यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इंस्पेक्टर इटौंजा पर किसान की पीट-पीटकर जान लेने का आरोप, शव रख परिजनों ने किया प्रदर्शन


🗒 शनिवार, जून 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

इटौंजा थाने के इंस्पेक्टर नंदकिशोर पर भीखमपुर गांव निवासी किसान गोविंद (48) की पीट-पीटकर जान लेने का आरोप है। पीड़ित किसान के परिवारीजनों ने लिंक रोड पर शव रखकर सीतापुर-लखनऊ हाइवे जाम कर दिया। किसान नेताओं और ग्रामीणों ने भी पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर पीड़ित परिवार का साथ दिया। इंस्पेक्टर व इटौंजा पुलिस के खिलाफ महिलाओं का आक्रोश इसकदर था कि पुलिस को डंडे लिए देख उन्होंने भी हाथों में डंडे उठा लिए, भला बुरा भी कहा। बढ़ता आक्रोश देख सीओ और एसडीएम बीकेटी मौके पर पहुंचे। पीड़ित की पत्नी ने 10 लाख रुपये मुआवजे व तहरीर देकर इंस्पेक्टर समेत 4 आरोपित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की। कार्रवाई व मुआवजे के आश्वासन पीड़ित परिवार ने शव का अंतिम संस्कार किया। गोविंद की पत्नी कमला देवी ने तहरीर में कहा है कि गांव में ही गन्ने और संतोष के बीच मारपीट हो गई थी, जिसमें गोविंद ने बीचबचाव किया। थाने के तीन पुलिसकर्मी गोविंद से पूछताछ के बहाने उसे थाने ले गये। जहां इंस्पेक्टर नंद किशोर ने गोविंद के सीने पर ऐसा घुसा मार पिटाई कि उनके मुंह से खून आ गया। इसके बाद गोविंद का 151 में चालान कर दिया। कोर्ट से गोविंद को छुड़ाने के बाद पत्नी ने डालीगंज पुल के पास स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां सीने व फेफड़े में आई गंभीर चोटों से शनिवार को इलाज के दौरान गोविंद की मौत हो गई। उधर इंस्पेक्टर ने खुद पर व थाने के तीन पुलिसकर्मियों पर लगाये गये पिटाई के आरोप को गलत बताया है।पीड़िता कमला देवी के मुताबिक,  तीन दिन से वह लगातार प्रकरण की शिकायत उच्चधिकारियों से करने का प्रयास कर रही हैं, लेकिन उन्हें व उनके परिवार को इटौंजा थाने से धमकी मिल रही हैं।एडीजी जोन एसएन साबत ने बताया कि संबंधित मामले की जांच सीओ बीकेटी को सौंपी गई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इंस्पेक्टर इटौंजा पर किसान की पीट-पीटकर जान लेने का आरोप, शव रख परिजनों ने किया प्रदर्शन

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» गांधी परिवार की सोच खुद की प्रगति तक सीमित - स्मृति ईरानी

» लखनऊ स्थित काकोरी में चाचा के अवैध तमंचे से अचानक चली गोली, भतीजी के पेट के पार

» राजधानी मे बुजुर्ग की कोरोना से मौत, संक्रमण के भय से घरवालों ने छोड़ा शव

» अलीशा व केशव ने बढ़ाया लखनऊ का मान, बाराबंकी के अभिमन्यु व योगेश टॉप थ्री

» इस बार पश्चिम से निकला पढ़ाई का सूरज, पूरब फिसड्डी

 

नवीन समाचार व लेख

» आनंद अस्‍पताल के संचालक हरिओम आनंद ने जहर खाकर जान दी

» गाजीपुर में प्रशिक्षण के लिए आए सिपाही ने लगाई फांसी

» वाराणसी में वेतन कटौती को लेकर धरने पर बैठे एंबुलेंस कर्मी

» गांधी परिवार की सोच खुद की प्रगति तक सीमित - स्मृति ईरानी

» अमेठी आइबी व इंटेलीजेंस की टीम सात गाड़ियों से पहुंची सहायक महाप्रबंधक के आवास पर घंटों चली जांच।