यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सीएम योगी आदित्यनाथ का अफसरों को निर्देश-शीघ्र तैयार करें स्वास्थ्य विशेषज्ञों का पैनल, लें सलाह


🗒 सोमवार, मई 03 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सीएम योगी आदित्यनाथ का अफसरों को निर्देश-शीघ्र तैयार करें स्वास्थ्य विशेषज्ञों का पैनल, लें सलाह

लखनऊ,। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बेहद घातक होने के बाद भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मोर्चे पर डटे हैं। कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद टीम-9 के साथ नियमित समीक्षा बैठक करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के प्रयास में निर्देश भी देते हैं।सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम-9 के साथ कोरोना की समीक्षा बैठक में राज्य स्तर पर नामी स्वास्थ्य विशेषज्ञों का एक सलाहकार पैनल भी तैयार करने का निर्देश दिया है। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण और आवश्यक रणनीति को लेकर तैयार हो पैनल यह पैनल राज्य स्तरीय टीम-9 को समय-समय पर कोरोना वायरस के मामलों को लेकर आवश्यक परामर्श भी देता रहेगा। मुख्यमंत्री ने शीघ्र ही स्वास्थ्य विशेषज्ञों का पैनल बनाने का निर्देश दिया है। यह सलाहकार पैनल टीम-9 को जरूरी सुझाव देगा। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण और आवश्यक रणनीति के लिए राज्य स्तर पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों का एक सलाहकार पैनल तैयार होगा। यह पैनल राज्य स्तरीय टीम-09 को आवश्यक परामर्श देगा। माना जा रहा है कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों का परामर्श रणनीति तैयार करने में उपयोगी होगा।कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार सतत आवश्यक कदम उठा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार (30 अप्रैल) रात्रि 8 बजे से मंगलवार (04 मई) प्रात: 7 बजे तक प्रदेशव्यापी साप्ताहिक बंदी प्रभावी है। इसे दो दिन और विस्तार दिया जा रहा है। अब प्रदेश में 6 मई प्रात: 7 बजे तक आंशिक कोरोना कर्फ्यू प्रभावी रहेगा। इस अवधि में आवश्यक और अनिवार्य सेवाएं सतत जारी रहेगी। दवा, सब्जी की दुकानें, औद्योगिक इकाइयां आदि सतत संचालित होंगी। कहीं भी अनावश्यक भीड़ न लगे।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड से संबंधित कार्यों में संलग्न प्रदेश के सभी स्वास्थ्य कर्मियों, चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, हाउसकीपिंग स्टाफ, स्वच्छता कर्मी, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि की सेवाएं सेवाभाव और कर्तव्यपरायणता का उत्कृष्ट उदाहरण है। सरकार ऐसे काॢमकों को प्रोत्साहन स्वरूप अतिरिक्त मानदेय प्रदान करेगी। अस्पतालों में सेवारत चिकित्सकों, नॄसग स्टाफ को कोविड सेवा के दिवसों के लिए वर्तमान वेतन/मानदेय का 25 फीसदी अतिरिक्त देय होगा। इसी प्रकार अन्य कोरोना वॉरियर्स के लिए भी अतिरिक्त मानदेय प्रदान किया जाएगा। यह अतिरिक्त मानदेय ड्यूटी के उपरांत इनके आइसोलेशन अवधि के लिए भी दिया जाएगा। अब तो कोविड सेवा कार्य में मेडिकल/नॄसग अंतिम वर्ष के छात्र-छात्राओं की सेवाएं भी ली जाएंगी। इनके अलाया सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कर्मियों, अनुभवी चिकित्सकों, एक्स सॢवस मैन के अनुभवों का भी लाभ लिया जाए, उन्हेंं भी कोविड कार्य से जोड़ा जाए। सभी को नियमानुसार मानदेय प्रदान किया जाएगा। इस संबंध में यथाशीघ्र आदेश जारी कर दिया जाए।सीएम योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक में कहा कि कोविड का वर्तमान स्ट्रेन लगातार रूप बदल रहा है। यह पहली लहर की तुलना में 30 से 50 गुना अधिक संक्रामक है। इसके कुछ केस में देखा गया है कि कोविड टेस्ट में भी इसकी पुष्टि नहीं हो रही है, जबकि सीटी स्कैन में पता लग रहा कि लंग्स कोविड से प्रभावित है। ऐसे में हमें और सतर्कता के साथ काम करने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। मेडिकल एजुकेशन, स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ निजी अस्पतालों को भी कोविड मरीजों के उपचार के लिए क्रियाशील किया गया है। लखनऊ और वाराणसी में डीआरडीओ के सहयोग से सभी सुविधाओं से युक्त नया कोविड अस्पताल भी तैयार जा रहा है। जल्द ही केजीएमयू में 140 बेड और बढ़ जाएंगे। लखनऊ में ही कैंसर हॉस्पिटल में विशेष कोविड डेडिकेटेड सेंटर जल्द क्रियाशील हो जाएगा। प्रदेश के सभी जिलों में बेड बढ़ोतरी की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। यह कार्य प्राथमिकता के आधार पर होनी चाहिए।मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड प्रबंधन को और व्यवस्थित करने के लिए जिलों में सेक्टर प्रणाली को और प्रभावी ढंग से लागू की जाए। सेक्टर मैजिस्ट्रेट क्षेत्रों में लगातार भ्रमण करें। हॉस्पिटल के बाहर भी यह लोग भ्रमण करते रहें, लोगों की मदद करते रहें। हर छोटी-बड़ी गतिविधियों पर सीधी नजर रखें। हर जरूरतमंद को सरकारी नीतियों के अनुरुप सभी जरुरी मदद उपलब्ध कराएं। यह व्यवस्था जनहित में उपयोगी होगी।सरकार गांवों को कोविड संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए पांच मई से विशेष कोविड टेस्टिंग अभियान शुरू हो रहा है। इस अभियान के तहत हमारी निगरानी समितियां घर-घर जाकर लोगों का इंफ्रारेड थरमामीटर से जांच करेंगी, पल्स ऑक्सीमीटर से लोगों का ऑक्सीजन लेवल चेक किया जाएगा। इसके उपरांत कोविड लक्षण युक्त अथवा संदिग्ध लोगों की एंटीजन जांच कराई जाएगी। टेस्ट की रिपोर्ट और मरीज की स्थिति के आधार पर उसे होम आइसोलेशन, इंस्टिट्यूशनल क्वारन्टीन अथवा अस्पताल में इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। होम आइसोलेशन में रखे जाने से पूर्व मरीज को मेडिकल किट दी जाए उसे जरूरी सावधानियों के बारे में विधिवत जानकारी दी जाए। स्वास्थ्य विभाग भी इस वृहद अभियान के सम्बंध में टेस्ट किट, आरआरटी की संख्या आदि में बढ़ोतरी सहित सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ले।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संक्रमण के होम आइसोलेशन में उपचाराधीन लोगों को जरूरत के अनुसार मेडिकल ऑक्सीजन जरूर उपलब्ध कराया जाए। यह व्यवस्था सभी जिलों में प्रभावी ढंग से लागू की जाए। यदि किसी मरीज का परिजन सिलिंडर रीफिलिंग के लिए प्रयासरत हो तो उसकी मदद की जाए। अपर मुख्य सचिव, गृह इस संबंध में आवश्यकतानुसार कार्यवाही सुनिश्चित कराएं।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीते 24 घंटों में प्रदेश में 29,192 नए कोविड केस की पुष्टि हुई है। इसी अवधि में 38,687 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक 10,43,134 लोगों ने कोविड को हराकर आरोग्यता प्राप्त की है। यह स्थिति संतोषप्रद है। प्रदेश में नए कोविड केस कम हो रहे हैं, जबकि रिकवरी दर बेहतर हो रही है। उत्तर प्रदेश सर्वाधिक टेस्टिंग करने वाला राज्य है। बीते 24 घंटों में 2,29,440 सैम्पल टेस्ट हुए, जिसमें 1,29,000 टेस्ट केवल आरटीपीसीआर माध्यम से हुए। टेस्ट, ट्रैक ट्रीट के मंत्र के अनुरूप कार्यवाही तेजी से की जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति बेहतर करने के लिए सभी जरूरी प्रयास किये जा रहे हैं। कल सवा सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई है। ऑक्सीजन ऑडिट की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर अनावश्यक खपत में कमी आई है। नाइट्रोजन प्लांट में तकनीकी परिवर्तन करके उस से ऑक्सीजन गैस बनाने कीकी भी कार्यवाही की जा रही है। गन्ना विकास विभाग एवं आबकारी विभाग की ओर से चीनी मिलों और डिस्टिलरीज में ऑक्सीजन जेनेरेशन की दिशा में विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। एमएसएमई इकाइयों से भी सीधे अस्पतालों को जोड़कर आपूर्ति कराई जा रही है। नए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की कार्यवाही तेजी से पूरी की जाए। इसकी हर दिन समीक्षा की जाए। बरेली और मुरादाबाद व आसपास के क्षेत्रों में सुचारु आपूर्ति के लिए कल ट्रेन संचालित की गई। आगरा में वायु सेवा से ऑक्सीजन पहुंचाया गया है। अगले एक-दो दिन में जामनगर (गुजरात) से 40 टन ऑक्सीजन के साथ ऑक्सीजन एक्सप्रेस आएगी। इसी प्रकार, जमशेदपुर से 10 टैंकरों वाली एक ट्रेन आज चलेगी। पश्चिम बंगाल से भी टैंकर से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है।उन्होंने कहा कि कोविड इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर संक्रमित के स्वजन के साथ संवेदनशील व्यवहार करें। सहयोगपूर्ण रवैया परिजन के लिए इस आपदाकाल में बड़ा सम्बल होगा। हेल्पलाइन में सेवाएं दे रहे कर्मी समुचित जानकारी दें। यदि कोई व्यक्ति किसी संक्रमित के लिए ऑक्सीजन सिलिंडर की रीफिलिंग के लिए जा रहा है तो उसे यथासंभव सहयोग करे उसे रोका न जाए। अस्पताल में भरती संक्रमितों के स्वजन को दिन में कम से कम एक बार उनके मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी जरूर दी जाए। स्वास्थ्य मंत्री इस व्यवस्था को सुनिश्चित कराएं। कोविड प्रबंधन में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर की भूमिका रीढ़ की तरह है। सभी जिलों में इसे और प्रभावी बनाने की जरूरत है। होम आइसोलेशन में उपचाराधीन लोगों से हर दिन संवाद बनाया जाना चाहिए। सीएम हेल्पलाइन, आइसीसीसी सहित सभी हेल्पलाइन पर कार्यरत काॢमक सभी संक्रमित तथा उनके स्वजन को सही और समुचित जानकारी देना सुनिश्चित करें। उनके साथ संवेदनशील व्यवहार किया जाए। स्वास्थ्य राज्य मंत्री लखनऊ के आइसीसीसी का औचक निरीक्षण कर व्यवस्था की पड़ताल करेंमुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे संक्रमितों को मेडिकल किट जरूर उपलब्ध कराएं। प्रदेश में आवश्यक दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है। जितनी जल्दी इलाज शुरू होगा, स्वास्थ्य लाभ भी उतना ही शीघ्र होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी समितियों को इस कार्य में सक्रिय किया जाए। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» तीमारदार भी दिखाएं निगेटिव रिपोर्ट, सामान्‍य मरीज की भी तभी होगी भर्ती

» लखनऊ में नहर किनारे मिला पेट्रोल पंप मैनेजर का शव, सिर में लगी थी गोली

» DRDO कोविड अस्पताल में 20 हजार लीटर आक्सीजन की जरूरत, मिली पांच

» लखनऊ में रेमडेसिविर के विकल्प भी बाजारों से हुए गायब, दर-दर भटक रहे तीमारदार

» लखनऊ में तीन मंजिला घर में चल रहे जूता-चप्पल गोदाम में भीषण आग

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ़ में जस्न मना रहे नव निर्वाचित प्रधान पर हुई फायरिंग

» अलीगढ़ में रंजिश के चलते युवक को चाकू से गोदा, अस्पताल में मौत

» आगरा पुलिस ने इनामी गैंगस्टर समेत चार शातिरों को किया गिरफ्तार

» मथुरा मे पुत्री का टीका चढ़ाने जा रहे पिता से साढ़े पांच लाख और गहने लूटे

» सहारनपुर में प्रतिबंध के बावजूद जीत का जश्‍न, हवाई फायरिंग का वीडियो वायरल, तीन पर केस