लखनऊ में तीन मंजिला घर में चल रहे जूता-चप्पल गोदाम में भीषण आग

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में तीन मंजिला घर में चल रहे जूता-चप्पल गोदाम में भीषण आग


🗒 सोमवार, मई 03 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में तीन मंजिला घर में चल रहे जूता-चप्पल गोदाम में भीषण आग

लखनऊ,। डालीगंज मोहन मिकिन रोड अशफाकुल्लाह नगर में तीन मंजिला घर में चल रहे जूता-चप्पल गोदाम में सोमवार सुबह एकाएक आग लग गई। आग की लपटों के बीच व्यवसायी अरशद सिद्दीकी की पत्नी, बच्चे समेत परिवार के करीब सात से आठ लोग फंस गए। दमकल कर्मियों ने आग में फंसे परिवार को कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित निकाला। फायर फाइटिंग के दौरान एफएसओ चौक आरके यादव चोटिल हो गए। जबकि व्यवसायी के परिवार का युवक याकूब उर्फ भूरे झुलस गया। दमकल कर्मियों ने आधा दर्जन से अधिक गाड़ियों की मदद से तीन घंटे में आग पर काबू पाया।जूता-चप्पल व्यवसायी अरशद सिद्दीकी मोहन मिकिन रोड पर परिवार के साथ अपने तीन मंजिला मकान में रहते हैं। भूतल, प्रथम और दूसरे तल पर उन्होंने गोदाम बना रखा है। सोमवार सुबह गोदाम से धुंआ और आग की लपटें निकलती देख आस पड़ोस के लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। देखते-देखते आग विकराल हो उठी। लोगों ने पानी फेंककर आग पर काबू पाने का प्रयास किया। आग बेकाबू होते देख दमकल और पुलिस को सूचना दी। इस बीच आग पहले और दूसरे तल पर भी पहुंच गई। आग की लपटें और भीषण धुंए के बीच अरशद सिद्दीकी का परिवार फंस गया। इस बीच फायर स्टेशन अफसर आरके यादव टीम के पास पहुंचे और फायर फाइटिंग शुरू की। एफएसओ टीम के साथ तीसरे तल पर जीने से पहुंचे और व्यवसायी की पत्नी समेत परिवार के सभी सदस्यों को सुरक्षित निकाला। उधर, आग की चपेट में आने से व्यवसायी के परिवार का याकूब उर्फ भूरे झुलस गया। दमकल कर्मियों ने उसे भी निकाला और फानन फानन अस्पताल भेजा। करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पा लिया।एफएसओ ने बताया कि वह किसी तरह टीम के साथ तीसरे तल पर पहुंचे तो गए। उसके बाद नीचे देखा तो आग की लपटें बहुत विकराल हो उठीं थीं। तीसरे तल भी आग पहुंच गई। आनन फानन मकान के छज्जे पर परिवार के एक एक व्यक्ति को पहुंचा। वहां से पड़ोसी के छज्जे पर भेजा। परिवार के सभी सदस्यों को पड़ोसी के घर के रास्ते सुरक्षित निकाल लिया गया। आग की तपिश से खिड़की और दरवाजों में लगे शीशे फट गया। इस दौरान एफएसओ आरके यादव टीम के साथ फायर फाइटिंग कर रहे थे। शीशे फटने से सीएफओ के हाथ में चोट लग गई और वह झुलस भी गई। लेकिन टीम के साथ बराबर लगे रहें हिम्मत नहीं हारे। बाद में अस्पताल ले जाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में किशोरी से सरेआम छेड़छाड़ के बाद दो पक्षों में संघर्ष, जमकर हुआ पथराव; दारोगा चोटिल

» लोगों को मास्क पहनने के लिए करना होगा मजबूर - सीएम योगी

» TTE के भाई ने मृतक के भाई के खिलाफ दी तहरीर, पीटने के लगाया आरोप

» लोहिया अस्पताल में सामान्य मरीजों के साथ हो रहा अछूता जैसा व्यवहार

» उत्तर प्रदेश में नए कोरोना संक्रमितों में कमी, बढ़ती जा रही मृतकों की संख्या

 

नवीन समाचार व लेख

» बिजनौर मे पैसों को लेकर कहासुनी, दावत के दौरान युवक की पीट-पीटकर हत्या

» लखनऊ में किशोरी से सरेआम छेड़छाड़ के बाद दो पक्षों में संघर्ष, जमकर हुआ पथराव; दारोगा चोटिल

» लोगों को मास्क पहनने के लिए करना होगा मजबूर - सीएम योगी

» गांवों में कोरोना रोकने के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस जारी

» बहराइच में गर्भवती पर बनाया देह व्यापार का दबाव, इन्कार पर लाठी डंडों से पीटा; नवजात की मौत