यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विधान परिषद की 11 सीटों के लिए 55.47 फीसद मतदान, लखनऊ स्नातक खंड सीट पर सबसे कम मतदान


🗒 मंगलवार, दिसंबर 01 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
विधान परिषद की 11 सीटों के लिए 55.47 फीसद मतदान, लखनऊ स्नातक खंड सीट पर सबसे कम मतदान

लखनऊ,उत्तर प्रदेश विधान परिषद की स्नातक व शिक्षक कोटे की 11 सीटों के लिए मंगलवार को हुए चुनाव में 55.47 फीसद वोट पड़े। सुबह आठ बजे से सांय पांच बजे तक वोटिंग में गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक सीट पर सबसे अधिक 73.94 फीसद मतदान हुआ। सबसे कम वोट लखनऊ खंड स्नातक सीट पर 36.74 प्रतिशत पड़े। विधान परिषद में लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ व इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक के अलावा लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ, बरेली-मुरादाबाद व गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक सीट के लिए मंगलवार सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ। शुरुआती दो घंटे में मतदान की रफ्तार बेहद सुस्त रही। सुबह 10 बजे मात्र छह फीसद मतदान हुआ। इसके बाद जैसे-जैसे सूरज की तपिश बढ़ती गई, मतदान में भी तेजी आ गई। दोपहर 12 बजे तक 20 फीसद व दोपहर दो बजे तक 38 फीसद से अधिक मतदान हुआ। शाम चार बजे तक 52.41 प्रतिशत वोट पड़ गए थे। मतदान में सबसे अधिक सुस्ती नवाबों के शहर लखनऊ की खंड स्नातक सीट पर देखी गई। यहां पूरे प्रदेश में सबसे कम मतदान हुआ।कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मियों व मतदाताओं की सुरक्षा के लिए थर्मल स्कैनर, हैंड सैनिटाइजर, ग्लव्ज, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी। पांच खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 12,69,817 मतदाताओं के लिए 1808 मतदेय स्थल बनाए गए थे। खंड शिक्षक की छह सीटों में कुल 2,06,335 मतदाताओं के लिए 813 मतदेय स्थल बने थे। चुनाव पर नजर रखने के लिए 11 प्रेक्षक, 952 सेक्टर मजिस्ट्रेट व 413 जोनल मजिस्ट्रेट तैनात किए गए थे। साथ ही प्रत्येक मतदेय स्थल पर माइक्रो ऑब्जर्वर भी लगाए गए थे। चुनाव के लिए कुल 12,319 मतदान कर्मी लगाए गए थे।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सचिवालय में नौकरी चाहिए तो कैश तैयार रखो...ऊंची पहुंच बताकर ऐंठे तीन लाख से ज्‍यादा

» बिकरू कांड में एसआइटी की सिफारिश पर ED करेगी विकास की 150 करोड़ की संपत्ति की जांच

» यूपी में कोरोना काल में पैरोल पर छोड़े गए 1367 सजायाफ्ता बंदी नहीं लौटे जेल, अब तलाश में जुटी पुलिस

» यूपी में भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस का बढ़ा दायरा, दस माह में पुलिसकर्मियों पर भ्रष्टाचार के 42 मुकदमे

» आज से लखनऊ में होगी बैंड-बाजा वालों की कोरोना जांच

 

नवीन समाचार व लेख

» रायबरेली में सात फेरे लेते ही दूल्‍हे ने रख दी ऐसी मांग, दुल्‍हन के भाई ने किया इन्‍कार

» सचिवालय में नौकरी चाहिए तो कैश तैयार रखो...ऊंची पहुंच बताकर ऐंठे तीन लाख से ज्‍यादा

» बिकरू कांड में एसआइटी की सिफारिश पर ED करेगी विकास की 150 करोड़ की संपत्ति की जांच

» यूपी में कोरोना काल में पैरोल पर छोड़े गए 1367 सजायाफ्ता बंदी नहीं लौटे जेल, अब तलाश में जुटी पुलिस

» यूपी में भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस का बढ़ा दायरा, दस माह में पुलिसकर्मियों पर भ्रष्टाचार के 42 मुकदमे