यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गांधी परिवार की सोच खुद की प्रगति तक सीमित - स्मृति ईरानी


🗒 शनिवार, जून 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास व कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को जितनी तेजी से मोदी-योगी सरकार की उपलब्धियां गिनायीं, उसी रफ्तार से वह कांग्रेस को भी कोसती चली गईं। वर्चुअल जनसंवाद रैली में उन्होंने कहा कि गांधी परिवार की सोच उनके परिवार की प्रगति तक ही सीमित है, जो बहुत हानिकारक है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने 70 साल देश को लूटा, उनके लिए यह बातें मायने नहीं रखतीं। क्या कोई कल्पना कर सकता था कि देश ऐसा मंजर देखेगा कि एक के बाद एक मनमोहन सरकार के मंत्री पॉलीटिकल हफ्ता देंगे। राजीव गांधी फाउंडेशन के चंदे का सवाल उठाते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि बुंदेलखंड में जहां राष्ट्र के लिए बलिदान देने वाली मां-बेटियां हुईं, वहीं रायबरेली सांसद बच्चों के लिए देश को लूटने में कसर नहीं छोड़ रहीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष की उपलब्धियों को लेकर प्रदेश में भाजपा द्वारा लगातार ऑनलाइन जनसंवाद रैलियां आयोजित की जा रही हैैं। शनिवार को आयोजित ऐसी ही रैली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी मुख्य वक्ता थीं।मध्याचंल की इस जनसंवाद रैली में अवध, कानपुर व बुंदेलखंड क्षेत्र के समर्थक और कार्यकर्ता जुड़े। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उनसे कहा कि राष्ट्र की बागडोर काबिल हाथों में हो तो संघर्ष सफलता में बदलता है। देश की कमान जनता के आशीर्वाद व कार्यकर्ताओं के प्रयास से राष्ट्र नायक नरेंद्र मोदी के हाथ में है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत से 10 करोड़ परिवारों को चिकित्सा सहायता का संकल्प लिया। यह अकल्पनीय था, लेकिन एक साल के भीतर एक करोड़ से अधिक परिवारों को देश और 18 लाख परिवारों को उत्तर प्रदेश में सहयोग मिल चुका है।केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जिन्होंने 70 साल देश को लूटा, उनके लिए यह बातें मायने नहीं रखतीं। क्या कोई कल्पना कर सकता था कि देश ऐसा मंजर देखेगा कि एक के बाद एक मनमोहन सरकार के मंत्री पॉलीटिकल हफ्ता देंगे। किसी ने सोचा था कि यूपीए अध्यक्ष ऐसा संस्थान स्थापित करेंगी, जिसमें मेहुल चैकसी जैसों से चंद लिया जाएगा।केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने हुंकार भरी कि अमेठी में आपकी घड़ी बंद हो चुकी है, अब रायबरेली का परिणाम बदलने में देर नहीं लगेगी। उन्होंने सवाल उठाया कि सोनिया गांधी को इतना क्या बैर है हिंदुस्तान से कि दुश्मन से हाथ मिलाओ, चोरों से पैसा लो, रिमोट कंट्रोल बना दो पीएम को और प्रधानमंत्री राहत कोष से भी पैसा उठा लिया। केंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यों की भी सराहना की। तमाम योजनाएं और उपलब्धियां गिनाईं। जनसंवाद रैली को उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भी संबोधित किया।

गांधी परिवार की सोच खुद की प्रगति तक सीमित - स्मृति ईरानी

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ स्थित काकोरी में चाचा के अवैध तमंचे से अचानक चली गोली, भतीजी के पेट के पार

» इंस्पेक्टर इटौंजा पर किसान की पीट-पीटकर जान लेने का आरोप, शव रख परिजनों ने किया प्रदर्शन

» राजधानी मे बुजुर्ग की कोरोना से मौत, संक्रमण के भय से घरवालों ने छोड़ा शव

» अलीशा व केशव ने बढ़ाया लखनऊ का मान, बाराबंकी के अभिमन्यु व योगेश टॉप थ्री

» इस बार पश्चिम से निकला पढ़ाई का सूरज, पूरब फिसड्डी

 

नवीन समाचार व लेख

» आनंद अस्‍पताल के संचालक हरिओम आनंद ने जहर खाकर जान दी

» गाजीपुर में प्रशिक्षण के लिए आए सिपाही ने लगाई फांसी

» वाराणसी में वेतन कटौती को लेकर धरने पर बैठे एंबुलेंस कर्मी

» गांधी परिवार की सोच खुद की प्रगति तक सीमित - स्मृति ईरानी

» अमेठी आइबी व इंटेलीजेंस की टीम सात गाड़ियों से पहुंची सहायक महाप्रबंधक के आवास पर घंटों चली जांच।