यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले पुलिस ने कसी कमर, अपराधियों के 58 गिरोह रजिस्टर्ड


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले पुलिस ने कसी कमर, अपराधियों के 58 गिरोह रजिस्टर्ड

लखनऊ  उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर बढ़ती राजनीतिक सरगर्मियों के बीच पुलिस ने सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है। उपचुनाव से पहले अवैध शराब के कारोबारियों के साथ ही पुलिस की निगाहें अपराधियों पर भी हैं। उपचुनाव से पहले सूबे में अपराधियों के 58 नए गिरोह भी पंजीकृत किए गए हैं। उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेशचंद्र अवस्थी ने उपचुनाव के दौरान मतदान स्थलों पर सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर भी विस्तृत निर्देश जारी किए हैं। उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेशचंद्र अवस्थी के निर्देश पर 10 अक्टूबर से विशेष अभियान के तहत अवैध शराब के कारोबारियों व अपराधियों पर कार्रवाई जा रही है। इस कड़ी में पुलिस ने नए पंजीकृत गिरोह से जुड़े 133 अपराधियों को अब तक गिरफ्तार भी किया है। पुलिस ने गुंडा एक्ट के तहत 62 मामले दर्ज कर 1527 आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई की है। इसके अलावा गैंगेस्टर एक्ट के 189 मामलों में 649 आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। एनएसए के तहत भी 13 आरोपितों पर शिकंजा कसा गया है।डीजीपी हितेशचंद्र अवस्थी के निर्देश के तहत उपचुनाव के दौरान हर विधानसभा क्षेत्र में तीन-तीन कंपनी अर्द्धसैनिक बल भी तैनात रहेगा। इसके अलावा जोन स्तर से संबंधित जिलों को अतिरिक्त पुलिस बल दिया जा रहा है। चुनाव में करीब 60 कंपनी पीएसी भी मदतान केंद्रों व उसके आसपास मुस्तैद रहेगी। डीजीपी ने खासकर सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखे जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने उपचुनाव के दौरान किसी तरह के आपत्तिजनक संदेश वायरल कर माहौल बिगाड़ने का प्रयास करने वालों पर भी तत्काल कठोर कार्रवाई करने को कहा है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» किसान संगठनों का रेल रोको आंदोलन 18 को यूपी में अलर्ट

» लखनऊ में बीच चौराहे बुलेट सवार ने युवती को जड़ा थप्पड़

» ध्यांचल डिस्काम के बिजली आशुलेखकों का चतुर्थ वार्षिक सम्मेलन

» थाने के मुंशी को घूंसा मार कर भागा अपराधी हुक्की गिरफ्तार

» उत्तर प्रदेश में मतांतरण बढ़ाने के लिए विदेश से फंडिंग