यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी में फिर टूटने लगे कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड, 321 और रोगी मिले


🗒 गुरुवार, मार्च 18 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
यूपी में फिर टूटने लगे कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड, 321 और रोगी मिले

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण फिर तेजी से रफ्तार पकड़ रहा है। गुरुवार को राज्य में कोरोना से संक्रमित 321 नए रोगी मिले। राजधानी लखनऊ सहित 16 जिलों में भी फिर से संक्रमण बढ़ रहा है। चौबीस घंटों के दौरान लखनऊ में सबसे ज्यादा 77 केस मिले हैं, जबकि यहां कुल 381 मरीज हैं। राजधानी से सटे बाराबंकी में 13 के मिले, जबकि यहां 40 एक्टिव केस हैं।उत्तर प्रदेश में मार्च के महीने में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के ग्राफ के बीच एक के बाद एक रिकॉर्ड भी टूट रहा है। बुधवार को 261 मरीज मिले थे और दूसरे ही दिन इससे ज्यादा रोगी मिल गए। सूबे में तीन मार्च को जब सिर्फ 77 रोगी मिले थे, तब लगा था कि संक्रमण थमेगा, लेकिन इसके बाद से संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बीते 24 घंटे में मिले मरीजों की यह संख्या 23 जनवरी के बाद सर्वाधिक है। उस समय 327 मरीज मिले थे। प्रदेश में एक्टिव केस बढ़कर 2,217 हो गए हैं।सूबे में लगातार मिल रहे ज्यादा मरीजों के चलते स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। टेस्टिंग व कांटेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। महाराष्ट्र सहित दूसरे राज्यों से होली मनाने उत्तर प्रदेश आ रहे लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। ग्राम व मोहल्ला निगरानी कमेटियों के साथ फ्रंटलाइन वर्करों को भी ऐसे लोगों को चिन्हित करने के काम में लगा दिया गया है। अभी तक प्रदेश में कुल 6.05 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 5.95 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं। अब रिकवरी रेट 98.18 फीसद है।उत्तर प्रदेश के जिन 16 जिलों में संक्रमण बढ़ रहा है, उसमें लखनऊ में सबसे ज्यादा 381 मरीज हैं। वाराणसी में 122, बरेली में 122, कानपुर में 105, प्रयागराज में 103, गाजियाबाद में 116, अलीगढ़ में 92, नोएडा में 67, बलिया में 65, रायबरेली में 39, सहारनपुर में 29, बलरामपुर 34 व उन्नाव में 50 रोगी हैं। वहीं श्रावस्ती, महोबा व महाराजगंज संक्रमण मुक्त हो गया था, लेकिन अब यहां फिर से कोरोना ने पांव पसार दिए हैं। उधर, मेरठ में केस घटने के बावजूद वहां अभी भी 105 रोगी हैं। अब सिर्फ कासगंज ऐसा जिला है, जहां कोरोना का कोई रोगी नहीं है। गुरुवार को दो और मरीजों की मौत के बाद अब तक प्रदेश में कुल 8,753 लोगों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» पूर्व IPS अफसर अमिताभ ठाकुर ने CAT लखनऊ बेंच में दी चुनौती

» कोरोना संक्रमण के कारण यूपी टीईटी स्थगित, बाद में जारी होगा नया कार्यक्रम

» पूर्व सांसद धनंजय सिंह की तलाश में जौनपुर में लखनऊ पुलिस का फिर छापा

» मेदांता लखनऊ में ऑक्सीजन सपोर्ट पर आजम खां, अब्दुल्ला की हालत स्थिर

» लखनऊ में लॉकडाउन में सफारी में भरकर बेच रहा था शराब ,गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» आइआइटी कानपुर में सहायक कुलसचिव ने फांसी लगाकर जान दी, बेटे के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से डिप्रेशन में थे

» कानपुर में टाटा ब्रांड नमक की नकली फैक्ट्री का पर्दाफाश, दो शातिर गिरफ्तार

» अलीगढ़ में सागर हत्याकांड में ममेरे भाई का दोस्त भी गिरफ्तार

» प्रयागराज में गन हाउस में हुई चोरी का राजफाश, तीन बदमाश दबोचे गए

» प्रतापगढ़ में चाचा बोलकर घर के बाहर बुलाया और मार दी गोली