यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

'मिशन शक्ति' में उत्तर प्रदेश सरकार के साथ आए औद्योगिक संगठन, महिला सुरक्षा के लिए जताई प्रतिबद्धता


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
'मिशन शक्ति' में उत्तर प्रदेश सरकार के साथ आए औद्योगिक संगठन, महिला सुरक्षा के लिए जताई प्रतिबद्धता

लखनऊ , उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा चलाए जा रहे मिशन शक्ति अभियान में औद्योगिक संगठन भी सहभागी बनकर सामने आए हैं। संगठनों ने कार्यस्थल पर महिला सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता जताई है। वहीं, प्रदेश भर में जागरुकता कार्यक्रम के साथ ही महिला हेल्पडेस्क भी स्थापित की गई हैं।प्रदेश सरकार ने 17 अक्टूबर को मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत की थी। इसका एक उद्देश्य कार्यस्थल पर महिलाओं की सुरक्षा भी था। सरकार का मानना है कि कार्यस्थलों पर महिलाओं की सुरक्षा से देश और प्रदेश का आर्थिक विकास भी होगा, क्योंकि सुरक्षा की भावना के साथ उनका योगदान रचनात्मक कार्यों में अधिकाधिक हो सकेगा। इसी भावना के साथ पिछले दस दिनों में इस मिशन के तहत विभिन्न स्थानों पर अनेक जागरुकता कार्यक्रम किए गए। सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक, तमाम औद्योगिक संगठन, इकाइयों और व्यापार संगठनों ने इसमें हिस्सा लेकर महिला सुरक्षा का संदेश मुखर ढंग से दिया।औद्योगिक विकास विभाग की भागीदारी से कई व्यापारिक संगठनों ने भी इसका समर्थन किया। सोशल मीडिया पर भी सरकार के प्रयासों की सराहना की गई। इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (आइआइए) ने अपने ट्वीट में कहा- हम नौ दिन शक्ति की पूजा करते हैं। आइआइए इस अवसर पर सरकार के महिलाओं की सुरक्षा, सशक्तीकरण और कार्यस्थल पर स्वस्थ माहौल के लिए अभिनव प्रयास 'मिशन शक्ति' के साथ है। सीआइआइ, फिक्की, एसोचैम, पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स, लघु उद्योग भारती, रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया, नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया और अन्य संगठनों ने इसमें सक्रिय रूप से भागीदारी की।इसी बीच बाराबंकी में मंगलवार को महिला कल्याण विभाग और यूनिसेफ ने बीपी इंटर कॉलेज में एक जागरुकता कार्यक्रम किया, जिसमें छात्राओं को कन्या सुमंगला योजना, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के साथ ही महिला हेल्पलाइन नंबर 181, 1098, 1090, 112 और 1076 के बारे में जानकारी दी गई। उन्हें आत्मरक्षा का प्रशिक्षण भी दिया गया। इससे पहले सोमवार को बाराबंकी की छह तहसील और बारह ब्लॉक में महिला हेल्पडेस्क शुरू की गई थीं। हरदोई की सभी तहसीलों में, मैनपुरी के सभी 14 थानों में हेल्पडेस्क बन चुकी हैं। इसके अलावा बरेली व मीरजापुर के आश्रम पद्धति विद्यालयों और गाजियाबाद में भी अनेक जागरुकता कार्यक्रम हुए।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» आशीष मिश्रा मोनू के मित्र अंकित दास का ड्राइवर शेखर भारती गिरफ्तार

» आक्सीजन प्लांट लगवाने के नाम पर लाखों की ठगी

» मुख्यमंत्री आवास के सामने मैनपुरी के युवक ने पीया जहर

» आशीष मिश्रा मोनू से क्राइम ब्रांच व एसआइटी ने शुरू की पूछताछ

» अमिताभ ठाकुर को 25 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया जेल