यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कंसल्टेंसी एजेंसी की आड़ में फर्जी जॉब लेटर देकर ठगी


🗒 गुरुवार, अक्टूबर 29 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कंसल्टेंसी एजेंसी की आड़ में फर्जी जॉब लेटर देकर ठगी

लखनऊ, शहर में सरकारी और प्राइवेट नौकरी के नाम पर ठगी के रोज नए केस आ रहे हैं। कंसल्टेंसी एजेंसी पहले तैयारी कर रहे छात्रों से पहले रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे लेती हैं, फिर अच्छी नौकरी दिलाने के नाम पर । ऐसे ही पिछले दिनों जानकीपुरम में एक कंसल्टेंसी एजेंसी ने बीटेक छात्र को नौकरी दिलाने के नाम पर एक लाख रुपये ले लिए। पुलिस पीड़ित की शिकायत पर मामले की जांच कर रही है।सीतापुर के रामपुर निवासी बीटेक छात्र ने परिवारीजन से छुपाकर नौकरी के नाम पर जानकीपुरम सहारा स्टेट के पास स्थित एक कंसल्टेंसी को 22 दिसंबर 2019 को पैसा दिया। नौकरी न मिलने पर दबाव बनाने पर फरवरी में एक प्राइवेट बैंक का नियुक्ति पत्र दे दिया। बैंक जाने पर पता चला कि नियुक्ति पत्र फर्जी है। पुलिस से शिकायत करने की बात कहने पर पैसा वापस करने को कहा। सितंबर 2020 को पुलिस से शिकायत की।कसंल्टेंसी की आड़ में कंपनी केवल नौकरी की जानकारी ही नहीं दे रहे थे, बल्कि प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में अच्छी तनख्वाह पर नौकरी लगवाने की गारंटी देते। यह लोग एक कार्यालय खोलकर बेरोजगारों लोगों को एजेंट के माध्यम से फंसाते हैं। जिन्हें शहर व विदेश में मोटी कमाई का लालच देकर ठगी करते। यहां तक इनसे जांच व कागज पूरे कराने के नाम से 50 हजार से एक लाख रुपये लेते हैं।

 

 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» हिंसा में क्रास एफआइआर, 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

» इंटरनेट मीडिया साइट्स वाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम सर्विस डाउन

» सामुदायिक केंद्र ध्वस्त किए जाने पर जमकर हंगामा

» नौकरी के नाम पर बेरोजगारों से ठगी करने वाला गिरफ्तार

» निर्माणाधीन मकान के बेसमेंट की दीवार ढही, एक की मौत