यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- शारदीय नवरात्र से पहले गड्ढामुक्त हों उत्तर प्रदेश की सड़कें


🗒 शनिवार, सितंबर 12 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- शारदीय नवरात्र से पहले गड्ढामुक्त हों उत्तर प्रदेश की सड़कें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के संक्रमण की चुनौती का सामना करते हुए विकास परियोजनाओं को गति देने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि बरसात का मौसम लगभग समाप्त हो चुका है, इसलिए कार्ययोजना बनाकर सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने का अभियान युद्धस्तर पर प्रारंभ कर दिया जाए। उन्होंने शारदीय नवरात्र से पहले उत्तर प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने का लक्ष्य अधिकारियों को दिया है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये मुरादाबाद मंडल के जिलों में विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान रामपुर में निर्माणाधीन डूंगरपुर राष्ट्रीय प्रशिक्षण संस्थान को गन्ना किसानों के प्रशिक्षण केंद्र के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। पहले यह केंद्र मुरादाबाद में प्रस्तावित था। संभल में उन्होंने तत्काल मुख्य चिकित्सा अधीक्षक की तैनाती का आदेश दिया। बिजनौर में पीएसी की नई बटालियन की स्थापना में भी तेजी लाने के लिए कहा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुरादाबाद के भोजपुर में निर्माणाधीन राजकीय महाविद्यालय और ठाकुरद्वारा में राजकीय पॉलिटेक्निक तथा अमरोहा में राजकीय महिला आइटीआइ, सहसपुर, अलीनगर जोया के निर्माण कार्यों को शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। सीएम योगी ने मंडल की 22 चीनी मिलों में गन्ना किसानों को हुए भुगतान की स्थिति की जानकारी लेते हुए इसमें शिथिलता न बरतने की भी हिदायत दी। उन्होंने मुरादाबाद स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को तेजी से पूरा करने और इसमें हर काम के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने का निर्देश दिया। अमृत योजना के कार्यों को भी प्राथमिकता पर पूरा करने को कहा। समीक्षा बैठक में न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक और जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद थे।कमजोर वर्गों को आवास मुहैया कराने की योजनाओं का का लाभ केवल पात्र लोगों को दिए जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चेतावनी दी कि अपात्रों को आवास आवंटन की शिकायत मिली तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। विभागाध्यक्षों को कार्यदायी संस्था के चयन से पहले उसके संसाधन परखने को भी कहा गया। साथ ही अवैध खनन पर सख्ती से रोक लगाने और वैध खनन कार्यों को मंजूरी देने की हिदायत के साथ अधिकारियों से इसे राजस्व का अहम जरिया बनाने को कहा। इसके अलावा अतिक्रमण के मामलों में सख्ती से निपटने के भी निर्देश दिए गए। मुख्यमंत्री ने प्रभारी मंत्रियों को जिलों की मासिक समीक्षा करने और इसके नतीजों से मुख्यमंत्री कार्यालय को भी अवगत कराने के लिए कहा।मंडलीय समीक्षा बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये शामिल जनप्रतिनिधियों ने कोरोना से निपटने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली की सराहना की। डार्क जोन में नलकूप कनेक्शन देने की नीति की भी सराहना की गई। अमरोहा के विधायक महबूब अली ने बान नदी पर पुल निर्माण की मांग की, जबकि अमरोहा के हसनपुर क्षेत्र के विधायक महेंद्र सिंह खड़गवंशी ने क्षेत्र में नवीन चीनी मिल की जरूरत बतायी। इसी तरह बिजनौर के चांदपुर क्षेत्र विधायक कमलेश सैनी ने क्षेत्र में एक स्टेडियम निर्माण की आवश्यकता जताई।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में STF ने 21 अवैध पिस्टल के साथ पकड़े दो शातिर

» अखिलेश यादव ने सरकार को घेरा, कहा- अफसरशाही में लूट लो की प्रतिस्पर्धा

» जमानत पर रिहा पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति गिरफ्तार, लखनऊ में दर्ज केस में पुलिस ने की कार्रवाई

» लखनऊ के शुभम सिनेमा के पास बाइक में वेल्डिंग करते समय कार में भी लगी आग

» SIT जांच में मथुरा के मुकुट मुखारविंद मंदिर में 11 करोड़ से अधिक की धांधली मिली, रिसीवर समेत 12 पर केस

 

नवीन समाचार व लेख

» लखनऊ में STF ने 21 अवैध पिस्टल के साथ पकड़े दो शातिर

» हरदोई जा रही रोडवेज बस में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, यात्री और कर्मी दोनों सुरक्षित

» अखिलेश यादव ने सरकार को घेरा, कहा- अफसरशाही में लूट लो की प्रतिस्पर्धा

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- शारदीय नवरात्र से पहले गड्ढामुक्त हों उत्तर प्रदेश की सड़कें

» जमानत पर रिहा पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति गिरफ्तार, लखनऊ में दर्ज केस में पुलिस ने की कार्रवाई