यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UP में रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों पर कसता जा रहा पुलिस का शिकंजा, खुलने लगी अवैध घुसपैठ की साजिश


🗒 शनिवार, मार्च 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
UP में रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों पर कसता जा रहा पुलिस का शिकंजा, खुलने लगी अवैध घुसपैठ की साजिश

लखनऊ । यूपी में बांग्लादेशियों व रोह‍िंग्या की अवैध घुसपैठ की परतें अब खुलने लगी हैं। एटीएस ने अब आंतरिक सुरक्षा के लिए बढ़ते खतरे को देखकर अपनी जांच का दायरा बढ़ाना शुरू कर दिया है। पहली बार पुलिस ने हाथ आए ठोस साक्ष्यों के आधार पर अन्य जांच एजेंसियों के साथ मिलकर अपनी इस कसरत को तेज किया है। फर्जी दस्तावेजों के जरिए यहां बसे बहरूपियों के विरुद्ध पुलिस ने भी ठोस कार्रवाई का सिलसिला शुरू किया है। अलीगढ़ व उन्नाव से रोह‍िंग्या भाइयों की गिरफ्तारी के बाद एटीएस ने सहारनपुर से बांग्लादेशी उमर मुहम्मद उस्मानी व उसके बेटे तनवीर को गिरफ्तार किया है। दोनों यहां पहचान बदलकर रह रहे थे। पिता-पुत्र को एटीएस ने शनिवार को लखनऊ की कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। एटीएस ने दोनों को पुलिस कस्टडी रिमांड हासिल करने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की है, जिस पर सोमवार को सुनवाई होगी। बीते कुछ दिनों में तेजी से बढ़ी जांच में पकड़े गए रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों से पूछताछ में सिंडीकेट के तहत अवैध घुसपैठ का बड़ा खेल सामने आया है।अलीगढ़, उन्नाव, बलरामपुर, मेरठ, कानपुर नगर, सहारनपुर समेत कई जिलों में घुसपैठियों के पहचान बदलकर रहने की जानकारियां सामने आने के बाद अब खुफिया तंत्र की सक्रियता भी बढ़ा दी गई है। सिंडीकेट के तहत कमीशन वसूलकर रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों को सूबे में लाया जा रहा है। मोटा कमीशन लेकर उन्हें यहां कारखानों में काम दिलाया जा रहा है। संतकबीरनगर के खलीलाबाद में छह जनवरी को अवैध ढंग से रह रहे रोह‍िंग्या अजीजुल हक को गिरफ्तार किया गया था, जिसके पास से अजीजुल्लाह के नाम से दो पासपोर्ट, आधारकार्ड व अन्य दस्तावेज बरामद हुए थे। वह वर्ष 2017 में अवैध ढंग से अपनी मां-बहन व दो भाइयों को भी यहां लेकर आया था। अजीजुल के पांच बैंक खातों की भी जांच चल रही है और एटीएस उसके भाई व बहनोई की तलाश भी कर रही है।अब तक पकड़े गए रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों के अब आपसी कनेक्शन की भी परतें खंगाली जा रही हैं। एडीजी कानून-व्यवस्था का कहना है कि पहली बार पुलिस ने अवैध घुसपैठ कर आए रोह‍िंग्या व बांग्लादेशियों के विरुद्ध छानबीन व कार्रवाई के कदम बढ़ाए हैं। इस कसरत में अन्य जांच एजेंसियों से भी मदद ली जा रही है। कई जिलों में पड़ताल तेज की गई है। मानव तस्करी के अलावा इनके अन्य मंसूबों व गतिविधियों की भी छानबीन चल रही है। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» इंजेक्शन मुहैया कराने का झांसा देकर लखनऊ की युवती से ठगी

» उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण पर प्रभावी नियंक्षण, 24 घंटे में 642 नए संक्रमित

» UP महिला आयोग की सदस्य का विवादित बयान, लड़कियों को मोबाइल न दें मां-बाप, करती हैं इसका दुरुपयोग

» योगी आद‍ित्‍यनाथ ने यूपी में बाढ़ के प्रति अलर्ट जारी करने के दिए निर्देश

» दूसरे राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेश में कोरोना टीकाकरण बेहतर - सीएम योगी

 

नवीन समाचार व लेख

» शौक पूरे करने के लिए लुटेरे बन गए राजस्थान के छात्र

» कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर काम करते पर पकड़े गए 16 फर्जी कर्मचारी

» मेरठ मे चुनावी रंजिश में युवक की हत्या के दो आरोपित गिरफ्तार

» प्रतापगढ़ में सो रहे थे रिटायर डिप्टी एसपी को मार दी गोली

» धोखे से किया युवती का सौदा, शातिर ने ऐंठे सात लाख रुपये, दो आरोपित दबोचे गए