यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ मे बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव कर रहे प्रशिक्षुओं पर लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा


🗒 शनिवार, अक्टूबर 17 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ मे  बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव कर रहे प्रशिक्षुओं पर लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

लखनऊ, बीएलएड और बीटीसी प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग को लेकर शुक्रवार देर रात बेसिक शिक्षा निदेशालय घेराव करने पहुंचे। इस दौरान पुलिस ने प्रशिक्षुओं को दौड़ा-दौड़कर पीटा। पुलिस की लाठी से बचने के लिए कोई गलियों में घुसा तो कोई किसी के घरों और दुकानों में दुपक गया। पुलिस ने वहां से भी उनको पीटकर खदेड़ दिया। आरोप है कि लाठीचार्ज में महिला प्रशिक्षुओं के कपड़े फट गए। प्रशिक्षु घायल हो गए उन्हें अस्पताल ले जाया गया।ईको गार्डेन में 12 अक्टूबर से प्रमोशन की मांग को लेकर धरने पर बैठे बीएलएड और बीटीसी की महिला और पुरुष प्रशिक्षु शुक्रवार रात टुकड़ो-टुकड़ो में वहां से निकलकर निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशालय पहुंचे। यहां डीएलएड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा संघ के प्रदेश अध्यक्ष रजत सिंह की अगुवाई में सभी प्रदर्शन और नारेबाजी कर रहे थे। पुलिस को इसकी भनक लगी तो महानगर समेत कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस ने प्रशिक्षुओं को हटाने का प्रयास किया तो उनकी नोकझोंक शुरू हो गई। जिसके बाद धक्का-मुक्की हुई। प्रदेश अध्यक्ष रजत सिंह का आरोप है कि इस बीच पुलिस ने प्रशिक्षुओं पर लाठी-चार्ज कर दिया। लाठी से बचने के लिए महिला और पुरुष प्रशिक्षु भागे तो पुलिस ने उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया। जान बजाकर अभ्यर्थी घरों, गलियों और दुकानों में घुस गए। पुलिस ने वहां भी उन्हें पीटा। लाठीचार्ज में अंकित पटेल, राजेश, मिनाक्षी समेत 10-12 प्रशिक्षु घायल हो गए। घायलों को एक दूसरे की मदद से वह अस्पताल लेकर पहुंचे।मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रजत सिंह का आरोप है कि पुलिस ने उनके मोबाइल भी छीन लिए। इसके साथ ही महिलाओं को भी लाठियों से पीटा जिससे उनके कपड़े तक फट गए। वह जान बचाकर भागे और निशातगंज गली नंबर चार और पड़ोस स्थित एक पार्क में बैठ गए। पुलिस वहां भी पहुंची और उन्हें खदेड़ दिया। अंकित ने बताया कि वह 12 अक्टूबर को प्रमोशन की मांग को लेकर बेसिक शिक्षा मंत्री के आवास पर पहुंचे थे। वहां से उन्हें आश्वासन देकर ईको गार्डेन भेज दिया गया। शुक्रवार रात वह निदेशालय पहुंचे शांति पूर्वक धरना दे रहे थे, तभी पुलिस ने लाठीचार्ज कर दी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» महोबा के बाद अब चंदौली पुलिस की वसूली का खुला खेल, विजिलेंस जांच में सामने आया भ्रष्टाचार

» महिला अपराधों पर एक्शन में योगी सरकार, 1388 संगीन घटनाओं में आरोपितों को मिली सजा

» बाराबंकी में पीड़ित परिवार से मिलेगा सपा प्रतिनिधिमंडल

» लखनऊ मे डीजल चोरी की फाइल सात माह दबाना पड़ा महंगा, ARM निलंबित

» जल्द दिलाएं ओले गिरने से क्षति की भरपाई के लिए धनराशि - सीएम योगी

 

नवीन समाचार व लेख

» महिला अपराधों पर एक्शन में योगी सरकार, 1388 संगीन घटनाओं में आरोपितों को मिली सजा

» बाराबंकी में पीड़ित परिवार से मिलेगा सपा प्रतिनिधिमंडल

» लखनऊ मे डीजल चोरी की फाइल सात माह दबाना पड़ा महंगा, ARM निलंबित

» लखनऊ मे बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव कर रहे प्रशिक्षुओं पर लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

» जल्द दिलाएं ओले गिरने से क्षति की भरपाई के लिए धनराशि - सीएम योगी