यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कोरोना संक्रमित मरीजों में 69 फीसद पुरुष, 31 प्रतिशत महिलाएं भी पाजिटिव


🗒 शनिवार, सितंबर 12 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कोरोना संक्रमित मरीजों में 69 फीसद पुरुष, 31 प्रतिशत महिलाएं भी पाजिटिव

कोरोना वायरस के चंगुल में महिलाओं के मुकाबले पुरुष दोगुने से ज्यादा हैं। नौकरी, व्यवसाय के साथ-साथ जरूरी काम के लिए घर की दहलीज ज्यादा पुरुष ही लांघ रहे हैं। ऐसे में कोरोना की गिरफ्त में भी वह ही सबसे ज्यादा हैं। सूबे में अब तक कोरोना से संक्रमित पाए गए 3,05,978 मरीजों में 69 फीसद पुरुष हैं और 31 प्रतिशत महिलाएं हैं। यानी 2,11,124 पुरुष कोरोना से संक्रमित हैं और 94,853 महिलाएं कोरोना से संक्रमित हैं।अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि शुरूआत से ही कोरोना से संक्रमित मरीजों में पुरुषों की संख्या महिलाओं से कहीं ज्यादा रही है। उधर दूसरी ओर अगर उम्र के हिसाब से कोरोना पाजिटिव मिले मरीजों के आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाए तो युवा सबसे ज्यादा संक्रमित हैं और बुजुर्ग सबसे कम संक्रमित हैं। कोरोना वायरस से नवजात शिशु से लेकर 20 वर्ष की आयु तक के 13.98 प्रतिशत संक्रमित हैं। इस आयु वर्ग के 42775 लोग संक्रमित हैं। वहीं 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक के 48.58 फीसद लोग संक्रमित हैं। यानी 1,48,644 व्यक्ति संक्रमित हैं। वहीं 41 साल से लेकर 60 साल तक की उम्र के 28.69 फीसद लोग संक्रमित हैं। यानी इस आयु-वर्ग के 87,785 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। वहीं 60 साल से ज्यादा उम्र के 8.75 प्रतिशत यानी 26008 लोग कोरोना से संक्रमित मिले हैं।यूपी में अभी तक कोरोना से संक्रमित हुए लोगों में से 88 फीसद अभी तक ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में अब तक 149396 मरीज होम आइसोलेशन का विकल्प चुन चुके हैं और इसमें से 132062 मरीज ठीक हो चुके हैं। यह वह रोगी हैं जिन्होंने घर पर रहकर ही अपना इलाज करवाना ज्यादा मुफीद समझा। वहीं प्रदेश में 3.43 लाख मेडिकल टीमों के माध्यम से 11.40 करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।प्रदेश में अब बड़े शहरों के साथ-साथ छोटे शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों से भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज बड़ी संख्या में मिल रहे हैं। ऐसे में ग्राम निगरानी समितियों को कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों की चिन्हित करने और उनकी जांच करवाने के लिए अलर्ट किया गया है। वहीं रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी को भी शहरों में पाजिटिव व्यक्ति व उनके संपर्क में आए लोग पर निगाह रखने को कहा गया है।