यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पंचायत चुनाव की मतगणना पर संकट, शिक्षक व कर्मचारी करेंगे बहिष्कार


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 30 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पंचायत चुनाव की मतगणना पर संकट, शिक्षक व कर्मचारी करेंगे बहिष्कार

लखनऊ । कोरोना वायरस के संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए उत्तर प्रदेश शिक्षक महासंघ व कर्मचारी संगठनों ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना न करने का सामूहिक निर्णय लिया है। महासंघ ने राज्य निर्वाचन आयुक्त को तीसरा पत्र भेजकर अल्टीमेटम दिया है कि मतगणना स्थगित की जाए, अन्यथा शिक्षक व कर्मचारी बहिष्कार करेंगे। यह भी लिखा है कि शिक्षक-कर्मचारी अपनी जान दांव पर लगाकर यह कार्य नहीं करेंगे। ज्ञात हो कि पंचायत चुनाव की मतगणना दो मई से होना प्रस्तावित है।उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा, कलेक्ट्रेट मिनिस्टिीरियल संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार त्रिपाठी, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी, राज्य कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष कमलेश मिश्र, इंदिरा भवन, जवाहर भवन कर्मचारी महासंघ और राज्य कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सतीश कुमार पांडेय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रामराज दुबे सहित अन्य कई संगठनों के नेताओं ने शुक्रवार को वर्चुअल प्रादेशिक संवाद के बाद कहा कि प्रदेश में कोविड का कहर जारी है। सरकार के कर्मचारी विरोधी रवैया अपनाए जाने पर रोष जाहिर करते हुए एक स्वर में दो मई को प्रस्तावित पंचायत चुनाव मतगणना का बहिष्कार करने का निर्णय लिया।कर्मचारी नेताओं का कहना है कि प्रदेश में पूरी चुनाव की प्रक्रिया कोविड 19 की गाइड लाइन के विपरीत होती रही इसीलिए अधिकाधिक कर्मचारी शिक्षक इस चुनाव ड्यूटी के दौरान संक्रमित हुए। बड़ी संख्या में शिक्षक व कर्मचारी असमय मृत्यु के शिकार हो चुके हैं। हजारों की संख्या में संक्रमित होकर इलाज करा रहे हैं और घरों में आइसोलेट हैं। इसके बावजूद उन्हें मतगणना में लगाया जाना कर्मचारी शिक्षकों को मौत के मुंह में ढकेलना है। बैठक का संचालन परिषद के महामंत्री शिव बरन सिंह यादव ने किया।बता दें कि पंचायत चुनाव में मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद वोटों की गिनती रविवार दो मई को आरंभ होगी। जिला मुख्यालयों पर मतगणना के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से सभी जिलाधिकारियों को मतगणना कराने के लिए 13 सूत्री गाइडलाइन प्रेषित करते हुए उन पर कड़ाई से अमल करने की हिदायत दी गई है। स्थानीय निकायों को स्वच्छता का खास ध्यान रखने और स्वास्थ्य विभाग को चिकित्सा प्रबंध दुरस्त रखने को कहा गया है। आयोग की ओर से विशेष कार्याधिकारी एसके सिंह ने गाइडलाइन जारी की है। प्रत्येक मतगणना केंद्र पर मेडिकल हेल्थ डेस्क सक्रिय रहेगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» ब्लैक फंगस से लखनऊ के लोह‍िया संस्‍थान में पहली मौत, केजीएमयू में आठ मरीज भी चपेट में

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने नदियों में शवों के बहाने पर जताई चिंता, कहा- निगरानी के लिए बनाएं टीम

» लखनऊ में फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव, पिता ने लगाया दहेज के लिए हत्या का आरोप

» बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त

» लखनऊ में सेना और पुलिस ने 45 हजार रूपए में ऑक्सीजन सिलिंडर बेचने वाले को दबोचा

 

नवीन समाचार व लेख

» अंबेडकरनगर जिला कारागार में कैदियों के दो गुटों में मारपीट, चार गंभीर-एक कैदी लखनऊ रेफर

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने नदियों में शवों के बहाने पर जताई चिंता, कहा- निगरानी के लिए बनाएं टीम

» इटावा में कटिया डालने को लेकर दो पक्षों में हुआ विवाद, जमकर हुई फायरिंग, दो घायल

» महोबा में स्वयंसेवक को पीटने के मामले में दारोगा निलंबित, BJP जिलाध्यक्ष और MLA ने एडीजी से की शिकायत

» कन्नौज में रिश्वत लेने वाला दारोगा निलंबित, मुकदमा खत्म करने के एवज में मांगे थे रुपये