यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

स्वास्थ्य मंत्री झलकारी बाई हॉस्‍प‍िटल में पहुंचे, कहा-कोरोनाकाल ने हमें बहुत कुछ स‍िखाया


🗒 शुक्रवार, सितंबर 18 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
स्वास्थ्य मंत्री झलकारी बाई हॉस्‍प‍िटल में पहुंचे, कहा-कोरोनाकाल ने हमें बहुत कुछ स‍िखाया

इतने छोटे से परिसर में एक-एक इंच को बहुत ही अच्छी तरह से विकसित करके मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है और अभी भी किसी तरह से बेड बढ़ाए जाने के प्रयासों में हॉस्पिटल प्रशासन पूरी तरह से लगा हुआ है। सीमित जगह होने के बाद भी सभी मरीजों को इलाज मुहैया कराया जाता है। ऐसे में, इमरजेंसी कॉम्प्लेक्स बनने से गंभीर परिस्थिति में भी मरीजों को वापस नहीं जाना पड़ेगा और उचित समय पर उनको इलाज मिलेगा। ये बातें स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने शुक्रवार को झलकारीबाई अस्पताल के नवनिर्मित इमरजेंसी कॉम्प्लेक्स के उद्घाटन के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि कहीं।उन्होंने कहा कि कोविड महामारी ने हमें बहुत कुछ सिखा दिया है। कोरोना ने स्वास्थ्य विभाग को और अधिक सुदृढ़ करने के रास्ते दिखाएं हैं। स्वास्थ्य विभाग में आज जो भी इंफ्रास्ट्रक्चर हैं, उनको बढ़ाने की नहीं बल्कि ठीक करने की जरूरत है। हालांकि, जिला अस्पतालों व सीएचसी में मैन पॉवर, पैरामेडिकल स्टाफ, उपकरण आदि को बढ़ाए जाने की आवश्यकता है। अन्य प्रदेशों की अपेक्षा यूपी ने कोविड का बहुत अच्छा प्रबंधन किया है। मार्च में जहां करीब 700 टेस्ट होते थे, वहीं आज एक लाख 55 हजार 482 टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं। कोविड के साथ ही हम मलेरिया, जेई, पोषण माह और दस्तक कार्यक्रम आदि भी कर रहे हैं।इस मौके पर सीएमएस डॉ. सुधा वर्मा ने बताया कि अस्पताल में इमरजेंसी कॉम्प्लेक्स का काम पिछले दो साल से चल रहा था। हालांकि, अस्पताल में पिछले दो साल से तैयार इमरजेंसी कॉम्प्लेक्स को सेंट्रल एसी के बिना ही शुरू करना पड़ा है। अस्पताल में सीमित जगह होने की वजह से छोटे लेबर रूम और ओटी में मरीजों के इलाज में मुश्किल होती थी। ऐसे में नवनिर्मित इमरजेंसी पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड, इमरजेंसी लेबर रूम, इमरजेंसी ओटी बनने से मरीजों को राहत मिलेगी। पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में आठ बेड होंगे। वहीं, अस्पताल प्रशासन आगे भी बहुत सी नई सुविधाओं के लिए काम कर रहा है, जो जल्द ही धरातल पर होंगी।इस मौके पर अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉ. अनूप कुमार, सीएमओ डॉ. आरपी सिंह, सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दुबे सहित अन्य डॉक्टर व चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश में त्योहारों से जुड़े आयोजनों पर होगा पुलिस का कड़ा पहरा, डीजीपी ने जारी की गाइडलाइन

» लखनऊ नगर निगम में बदतर कूड़ा प्रबंधन और सीवरेज योजना पर पार्षदों का गुस्सा फूटा

» 69000 शिक्षक भर्ती में 31277 की सूची जारी, 16 अक्टूबर को मिलेगा नियुक्ति पत्र

» लखनऊ के ऐशबाग धोबीघाट में तन के कपड़ोंं को छोड़कर सब कुछ हो गया राख

» लखनऊ में फैला टप्पेबाजों का मकड़जाल