यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन फ‍िर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किए गए


🗒 सोमवार, जून 29 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राजधानी के मेदांता अस्पताल में भर्ती मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन को सोमवार को बाई-पैप मशीन से हटाकर फिर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया। मसल्स में कमजोरी के चलते अभी उनको सांस लेने में दिक्कत हो रही है।टंडन को 11 जून को स्वास्थ्य खराब होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 13 जून को पेट में रक्तस्राव होने पर उनका ऑपरेशन किया गया। इसके बाद से वह लगातार क्रिटिकल केयर वेंटिलेटर पर थे। बीच-बीच में कुछ देर के लिए वेंटिलेटर हटाया गया। 27 जून को उन्हें प्रेशर में ऑक्सीजन देने के लिए बाई-पैप मशीन पर रखा गया। मगर, इस मशीन पर उन्हें राहत नहीं मिली। लिहाजा, सोमवार को फिर राज्यपाल को क्रिटिकल केयर वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया। मेदांता अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर के मुताबिक राज्यपाल को कोमोर्बिटीज और न्यूरो मस्कुलर की समस्या है। सांस लेने में दिक्कत हो रही है। ऐसे में फिर उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया है।विशेषज्ञों के अनुसार बाई-पैप और वेंटिलेटर दोनों मैके निकल वेंटिलेशन मशीनें हैं। मरीज यदि गंभीर है और बेहोशी में नहीं है। मगर, सांस लेने में असमर्थ है। कार्बन डाई ऑक्साइड बाहर नहीं निकाल पा रहा है। ऐसी स्थिति में बाई-पैप मशीन का सपोर्ट दिया जाता है। इसमें मुंह-नाक पर मास्क लगाकर प्रेशर में ऑक्सीजन दी जाती है। वहीं, मरीज में बेहोशी आने लगे, शरीर में अम्लता बढ़ जाए, कॉर्बन डाई ऑक्साइड और बढ़ जाए तो ऐसी स्थिति में मरीज अति गंभीर होने लगता है। उसे वेंटिलेटर सपोर्ट देना बेहतर रहता है। इसमें मरीज के गले के पास ट्रैकियोस्टमी की जाती है। उसमें इंडोट्रैकियल ट्यूब डाल दी जाती है। इसके जरिये डायरेक्ट ऑक्सीजन पहुंचती है।

एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन फ‍िर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किए गए

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सवा करोड़ लोगों को डिजिटल नेटवर्किंग से जोड़ा - स्वतंत्र देव सिंह

» चीन के मुद्दे पर भाजपा के साथ है बसपा - मायावती

» कोरोना के साथ ही संचारी रोग से लड़ाई को तैयार CM योगी आदित्यनाथ

» दबंगो की पिटाई में युवक का हाथ टूटा, अधमरा छोड़ भागे दबंग,

» पीड़ित की सुनवाई न होने पर दर्जनों अधिवक्ताओं ने थाने का किया घेराव,

 

नवीन समाचार व लेख

» सवा करोड़ लोगों को डिजिटल नेटवर्किंग से जोड़ा - स्वतंत्र देव सिंह

» एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन फ‍िर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किए गए

» चीन के मुद्दे पर भाजपा के साथ है बसपा - मायावती

» कोरोना के साथ ही संचारी रोग से लड़ाई को तैयार CM योगी आदित्यनाथ

» दबंगो की पिटाई में युवक का हाथ टूटा, अधमरा छोड़ भागे दबंग,