लखनऊ में फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव, पिता ने लगाया दहेज के लिए हत्या का आरोप

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ में फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव, पिता ने लगाया दहेज के लिए हत्या का आरोप


🗒 गुरुवार, मई 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लखनऊ में फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव, पिता ने लगाया दहेज के लिए हत्या का आरोप

लखनऊ, । चौक क्षेत्र के चौपटिया में गुरुवार सुबह प्रिया अवस्थी (30) का शव घर के अंदर फंदे पर लटका मिला। बीते दिसंबर में प्रिया का विवाह हुआ था। सीतापुर निवासी प्रिया के परिवारीजनों ने पति समेत अन्य ससुरालीजनों पर कार की मांग पूरी न होने पर हत्या कर शव फंदे पर लटकाए जाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही की बात कही है।सीतापुर जनपद के लहरपुर सांडा खुर्द निवासी जय नारायण अवस्थी किसान हैं। उन्होंने बेटी प्रिया अवस्थी का विवाह बीते एक दिसंबर को चौपटिया चौराहे के पास रहने वाले ऋषभ तिवारी के साथ किया था। जय नारायण ने बताया कि गुरुवार सुबह प्रिया के ससुर मुरालीलाल तिवारी ने फोन कर बताया कि बेटी ने फांसी लगा ली है। इस सूचना पर पहुंचे तो शव घर पर था। बेटी के गले में कसाव के निशान थे। इसके अलावा शरीर पर चोटें भी थीं। प्रिया के पति राहुल और ससुरालीजनों ने मिलकर उसे पीटा और फिर आत्महत्या का रूप देने के लिए फंदे से लटका दिया। इंस्पेक्टर चौक विश्वजीत सिंह ने बताया कि सुबह प्रिया के ससुरालीजनों की सूचना पर पुलिस पहुंची तो कमरे में फंदे पर शव लटक रहा था। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट एवं तहरीर के आधार पर मामले की जांच कर कार्यवाही की जाएगी।प्रिया के पिता जय नारायण का आरोप है कि शादी के बाद से प्रिया के पति और ससुरालीजन कार की मांग कर रहे थे। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण उनकी यह मांग पूरी करने में असमर्थता जताई थी। इसके पहले उन्होंने कई बार रुपयों की मांग की तो बेटी की खुशी के लिए वह भी पूरी की। प्रिया के ससुर सेवानिवृत्त शिक्षक हैं। शादी के बाद से ससुरालीजनों ने बेटी को मायके नहीं भेजा था। उसे फोन पर भी बात नहीं करने देते थे। बेटी अकेले कभी बात नहीं कर पाती थी। वह जब फोन पर भी घर वालों से बात करती तो ससुरालीजन आस पास ही बैठे रहते थे। जय नारायण ने बताया कि बीते जनवरी माह में बेटी के घर गया था। बेटी रो रही थी। उससे पूछने की कोशिस की तो कुछ बताया नहीं क्योंकि ससुरालीजन सब आस पास ही थे। बेटी बहुत परेशान थी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» बसपा में बगावत, निलंबित 11 विधायक एक और विधायक साथ आने पर बनाएंगे नया दल

» विधानसभा सभा चुनाव 2022 में चाचा की पार्टी सहित छोटी दलों से करेंगे गठबंधन

» लखनऊ में मां से नाराज होकर घर से निकली किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, छह आरोपित गिरफ्तार

» धारदार हथियार से किए थे 16 वार, तीन गिरफ्तार

» उत्तर प्रदेश में अब 7221 सक्रिय केस, 24 घंटे में 340 मिले नए संक्रमित