यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विधान परिषद चुनाव के लिए दस भाजपा और दो-दो सपा व बसपा की ओर से खरीदे गए नामांकन पत्र


🗒 सोमवार, जनवरी 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
विधान परिषद चुनाव के लिए दस भाजपा और दो-दो सपा व बसपा की ओर से खरीदे गए नामांकन पत्र

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की 12 सीटों के चुनाव के लिए सोमवार को अधिसूचना जारी हो गई। पहले दिन किसी भी प्रत्याशी ने अपना नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया। कुल 18 नामांकन पत्रों की बिक्री अवश्य हुई, जिसमें दस भारतीय जनता पार्टी की ओर से और दो-दो समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने नाम पर खरीदे गए। चार नामांकन निर्दल उम्मीदवारों ने खरीदे, जिनमें से एक विधानसभा के सेवानिवृत्त विशेष सचिव ने भी नामांकन पत्र खरीदा है। आजमगढ़ के मूल निवासी सुरेंद्र प्रताप करीब दो वर्ष पूर्व विशेष सचिव पद से सेवानिवृत हो चुके हैं।निर्वाचन अधिकारी ब्रजभूषण दूबे ने बताया कि नामांकन पत्र 18 जनवरी तक जमा कराए जा सकते हैं। 19 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच के अलावा 21 जनवरी दोपहर तीन बजे तक नाम वापसी होगी। मतदान की आवश्यकता होने पर 28 जनवरी को सुबह नौ से शाम चार बजे तक वोट डाले जाएंगे। इसी दिन शाम पांच बजे से वोटों की गिनती होगी और परिणाम घोषित होंगे। विधान भवन स्थित टंडन हाल में नामांकन पत्र दाखिल करने के समय कोरोना संक्रमण से बचाव के सभी उपाय किए गए है। निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए है। उम्मीदवारों से अपने प्रस्तावकों के अन्य समर्थकों को साथ लाने की मनाही है। विधानसभा परिसर में दो एम्बुलेंस भी मौजूद रहेगी।इनकी सीटें हो रही हैं रिक्त : उत्तर प्रदेश में 30 जनवरी को विधान परिषद की 12 सीटें रिक्त हो रही हैं। विधान परिषद में जो 12 सीट खाली हो रही हैं उनमें समाजवादी पार्टी के अहमद हसन, रमेश यादव, आशु मलिक, रामजतन राजभर, वीरेंद्र सिंह और साहब सिंह सैनी हैं। भारतीय जनता पार्टी के डॉ. दिनेश शर्मा, स्वतंत्र देव सिंह और लक्ष्मण प्रसाद आचार्य हैं। बहुजन समाज पार्टी के धर्मवीर सिंह अशोक, प्रदीप कुमार जाटव और नसीमुद्दीन सिद्दीकी का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। इनमें नसीमुद्दीन कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। उनकी विधान परिषद की सदस्यता खत्म की जा चुकी है।उम्मीदवारों को लेकर असमंजस बरकरार : नामांकन पत्र जमा कराने का काम शुरू होने के बावजूद भाजपा समेत किसी राजनीतिक दल द्वारा अपने उम्मीदवारों की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है। जिन 12 सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं, उसमें से दस पर भाजपा की दावेदारी मजबूत मानी जा रही है। सूत्रों का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व लक्ष्मण आचार्य की वापसी लगभग तय है। अन्य सात सीटों के लिए करीब दो दर्जन नामों का पैनल केंद्रीय चुनाव समिति को प्रेषित किया जा चुका है। माना जा रहा है कि 16-17 जनवरी तक भाजपा उम्मीदवारों की सूची जारी हो सकती है। वहीं समाजवादी पार्टी की ओर से सभापति रमेश यादव और दलनेता अहमद हसन का कार्यकाल भी पूरा हो रहा है, लेकिन विधायकों की संख्या को देखते हुए एक उम्मीदवार की जीत तय है। ऐसे में अहमद हसन की वापसी तय मानी जा रही है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» किसानों की तबाही का जश्न मना रही भाजपा सरकार - अखिलेश यादव

» सीएम योगी आदित्यनाथ को फिर जान से मारने की धमकी

» पूर्व सांसद के कहने पर डॉक्टरों ने किया था शूटर का इलाज, नर्सिंग होम संचालक समेत दो हिरासत में

» लखनऊ में लीज पर गेस्ट हाउस दिलाने के नाम पर 31 लाख हड़पे, मुकदमा दर्ज

» लखनऊ में कार सीखने जा रही नवव‍िवाह‍िता की हादसे में मौत