यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का आरोप- भाजपा राज में चारों तरफ भय और भ्रम का वातावरण


🗒 रविवार, अक्टूबर 25 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का आरोप- भाजपा राज में चारों तरफ भय और भ्रम का वातावरण

लखनऊ,समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा राज का परिचय अन्याय, अत्याचार, भ्रष्टाचार और चारों तरफ भय, भ्रम का वातावरण हो गया है। बांदा में अध्यापक के आठ वर्ष के बालक का अपहरण और हत्या की घटना विचलित करने वाली है। फीरोजाबाद में 16 वर्ष की किशोरी की घर में घुसकर हत्या कर दी गई। रोज ही ऐसी घटनाएं सामने आती हैं।सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि हत्या, लूट, अपहरण और दुष्कर्म का बोलबाला है। बेतहाशा महंगाई, अवरुद्ध विकास, बेकारी, किसानों की बर्बादी से जिंदगी दूभर हो गई है। फर्जी एनकाउंटर, निर्दोषों के जीवन से खिलवाड़ पर कोई अफसोस नहीं। बच्चियों के साथ आए दिन दुष्कर्म की घटनाओं से हर परिवार दहला हुआ है।सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्ता संरक्षित दबंगों का हर तरफ आतंक है। अपराधी अब पुलिस पर भी हाथ उठाने से नहीं चूक रहे हैं। पीलीभीत में तीन सिपाहियों को पीटने के बाद उन्हें विधायक निवास के बाहर अधमरा छोड़े जाने की शर्मनाक घटना घटी है। ऐसी पुलिस जनता की सुरक्षा कैसे करेगी। प्रदेश में खनन माफिया अपनी अलग ही सत्ता चला रहे हैं। सरकार के बड़े-बड़े नेताओं के संरक्षण में खनिज का काला धंधा चलता है। इस धंधे पर अंगुली उठाते ही माफिया, सत्ताधीश और अफसरशाही का त्रिकोण सक्रिय हो जाता है। कई पत्रकार और राजनीतिक कार्यकर्ता इसमें अपनी जान गंवा बैठे हैं।सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि अब अस्पतालों में भी पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील रवैया अपनाया जा रहा है। नोएडा की सूरजपुर कालोनी क्षेत्र में एक आठ वर्ष की बालिका दुष्कर्म की शिकार बनी। पीड़िता को चार घंटे तक अस्पताल में बैठाए रखा गया। वह लगातार कराहती रही, किसी ने उसकी सुध नहीं ली।उन्होंने कहा कि भाजपा राज में दलितों पर अत्याचार काफी बढ़ गए हैं। जिला हमीरपुर के कुरारा थाना क्षेत्र के ग्राम खरौंज निवासिनी सावित्री पत्नी स्वर्गीय भोला दलित बाल्मीकि समाज से है। पीड़िता ने अपनी व्यथाकथा समाजवादी पार्टी कार्यालय लखनऊ में आकर लिख कर दी है। उसका कहना है कि गांव के सवर्णों से झगड़े के फलस्वरूप उसके पति भोला बाल्मीकि की सुनियोजित तरीके से हत्या करा दी गई। पुलिस के रवैये से तंग होकर अनुसूचित जाति आयोग में भी प्रार्थना पत्र दिया है पर सही विवेचना नहीं हो रही है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» दिल्ली में आतंकी पकड़े जाने पर उत्तर प्रदेश में अलर्ट

» आशीष मिश्रा मोनू के मित्र अंकित दास का ड्राइवर शेखर भारती गिरफ्तार

» आक्सीजन प्लांट लगवाने के नाम पर लाखों की ठगी

» मुख्यमंत्री आवास के सामने मैनपुरी के युवक ने पीया जहर

» आशीष मिश्रा मोनू से क्राइम ब्रांच व एसआइटी ने शुरू की पूछताछ