यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गुंडे-माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द - सिद्धार्थनाथ सिंह


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
गुंडे-माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द - सिद्धार्थनाथ सिंह

लखनऊ ,समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के कामकाज पर की गई टिप्पणी पर सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री एवं सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने पलटवार किया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बयान जारी कर गुंडे-माफिया को लेकर गंभीर आरोप लगाए। साथ ही विकास को लेकर अपने सवाल दागे।यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि योगी सरकार अपराधियों और गुंडों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। इन आपराधिक प्रवृत्ति के तत्वों ने अवैध कब्जे कर रखे थे। बिना नक्शे के निर्माण कार्य करा रखा था। सपा सरकार इन तत्वों को संरक्षण दे रही थी, इसीलिए सपा अध्यक्ष को इन आपराधिक प्रवृृत्ति के लोगों के अवैध कब्जे पुश्तैनी लगते हैं। गुंडों और माफिया के खिलाफ की जा रही कड़ी कार्रवाई पर अखिलेश यादव को दर्द होना हैरानी पैदा करता है।सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ऐसा चश्मा पहन रखा है कि उन्हें राज्य सरकार के काम दिखाई नहीं पड़ते, अखिलेश यादव की ताजा बयानबाजी भी इसी बात का जीता-जागता उदाहरण है।सिद्धार्थनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया। सपा सरकार के मुकाबले प्रदेश की वर्तमान सरकार ने किसानों से एमएसपी पर आठ गुना अधिक उपज की खरीद की, लेकिन अखिलेश को यह दिखाई नहीं पड़ता।मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में उत्तर प्रदेश अव्वल है। प्रदेश में चार लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के लिए एमओयू हुए थे। इसमें से दो लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश जमीन पर उतारा गया है। एक लाख करोड़ रुपये के निवेश को धरातल पर उतारने का काम हो रहा है। कोरोना काल में भी दस देशों ने राज्य में सात हजार करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव दिया है। अखिलेश को अपने जादुई चश्मे के कारण यह भी दिखाई नहीं पड़ता। सपा प्रमुख अपने गिरेबां में झांकें और प्रदेश की जनता को बताएं कि उनके कार्यकाल में कितने एमओयू हुए और उनका क्या नतीजा रहा।बता दें कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है। इसके लिए मुख्यमंत्री व उनकी सरकार जिम्मेदार है। प्रदेश में आए दिन घटनाएं हो रही हैं और सरकार केवल अपराध के आंकड़े छुपाने का काम कर रही है। कहा कि प्रदेश सरकार ने दो बार इन्वेस्टर्स समिट में चार लाख करोड़ से ज्यादा के एमओयू होने के दावे किए थे। इसमें कितना निवेश आया इसकी जानकारी सरकार को देनी चाहिए। यह झूठी सरकार है। इसे हटाने के लिए हमारे साथ बहुत सारे लोग शामिल हो रहे हैं। आने वाले समय में देश की राजनीति का भी भविष्य उत्तर प्रदेश तय करेगा। अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार द्वारा पुश्तैनी मकानों पर बुलडोजर चलाए जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि कोई मुझे यह बताए कि मुख्यमंत्री आवास का नक्शा पास है या नहीं ?