यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पूर्व सांसद के कहने पर डॉक्टरों ने किया था शूटर का इलाज, नर्सिंग होम संचालक समेत दो हिरासत में


🗒 सोमवार, जनवरी 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पूर्व सांसद के कहने पर डॉक्टरों ने किया था शूटर का इलाज, नर्सिंग होम संचालक समेत दो हिरासत में

लखनऊ, राजधानी लखनऊ के चर्चित अजीत हत्याकांड में नया मोड़ आ गया है। छानबीन में सामने आया है कि गैंगवार में जिस शूटर को गोली लगी थी, उसका इलाज पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद के कहने पर चिकित्सकों ने किया था। पुलिस ने सुलतानपुर के एक नर्सिंग होम संचालक समेत दो चिकित्सकों को हिरासत में लिया है। पुलिस अब पूर्व सांसद के खिलाफ शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि गोली लगने से घायल हमलावर के पास पूर्व सांसद का करीबी पहुंचा था। करीबी ने वाट्सएप कॉल के जरिये सांसद से बात की और पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी थी। इसके बाद पूर्व सांसद के कहने पर उनका करीबी गोमतीनगर विस्तार स्थित उनके फ्लैट में एक चिकित्सक को लेकर गया था, जहां शूटर का इलाज किया गया था। फ्लैट में ही शूटर को लगी गोली निकाली गई थी।इसके बाद पूर्व सांसद का करीबी हमलावर को लेकर सुलतानपुर गया था, जहां एक निजी नर्सिंग होम में उसे भर्ती किया गया था। नर्सिंग होम संचालक को भी पूर्व सांसद ने ही फोन किया था। पुलिस ने वाट्सएप कॉल का ब्योरा निकाला है। पूर्व सांसद के करीबी, इलाज करने वाले चिकित्सक और नर्सिंग होम संचालक के वाट्सएप कॉल की डिटेल से पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। पुलिस इसे ठोस आधार मान रही है। सर्विलांस के जरिये पुलिस वाट्सएप चैट का डाटा एकत्र कर रही है।पुलिस पूर्व सांसद के खिलाफ हत्या की साजिश के तहत कार्यवाही कर सकती है। पुलिस पता लगा रही है कि पूर्व सांसद ने हमलावर को पनाह दिलवाई थी या फिर वह खुद साजिश में शामिल थे। पुलिस पूर्व सांसद पर शिकंजा कसने की तैयारी भी कर रही है। वहीं, पूर्व सांसद का करीबी भी फरार है लखनऊ से अजीत की हत्या के बाद घायल शूटर छह जनवरी की देर रात ढाई बजे पूर्व सांसद के करीबी के साथ गाड़ी से निकला था। सात जनवरी की सुबह करीब पांच बजे दोनों सुलतानपुर के नर्सिंग होम में पहुंचे। दो दिन तक हमलावर नर्सिंग होम में भर्ती रहा। सीसी फुटेज में शूटर और पूर्व सांसद के करीबी कैद हुए हैं, जिसके आधार पर पुलिस छानबीन कर रही है।शूटर ने अस्पताल के रजिस्टर में गलत नाम-पता दर्ज कराया था। पुलिस ने सोमवार को नर्सिंग होम में छापेमारी कर संबंधित दस्तावेज कब्जे में ले लिया। पुलिस दोनों चिकित्सकों से पूछताछ कर रही है। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» किसानों की तबाही का जश्न मना रही भाजपा सरकार - अखिलेश यादव

» विधान परिषद चुनाव के लिए दस भाजपा और दो-दो सपा व बसपा की ओर से खरीदे गए नामांकन पत्र

» सीएम योगी आदित्यनाथ को फिर जान से मारने की धमकी

» लखनऊ में लीज पर गेस्ट हाउस दिलाने के नाम पर 31 लाख हड़पे, मुकदमा दर्ज

» लखनऊ में कार सीखने जा रही नवव‍िवाह‍िता की हादसे में मौत