यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी में अब और आसान होगा उद्योग लगाना व चलाना, एनओसी की संख्या 43 से 21 करने पर सहमति


🗒 सोमवार, सितंबर 14 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
यूपी में अब और आसान होगा उद्योग लगाना व चलाना, एनओसी की संख्या 43 से 21 करने पर सहमति

औद्योगिक सुधारों की ओर तेजी से कदम बढ़ाते हुए उत्तर प्रदेश ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में इस वर्ष दूसरा स्थान हासिल किया है। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि इसमें और बेहतर किया जाए। प्रदेश में उद्योगों की स्थापना और संचालन को सहज-सरल बनाने के लिए लाइसेंस-एनओसी की संख्या 43 से घटाकर 21 किए जाने पर सहमति बनी है। साथ ही सीएम योगी ने लगभग सभी सेवाओं को ऑनलाइन करने के लिए विभिन्न विभागों के लिए समय सीमा भी तय कर दी है।ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को लोकभवन में समीक्षा बैठक की। इन्वेस्ट यूपी द्वारा एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया, जिसके अनुसार उत्तर प्रदेश में उद्योग संचालन के लिए वर्तमान में अपेक्षित 43 लाइसेंस/अनापत्ति प्रमाण पत्रों को घटाकर लगभग 21 करना संभावित है। इसके लिए पर्यावरण विभाग, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग, श्रम विभाग और खाद्य एवं रसद (बाट एवं माप) विभाग ने सहमति व्यक्त की। इस पर सीएम योगी ने निर्देश दिए कि यह चारों विभाग कार्ययोजना को जल्द लागू करें, जिससे प्रदेश में उद्योग संचालन को और सुगम बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को और बेहतर बनाने के लिए जरूरी है कि निवेशक व आमजन को व्यवस्थाओं का लाभ एक क्लिक पर मिले। इसके लिए लाइसेंस प्रक्रिया का पूरी तरह सरलीकरण करना जरूरी है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि अपर मुख्य सचिव व प्रमुख सचिव अपने-अपने विभाग की ऑनलाइन सेवाओं को और मजबूत करें। एनओसी के लिए फीस जमा करने की व्यवस्था को सिंगल विंडो पोर्टल निवेश मित्र से जोड़ें। सभी प्रकार की एनओसी तत्काल उपलब्ध कराने के लिए 30 सितंबर तक व्यवस्थाओं को ऑनलाइन किया जाए। भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग 20 सितंबर तक, आबकारी विभाग इस माह के अंत तक सुधार लागू कर प्रक्रिया ऑनलाइन करें।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि अक्टूबर, 2020 तक फिल्म बंधु को निवेश मित्र पोर्टल से लिंक कर दिया जाए। नगर विकास विभाग निवेशकों को ऑनलाइन सेवाएं देने के लिए तेजी से कार्ययोजना बनाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण विभाग नर्सिंग होम, अल्ट्रासाउंड आदि सेवाएं 15 अक्टूबर तक ऑनलाइन करे। इस अवसर पर मुख्य सचिव आरके तिवारी सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।30 अक्टूबर तक केंद्र को भेज दें रिपोर्ट : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग ने बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के आगामी चरण के लिए विभिन्न सुधार सुझाए हैं। सुधारों को लागू कर भारत सरकार को 30 अक्टूबर, 2020 तक रिपोर्ट भेज दें।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अब मुगल नहीं, छत्रपति शिवाजी के नाम पर होगा आगरा म्यूजियम - सीएम योगी

» लखनऊ में बिजली विभाग का छापा, 36 लाख जुर्माना

» यूपी की आठ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में भाजपा ही नहीं विपक्ष की भी परीक्षा

» CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश दवा तथा ऑक्सीजन उपलब्धता की रोज जानकारी दें ड्रग कंट्रोलर

» पूर्व राज्यपाल व पूर्व CM कल्याण सिंह व शामली के MLA तेजेंद्र निर्वाल कोरोना संक्रमित

 

नवीन समाचार व लेख

» विकास दुबे के साथी अमर दुबे की पत्नी कानपुर से बाराबंकी शिफ्ट

» लखनऊ में बिजली विभाग का छापा, 36 लाख जुर्माना

» यूपी की आठ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में भाजपा ही नहीं विपक्ष की भी परीक्षा

» CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश दवा तथा ऑक्सीजन उपलब्धता की रोज जानकारी दें ड्रग कंट्रोलर

» पूर्व राज्यपाल व पूर्व CM कल्याण सिंह व शामली के MLA तेजेंद्र निर्वाल कोरोना संक्रमित