यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने नदियों में शवों के बहाने पर जताई चिंता, कहा- निगरानी के लिए बनाएं टीम


🗒 गुरुवार, मई 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सीएम योगी आदित्यनाथ ने नदियों में शवों के बहाने पर जताई चिंता, कहा- निगरानी के लिए बनाएं टीम

लखनऊ, । कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए जिलों का दौरा कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को ब्रज में थे। उन्होंने कई शिक्षाविद् खो चुके अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) जाकर वहां के हाल को परखा। साथ ही अधिकारियों से साफ कहा कि कोरोना के टेस्ट में तेजी लाएं और रोगियों को हर हाल में 24 घंटे में ही उपचार की व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री ने नदियों में शवों के बहाने पर चिंता व्यक्त करते हुए नदियों की निगरानी को टीम बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस और कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए अलग से टीम लगाकर तैयारी शुरू कर दी गई है। पीडियाट्रिक्स के आइसीयू के निर्माण हर जनपद में शुरू होंगे। कोरोना के साथ चिंता का कारण बन रही ब्लैक फंगस रोकने के लिए ट्रेनिंग व इसके उपचार की समुचित व्यवस्था लखनऊ से शुरू कर दी है। एक-दो दिन में वर्चुअली सेमिनार करके इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाएंगे।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को सुबह करीब 10:50 बजे आगरा पहुंचकर ब्रज के दौरे की शुरुआत की। अलीगढ़, मथुरा व आगरा जिले का दौरा कर उन्होंने कोविड हास्पिटल, कमांड सेंटर का दौरा करने के साथ अलीगढ़ और आगरा मंडल की समीक्षा भी की। उन्होंने गांवों में जाकर व्यवस्थाओं को भी परखा। अलीगढ़ पहुंचने पर सीएम योगी सीधे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) गए। उन्होंने शिक्षकों की मौत पर दुख जताया और यूनिवर्सिटी के लिए हर तरह के सहयोग की बात दोहराई।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दूसरी लहर से निपटने के लिए ट्रेस, टेस्ट एंड ट्रीट की नीति को आगे बढ़ाया है। व्यापक पैमाने पर टेस्ट हो रहे हैं। अब तक चार करोड़ 36 लाख से भी अधिक टेस्ट हो चुके हैं। प्रदेश में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। प्रदेश में आक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने नदियों में शवों की जल समाधि पर नाराजगी जताते हुए कहा कि यह ठीक नहीं है। नदियों में तो जानवरों को भी नहीं फेंका जाता। जल को प्रदूषित नहीं कर सकते।एएमयू के कुलपति को हर तरह से सहयोग देने का वादा करने के 48 घंटे के अंदर ही सीएम योगी आदित्यनाथ अलीगढ़ आए। वे सीधे एएमयू गए। उनका अलीगढ़ आना कई मायने में महत्वपूर्ण है। नौ बार अलीगढ़ आ चुके योगी पहली बार एएमयू गए। साथ ही 33 साल बाद कोई सीएम एएमयू आए हैं। इनसे पहले नारायणदत्त तिवारी आए थे। सीएम ने एएमयू कुलपति प्रो. तारिक मंसूर सहित अन्य उच्चाधिकारियों के साथ बैठक में मेडिकल कालेज को आवश्यक आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति सहित हर संभव मदद का आश्वासन दिया। सीएम ने दिवंगत शिक्षकों के परिवारों के प्रति संवेदना भी व्यक्त की। कुलपति ने सीएम से आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग की।सांसद सतीश गौतम ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने ये भी कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर एएमयू आए हैं। पीएम भी एएमयू को लेकर फिक्रमंद हैं। काबिलेगौर है कि एएमयू में कोरोना काल में 19 शिक्षकों की मृत्यु हो गई है। कर्मचारियों व पूर्व शिक्षकों को मिलाकर यह संख्या करीब 45 पहुंचती है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि को लेकर कांग्रेस के प्रदर्शन पर यूपी सरकार का पलटवार

» आपत्तिजनक टिप्पणी पर सिपाही ने की थी कैदी के बेटे की हत्या

» गाजियाबाद से गिरफ्तार दो रोहिंग्या ने उगले राज ,जारी है ठेके पर बांग्लादेश के रास्ते सीमा पार कराने का खेल

» इटावा, फर्रुखाबाद, मीरजापुर और प्रयागराज में पकड़ी गांजे की बड़ी खेप

» प्रदेश के सात जिलों में एक भी नया संक्रमित नहीं, 24 घंटे में 619 नए केस