यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

CM योगी आदित्यनाथ का लखनऊ तथा अन्य पांच शहरों में सतर्कता बरतने का निर्देश


🗒 रविवार, सितंबर 13 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
CM योगी आदित्यनाथ का लखनऊ तथा अन्य पांच शहरों में सतर्कता बरतने का निर्देश

 वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के राजधानी लखनऊ के साथ ही अन्य महानगरों में बढ़ते प्रसार को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने रविवार को टीम-11 के साथ अपने सरकारी आवास पर अनलॉक-4.0 के साथ कोरोना संक्रमण पर अंकुश लगाने के प्रयास की समीक्षा की।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के कुछ जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण की लगातार बढ़ती संख्या पर चिंता जताई है। उन्होंने अधिकारियों को लखनऊ के साथ गोरखपुर, प्रयागराज, कानपुर नगर, मेरठ में विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। उन्होंने लखनऊ में कोविड अस्पतालों में तब्दील प्राइवेट अस्पतालों को संक्रमित मरीजों के लिए मानक के अनुरूप स्तरीय सुविधाएं सुनिश्चित का निर्देश देते हुए कहा कि प्राइवेट अस्पताल कोविड संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए सरकार से निर्धारित पैकेज के अनुसार ही धनराशि लें। साथ ही ऑक्सीजन सिलेंडर की कालबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है।आला अफसरों के साथ अनलाक की उच्च स्तरीय समीक्षा कर रहे मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के प्रति जागरूकता के लिए पुलिस व प्रशासन मिलकर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से अभियान चलाएं। मास्क न पहनने वालों के प्रति सद्भावनापूर्ण ढंग से प्रवर्तन कार्रवाई की जाए। इसका उद्देश्य लोगों को कोरोना काल में मास्क पहनने के महत्व से परिचित कराना होना चाहिए।उन्होंने कहा कोविड-19 से बचाव व उपचार की गतिविधियों को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए प्रशिक्षित व कुशल मानव संसाधन को बढ़ाये जाने की आवश्यकता है। इसके लिए चिकित्सकों, पैरामेडिक्स तथा अन्य चिकित्सा कॢमयों को अधिक से अधिक संख्या में प्रशिक्षित कराया जाए। उन्होंने कहा कि सभी कोविड अस्पतालों में एचएफएनसी (हाई फ्लो नेजल कैन्युला), दवाई आदि सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की निरन्तर उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी कोविड अस्पतालों में पीपीई किट, मास्क, ग्लव्ज, सेनिटाइजर आदि की उपलब्धता निरन्तर बनी रहे। कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति निरन्तर बनाये रखने की प्रभावी व्यवस्था की जाए। ऑक्सीजन की उपलब्धता 48 घण्टे के बैकअप के साथ रहनी चाहिए। हर जगह पर ऑक्सीजन प्लाण्ट पूरी क्षमता के साथ चलाये जाएं तथा ऑक्सीजन की कालाबाजारी हर हाल में रोकी जाए। ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड-19 के टेस्ट की संख्या 75 लाख से अधिक होने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग की संख्या को एक करोड़ तक ले जाना है। इसी के साथ भरोसा जताया कि 30 सितंबर से पहले उत्तर प्रदेश दो करोड़ टेस्ट करने वाला पहला राज्य होगा। अब प्रतिदिन दो लाख टेस्ट करने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि निरन्तर अधिक से अधिक टेस्ट किये जाएं। अब तो जितने अधिक टेस्ट किये जाएंगे, कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार पर उतना ही प्रभावी नियंत्रण किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आमजनता को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं सुलभ कराने के लिए कृत-संकल्प हैं। प्रदेशवासियों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव व उपचार के लिए राज्य सरकार हर सम्भव कदम उठाया रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए इसके प्रति पूरी सावधानी बरते जाने की आवश्यकता है। इसे ध्यान में रखते हुए कोविड-19 से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम निरन्तर संचालित किये जाएं।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» प्रवासी मजदूरों के सामने पेट भरने का संकट, ध्यान दे सरकार - मायावती

» प्रतिभाशाली सुदीक्षा के माता-पिता से मिले CM योगी आदित्यनाथ, नाम पर प्रेरणा स्थल और लाइब्रेरी

» गांवो में दबंगों ने किसान की फसल किया नष्ट

» भारतीय किसान यूनियन जनशक्ति युवा प्रदेश अध्यक्ष ने युवाओं को दिलाई सदस्यता

» अज्ञात युवक का शव सलेमपुर रेगुलेटर में मिला

 

नवीन समाचार व लेख

» CM योगी आदित्यनाथ का लखनऊ तथा अन्य पांच शहरों में सतर्कता बरतने का निर्देश

» प्रतिभाशाली सुदीक्षा के माता-पिता से मिले CM योगी आदित्यनाथ, नाम पर प्रेरणा स्थल और लाइब्रेरी

» गांवो में दबंगों ने किसान की फसल किया नष्ट

» भारतीय किसान यूनियन जनशक्ति युवा प्रदेश अध्यक्ष ने युवाओं को दिलाई सदस्यता

» अज्ञात युवक का शव सलेमपुर रेगुलेटर में मिला