यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुफ्त में बढ़ेगी एक लाख यात्रियों के 'गो स्मार्ट कार्ड' की वैधता, मेट्रो ने की घोषणा


🗒 रविवार, सितंबर 06 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुफ्त में बढ़ेगी एक लाख यात्रियों के 'गो स्मार्ट कार्ड' की वैधता, मेट्रो ने की घोषणा

मेट्रो यात्रियों के लिए खुशखबरी है। लखनऊ मेट्रो ने गो स्मार्ट कार्ड धारकों  को सुविधा देते हुए कार्ड की वैधता बढ़ाने पर अब कोई शुल्क कोरोना कॉल में नहीं लेगा। अब तक वैधता खत्म होने  पर पचास रुपये काउंटर पर देकर कार्ड की वैधता बढ़वानी होती थी। हालांकि यह पचास रुपये यात्री के गो स्मार्ट कार्ड की राशि में जुड़ जाते थे और वह इन पैसों का इस्तेमाल मेट्रो के सफर में कर सकता था। अब एक लाख गो स्मार्ट कार्ड धारक यात्री अपने कार्ड  की वैधता बढ़ाने के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा। लखनऊ मेट्रो ने ऐसे सभी गो स्मार्ट  कार्ड धारकों को मुफ्त में वैधता बढ़ाने  की  छूट दे दी है। कुल मिलाकर उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड की मंशा है कि यात्री टोकन कम से कम ले और गो स्मार्ट  कार्ड से ही मेट्रो का सफर करे। इससे यात्री को हर यात्रा पर दस फीसद की छूट मिलेगी और उसे काउंटर पर खड़े होकर टोकन नहीं लेना होगा, इससे उसका समय भी बचेगा।गो स्मार्ट कार्ड धारक को याद रखना होगा कि अगर वह कार्ड लेकर सफर कर रहा है तो उसकी वैधता जांचने के लिए उसे काउंटर  पर चेक करा ले, अगर एक साल हो गए हैं और उसकी वैधता खत्म हो गई तो काउंटर पर मुफ्त में उसकी वैधता एक साल के लिए बढ़वा सकता हैं। इसके निर्देश नार्थ साउथ कॉरिडोर के सभी 21 स्टेशनों पर दिए गए हैं कि यात्रियों के कार्ड की वैधता संपर्क करने पर बढ़ाई जाए। यात्री कार्ड की वैधता बढ़वाने के बाद गो स्मार्ट कार्ड को मेट्रो की वेबसाइट पर जाकर रिचार्ज कर सकता है। मेट्रो अधिकारियों ने बताया कि पहले की टोकन भी यात्रियों को मिलेंगे। यात्री टोकन से भी यात्रा कर सकता है। इसके लिए हर मेट्रो स्टेशनों पर अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। सात सितंबर से मेट्रो का सफर चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से मुंशी पृुलिया के बीच शुरू होने जा रहा है। यात्री सफर से  पहले अपने  कार्ड की वैधता काउंटर पर जरूर जांच करवा ले। क्योंकि अगर कार्ड की वैधता खत्म हो गई होगी तो यात्री प्लेटफार्म एरिया में प्रवेश नहीं कर पाएगा, इसलिए प्रथम तल पर ही कार्ड की वैधता जांच करवा लें।गो स्मार्ट कार्ड के कई फायदे हैं। लखनऊ मेट्रो इन्हीं फायदों में से एक फायदा यात्रियों को और देने जा रहा है। कोरोना जैसी महामारी के दौरान अगर गो स्मार्ट कार्ड धारक का कोई मित्र या जानने वाला नगदी के लेनदेन से बचना चाहता है तो वह गो स्मार्ट कार्ड से स्टेशनों पर लगी मशीनों व काउंटर से टोकन लेकर अपने सह यात्री को यात्रा करा सकता है। संबंधित यात्री के शेष राशि से पैसा कट जाएगा और कार्ड में शेष राशि का ब्योरा दर्ज मोबाइल नंबर पर आए जाएगा। मेट्रो का अधिकतम टिकट साठ रुपये का है।यूपीएमआरसी के एमडी कुमार केशव ने कहा कि लखनऊ मेट्रो ने अपने सभी स्टेशनों पर टोकन रखने के लिए अल्ट्रा वायलेट बाक्स रखे हैं। यूपीएमआरसी के डीजीएम प्रथम हितेश चंदानी का दावा है कि यात्रियों द्वारा इस्तेमाल किए हुए टोकन इसमें डालने के बाद जो भी टोकन में विषाणु होंगे, वह अल्ट्रा वॉयलेट से नष्ट हो जाएंगे। प्रत्येक बाक्स में दो हजार टोकन रखने की क्षमता है।गो स्मार्ट कार्ड की वैधता के लिए जो शुल्क पचास रुपये लिया जाता था, वह फिलहाल खत्म कर दिया गया है। यात्रियों को कार्ड की वैधता बढ़ाने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। वर्तमान में एक लाख से अधिक गो स्मार्ट कार्ड धारक मेट्रो के हैं। सवा पांच माह पहले तक 35 हजार से अधिक यात्री गो स्मार्ट कार्ड का प्रयोग करते थे। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में परीक्षा स्पेशल ट्रेनों से हुई परीक्षार्थियों की वापसी,शारीरिक दूरी का पालन कराने में प्रशासन परेशान

» पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला ने बदली कहानी, कहा- दबाव में किया केस

» लखनऊ में दोस्तों संग गोमती में नहा रहे युवक की डूबकर मौत,

» लखनऊ एयरपोर्ट पर पकड़ा गया 71.04 लाख का सोना

» गायत्री प्रसाद प्रजापति मामले में गवाह दुष्कर्म का आरोपित गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला ने बदली कहानी, कहा- दबाव में किया केस

» कानपुर देहात में युवक की मौत पर चुपचाप कर रहे थे अंतिम संस्कार, चिता से शव उठा ले गई पुलिस

» फीलखाना थाना क्षेत्र में आशिक के साथ आइसक्रीम खाने गई पत्नी के पीछे पहुंचा पति फिर सड़क पर हाईवोल्टेज ड्रामा

» कानपुर में अब हिना बन गई सोनी, प्रेम विवाह करने पर घर वालों की मिल रही धमकी

» प्रशासन ने जय की चार अचल संपत्तियों को सील किया, पत्नी ने कार्रवाई पर उठाए सवाल