UP में कोरोना आक्रामक, छह हजार से ज्यादा रोगी-40 की मौत; लखनऊ में 1333 नए मरीज

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UP में कोरोना आक्रामक, छह हजार से ज्यादा रोगी-40 की मौत; लखनऊ में 1333 नए मरीज


🗒 बुधवार, अप्रैल 07 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
UP में कोरोना आक्रामक, छह हजार से ज्यादा रोगी-40 की मौत; लखनऊ में 1333 नए मरीज

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। बुधवार को कोरोना से संक्रमित 6023 नए रोगी मिले, जबकि 40 मरीजों की मौत हो गई। करीब सात महीने बाद एक दिन में इतनी अधिक संख्या में मरीज मिले हैं। 13 सितंबर, 2020 को इससे अधिक 6,239 मरीज मिले थे। अब तक एक दिन में सर्वाधिक 7,103 रोगी 11 सितंबर, 2020 को मिले थे। पिछले 24 घंटे में 1.86 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया। प्रदेश के 55 जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। स्टांप, न्यायालय शुल्क व पंजीयन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल भी संक्रमित हो गए हैं। वहीं भाजपा के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल की एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल भेजा गया है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने दूसरे राज्यों से आ रहे लोगों से कम से कम सात से 10 दिनों तक घर पर ही रहने और कोविड टेस्ट कराने की अपील की है।कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 31,987 हो गई है। इन मरीजों में से 18,679 रोगी होम आइसोलेशन यानी घर पर ही अपना इलाज करा रहे हैं, जबकि 668 रोगी प्राइवेट अस्पतालों में और बाकी मरीज कोरोना के सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। बुधवार को फिर लखनऊ में सबसे ज्यादा 1333 रोगी मिले। राजधानी में सबसे ज्यादा कुल 8,852 रोगी हैं। अब तक प्रदेश में कुल 6.34 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 6.04 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। अब रिकवरी रेट घटकर 95.4 फीसद हो गया है। प्रदेश में सात मार्च को कोरोना के कुल 1647 मरीज थे। अब मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 31,987 हो गई है। यानी एक महीने में कुल 30,340 मरीज बढ़ गए हैं। मरीजों की संख्या में करीब 19 गुना वृद्धि हुई है। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) कुलपति डा. बिपिन पुरी के बाद अब उनके कार्यालय के दस कर्मचारियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी संक्रमित कर्मचारी होम आइसोलेशन में हैं। कुलपति कार्यालय में बड़ी संख्या में डाक्टर व कर्मचारियों का आना-जाना रहता है इस कारण अन्य कर्मियों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। मंगलवार को कुलपति डा. बिपिन पुरी में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद कार्यालय में तैनात 28 कर्मचारियों की जांच हुई, जिसमें दस लोग संक्रमित मिले। इसमें लिपिक, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और सुरक्षा गार्ड शामिल हैं। वहीं, बोर्ड रूम समेत दूसरे कक्ष में डाक्टरों के संग बैठकें होती हैं। सूत्रों के मुताबिक सोमवार और मंगलवार को भी बैठकें हुई हैं, जिसमें चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी चाय-पानी देते हैं। ऐसे में डाक्टरों व अन्य कर्मियों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। उधर, कुलपति कार्यालय में 28 में से 10 कर्मचारियों के संक्रमित होने के चलते कामकाज प्रभावित हो रहा है। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» यूपी में भाजपा के व‍िधायक सुरेश श्रीवास्तव और रमेश दिवाकर का न‍िधन

» लखनऊ में 20 हजार में बेच रहे थे रेमडेसिवीर इंजेक्शन, दो डाक्टर समेत चार गिरफ्तार

» लखनऊ में रोटी-लंच बाक्स के नाम से ब‍िक रही थी रेमडेसिविर, केजीएमयू-लॉरी और क्वीनमेरी से 10 मेड‍िकल स्‍टाफ ग‍िरफ्तार

» लखनऊ में मरीजों की मौत पर भड़के तीमारदार, अस्पताल में की तोड़फोड़ व मारपीट

» लखनऊ में हर्षा हॉस्पिटल के मालिक समेत चार गिरफ्तार, रेमडेसिविर की कर रहे थे कालाबाजारी

 

नवीन समाचार व लेख

» फतेहपुर में पुलिस ने पकड़े अंतरराज्यीय तस्कर

» फर्रुखाबाद में बैंड के तय रुपये न देने पर हुए विवाद में दूल्हे के पिता समेत तीन घायल

» कन्नौज में सिगरेट के रुपये मांगने पर युवक ने दुकान में लगाई आग

» आगरा में हाईटेंशन लाइन टूटने से पिता-पुत्री की मौत,

» बुलंदशहर में किशोरी को घर में बुलाकर बनाया बंधक, तमंचे के बल पर दिखाई हैवानियत