यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में एक साल में आईं बाल विवाह की 50 शिकायतें, लॉकडाउन में भी नहीं लग सका विराम


🗒 शनिवार, जून 06 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में एक साल में आईं बाल विवाह की 50 शिकायतें, लॉकडाउन में भी नहीं लग सका विराम

राजधानी में बाल विवाह की शिकायतें लगातार आ रही हैं। पिछले एक साल में करीब 50 से अधिक मामले सामने आए, जिन्‍हें बाल कल्‍याण समिति ने चाइल्‍ड लाइन की मदद से रुकवाया। आंकड़ो के मुताबिक, इनमें सबसे ज्‍यादा मामले माल और मलिहाबाद क्षेत्र से आए हैं। खास बात यह है कि शहरी इलाकों से भी बाल विवाह की शिकायतें मिली हैं।न्‍यायालय बाल कल्‍याण समिति को अप्रैल 2019 से मार्च 2020 तक माल क्षेत्र में 21 बाल विवाह की शिकायतें मिलीं थीं। इसपर कार्यवाई करते हुए चाइल्‍ड लाइन व पुलिस की मदद से इन शादियों को रोका गया था और अभिभावकों को ऐसा दोबारा न करने के निर्देश दिए गए थे। यही नहीं मलिहाबाद में चार, काकोरी में चार, बीकेटी में दो और गोसाईगंज में भी दो मामले सामने आए। यही नहीं लखनऊ शहर से भी पिछले एक साल में 12 शिकायतें प्राप्‍त हुई हैं।लॉकडाउन के दौरान भी बाल विवाह की शिकायतें सामने आईं। न्‍यायालय बाल कल्‍याण समिति की सदस्‍य डॉ. संगीता शर्मा ने बताया कि अप्रैल माह में इसकी शिकायत नहीं मिली। हालांकि मई में दो और जून माह में अब तक दो मामले प्रकाश में आए। इनमें एक मामले में एफआइआर दर्ज करने के आदेश भी दिए गए हैं। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» ग्रामीणों को मकानों का मालिकाना हक मिलने का रास्ता साफ, अब मिलेगी घरौनी

» अभी से करें महाकुंभ 2024-25 की तैयारी, बनेगा दुनिया के लिए मानक - सीएम योगी

» योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब नहीं होंगे टेंडर, आंगनबाड़ी केंद्रों में महिलाएं बांटेंगी पोषाहार

» लखनऊ में कैब चालक ने की महिला से अभद्रता, पुलिस ने किया गिरफ्तार

» पुरोहित की पत्नी हत्याकांड में दो संदिग्ध हिरासत में, जल्द राजफाश का दावा

 

नवीन समाचार व लेख

» महोबा-अमरगंज में कोरोना की दस्तक से पालिका ने करवाया सेनेटाइजेशन

» महोबा-नेत्र दान के लिए ऑनलाइन शिविर का हुआ आयोजन

» महोबा-कटेंमेंट जोन में आवागमन को किया जाए प्रतिबंधित - डीएम

» महोबा-जिला जज सहित डीएम व एसपी ने किया जिला उपकारागार का निरीक्षण

» हमीरपुर-डॉक्टर के पर्चे के बगैर दवा देने पर रोक