यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश-लखनऊ सहित अन्य शहरों में सुदृढ़ हो उपचार व्यवस्था


🗒 शनिवार, सितंबर 19 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश-लखनऊ सहित अन्य शहरों में सुदृढ़ हो उपचार व्यवस्था

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के उत्तर प्रदेश में बढ़ते मामलों को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के साथ कोविड-19 तथा अनलॉक-4.0 की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को लखनऊ के साथ अन्य प्रमुख शहरों में उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने का निर्देश दिया है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण के नियंत्रण एवं उपचार की व्यवस्था को प्रभावी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में मृत्यु की दर कम और रिकवरी दर अच्छी है। यहां पर सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता के साथ बैकअप की व्यवस्था भी रहनी चाहिए। यह भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि ऑक्सीजन निर्धारित मूल्य पर ही उपलब्ध हो।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, झांसी, अयोध्या, मेरठ तथा गोरखपुर की विशेष मॉनिटरिंग करते हुए। इन जिलों में उपचार व्यवस्था सुदृढ़ की जाए। ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए। कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूकता अभियान जारी रखा जाए। मेडिकल टेस्टिंग, डोर-टू-डोर सर्वे तथा कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। उन्होंने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य से जनपद कानपुर नगर की स्थिति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि अब कानपुर नगर में शत-प्रतिशत कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है।मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ई-संजीवनी एप के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही ओपीडी सुविधा काफी उपयोगी सिद्ध हो रही है। ज्यादा से ज्यादा लोग इस सेवा से लाभान्वित हो सके, इसके दृष्टिगत ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूकता अभियान जारी रखा जाए। इसके लिए प्रचार के विभिन्न साधनों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भी व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाए।मुख्यमंत्री जी ने मेडिकल टेस्टिंग, डोर-टू-डोर सर्वे तथा कॉन्टैक्ट टेऊसिंग के कार्य को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाया रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि चिकित्सक एवं नॄसग स्टाफ नियमित राउण्ड लें। पैरामेडिक्स मरीजों की गहन मॉनिटरिंग की जाए। एम्बुलेंस सेवाओं को प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए।सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ इस समीक्षा बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव पंचायती राज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» उपभोक्ता ने सुनाई प्रताड़ना की दास्ता, ऊर्जा मंत्री ने मध्यांचल एमडी से मांगी हर मामले की रिपोर्ट

» प्रो. एके सिंह बने लोहिया संस्थान के कार्यवाहक निदेशक, हटाई गईं प्रो नुजहत हुसैन

» शादी का झांसा देकर बुलाया मिलने को, पिज्जा में नशीला पदार्थ खिलाकर किया दुष्कर्म

» यूपी व‍िधानभवन के बाहर खुद को आग के हवाले करने वाली महिला की मौत

» उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित 90 फीसद से ज्यादा रोगी स्वस्थ

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रो. एके सिंह बने लोहिया संस्थान के कार्यवाहक निदेशक, हटाई गईं प्रो नुजहत हुसैन

» केंद्रीय मंत्रिमंडल ने स्टार्स प्रोजेक्ट को दी मंजूरी, J&K व लद्दाख के लिए 520 करोड़ रुपए के विशेष पैकेज पर भी मुहर

» उन्नाव में सामने आया अनोखा किस्सा, जिसकी हत्या में बेगुनाह जेल गया वह महाराष्ट्र में जिंदा मिली

» बिकरू मामले में इनामी उमाशंकर ने पुलिस को चकमा देते हुए न्यायालय पहुंचकर किया आत्मसमर्पण

» हमीरपुर में रानी लक्ष्मीबाई तिराहे के पास स्थित होटल में घुसा मौरंग भरा ट्रक