्रमुख मायावती ने ब्राह्मण कार्ड चला है। लोकसभा में दलनेता दानिश अली को हटा सांसद रितेश पांडेय को जिम्मेदारी सौंपी है, वहीं मलूक नागर को उपनेता बनाया गया है। इस फेरबदल में प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली की कुर्सी सलामत रही।संगठन में किए बदलाव की जानकारी मायावती ने ट्वीट के जरिए दी। उन्होंने बताया कि बसपा में सामाजिक सामंजस्य बनाने को मद्देनजर रखते हुए लोकसभा में पार्टी के दलनेता व उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष एक ही समुदाय के होने के नाते इसमें थोड़ा परिवर्तन किया गया है। अर्थात अब लोकसभा में बीएसपी के नेता रितेश पांडेय को व उपनेता मलूक नागर को बना दिया गया है, लेकिन उत्तर प्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष मुनकाद अपने इसी पद पर बने रहेंगे। साथ ही उत्तर प्रदेश विधानसभा में बीएसपी के नेता लालजी वर्मा पिछड़े वर्ग से व विधान परिषद में बीएसपी के दलनेता दिनेश चंद्रा दलित वर्ग बने रहेंगे अर्थात यहां कुछ भी परिवर्तन नहीं किया गया है।बसपा में दलित ब्राह्मण समीकरण को आजमाया जाता रहा है। रामवीर उपाध्याय के बगावती तेवरों के बाद से प्रदेश में ब्राह्मण चेहरे के तौर पर युवा सांसद रितेश पांडेय को आगे लाना नया प्रयोग माना जा रहा है। सूत्र बताते है कि ब्राह्मण समाज में भाजपा के प्रति मोह कम होने पर बसपा नजर रखे है। कांग्रेस की ओर ब्राह्मणों का रुझान न हो इसलिए बसपा ने बड़ा बदलाव किया है। बता दें कि दानिश अली को करीब दो माह पूर्व ही दल नेता की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।बसपा प्रमुख मायावती का जन्मदिन (15 जनवरी) हर वर्ष की तरह जिला केंद्रों पर जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जाएगा, जिसमें गरीबों के लिए उपहार वितरित किए जाएंगे और केक काटा जाएगा। मायावती दिल्ली कार्यालय में जन्मदिन मनाएंगी। विधानसभा क्षेत्रवार कोटा तय किया गया है। सूत्रों का कहना है कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से न्यूनतम पांच लाख रुपये पार्टी फंड में जमा कराने को कहा गया है। विधानसभा क्षेत्र प्रभारी को भी फंड जमा कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बहुजन समाज पार्टी संगठन में एक बार फिर उलट फेर रितेश पांडेय बने लोकसभा में दल नेता, मलूक उपनेता

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» यूपी के डीजीपी का निर्देश- मालवीय प्रवेश परीक्षा व बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा पर रहे पुलिस की कड़ी नजर

» नुकीले चम्मच से गोदने के साथ ही गला दबाकर की थी नैंसी की हत्या, पीएम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

» पेप्सिको इंडिया उत्तर प्रदेश में करेगा 800 करोड़ का निवेश, 1500 लोगों को मिलेगा रोजगार

» वीरता के लिए सम्मानित व्यक्तियों को यूपी की योगी सरकार का तोहफा, एक्सप्रेस-वे पर टोल टैक्स से छूट

» अयोध्या बस स्टेशन की शुरुआत स‍ितंबर से, पर्यटकों और श्रद्धालुओं को मिलेगी बड़ी राहत

 

नवीन समाचार व लेख

» बहराइच में शुद्ध पेयजल के नाम संक्रमितों ने पिया शौचालय का जल

» यूपी के डीजीपी का निर्देश- मालवीय प्रवेश परीक्षा व बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा पर रहे पुलिस की कड़ी नजर

» नुकीले चम्मच से गोदने के साथ ही गला दबाकर की थी नैंसी की हत्या, पीएम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

» पेप्सिको इंडिया उत्तर प्रदेश में करेगा 800 करोड़ का निवेश, 1500 लोगों को मिलेगा रोजगार

» केरल में विमान हुआ दुर्घटनाग्रस्‍त, राष्ट्रपति ने राज्यपाल से की फोन पर बात