यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

चित्रकूट जेल गैंगवार में मुख्तार अंसारी के करीबी समेत दो की हत्या, पुलिस एनकाउंटर में गैंगस्टर भी ढेर


🗒 शुक्रवार, मई 14 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
चित्रकूट जेल गैंगवार में मुख्तार अंसारी के करीबी समेत दो की हत्या, पुलिस एनकाउंटर में गैंगस्टर भी ढेर

लखनऊ, । उत्तर प्रदेश में बुधवार को अम्बेडकरनगर जिला जेल में बवाल के बाद शुक्रवार को जिला जेल चित्रकूट में गैंगवार हो गया। चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार को कैदियों के दो गुट आपस में भिड़ गए। वर्चस्व की इस भिड़ंत में दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग भी हुई ।चित्रकूट जिला जेल में बंद शातिर अपराधियों के बीच गुरुवार देर रात गोलियां चल गईं। शुक्रवार सुबह रुक-रुक कर गोलियां चलती रहीं। इसमें मुख्तार अंसारी गैंग के शार्प शूटर सीतापुर के मूल निवासी अंशु दीक्षित ने पश्चिमी उप्र के कैराना निवासी दुर्दांत अपराधी मुकीम काला और मूल रूप से गाजीपुर निवासी वर्तमान में वाराणसी के जैतपुरा क्षेत्र में रहने वाले मेराज अली की पिस्टल से हत्या कर दी। सुबह 10.15 बजे चित्रकूटधाम मंडल का पुलिस फोर्स पहुंच गया। पांच बंदियों को बैरक में बंधक बनाए अंशु को सरेंडर करने के लिए कहा गया, लेकिन उसने अनसुनी कर दी। इसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर उसे भी मुठभेड़ में ढेर कर दिया। करीब 50 राउंड गोलियां चलीं। एसपी ने बताया कि गोली पिस्टल से मारी गई। पिस्टल जेल में पहुंचने और गैंगवार की वजह पता लगाई जा रही है। इसके लिए जांच शुरू कराई गई है।उत्तर प्रदेश में बागपत जिला जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला है। हाल में सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट जेल में शिफ्ट होने वाले पूर्वांचल के बड़े गैंगस्टर अंशु दीक्षित ने झड़प के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े बदमाशों मुकीम काला और मेराजुद्दीन पर फायरिंग की। इस फायरिंग में चित्रकूट जेल में बंद मेराजुद्दीन और मुकीम काला की मौके पर ही मौत हो गई। जेल में फायरिंग की सूचना पर भारी पुलिस ने जेल को छावनी बना दिया और पुलिस पर फायरिंग करने के प्रयास में अंशु दीक्षित मुठभेड़ में मारा गया।सुल्तानपुर जेल में बंद अंशु दीक्षित तो सीतापुर का निवासी था। मुकीम के साथ मारा गया मेराज अली जेतपुरा वाराणसी का ही निवासी था। मुकीम काला को पश्चिमी उत्तर में आतंक का पर्याय माना जाता है। इसे कैराना पलायन प्रकरण का मुख्य सूत्रधार भी माना जाता है। वह वसीम काला का भाई है, जिसे एसटीएफ ने तीन वर्ष पहले मुठभेड़ में मारा था। डीजी जेल के कार्यालय के अनुसार जिला जेल चित्रकूट की उच्च सुरक्षा बैरक में निरुद्ध अंशु दीक्षित पुत्र जगदीश जो जिला जेल सुल्तानपुर से प्रशासनिक आधार पर स्थानांतरित होकर चित्रकूट में निरूद्ध है ने आज सुबह लगभग दस बजे सहारनपुर से प्रशासनिक आधार पर आए बंदी मुकीम काला तथा बनारस जिला जेल से प्रशासनिक आधार पर आए मेराज अली को असलहे से मार दिया तथा पांच अन्य बंदियों को अपने कब्जे में कर लिया। इसके बाद उन्हेंं जान से मारने की धमकी देने लगा। उसके पास असलहा था ऐसे में जिला प्रशासन को सूचना दी गई चित्रकूट के डीएम और एसपी ने पहुंचकर बंदी को नियंत्रित करने का बहुत प्रयास किया गया किंतु वह पांच अन्य बंदियों को भी मार देने की धमकी देता रहा।इसके बाद तो उसकी आक्रामकता तथा जिद को देखते हुए पुलिस ने कोई विकल्प ना देखते हुए फायरिंग की, जिसमें अंशु दीक्षित भी मारा गया। चित्रकूट जिला जेल में इस प्रकार कुल तीन बंदी मारे गए हैं। मेराजुद्दीन उर्फ मेराज अली 20 मार्च 2021 को जिला जेल बनारस से प्रशासनिक आधार पर स्थानांतरित करके चित्रकूट जेल लाया गया था। दूसरा मृत बंदी मुकीम काला सात मई 2021 को जिला जेल सहारनपुर से प्रशासनिक आधार पर  चित्रकूट जेल लाया गया था। अंशु दीक्षित ने शुक्रवार को जिस असलहे से पुलिस के साथ मुकीम काला व मेराज अली पर फायरिंग की थी, उसकी जिला कारागार में तलाशी कराई जा रही है। जिलाधिकारी तथा एसपी मौके पर मौजूद हैं। यह सभी अधिकारी घटनाक्रम की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। फिलहाल कारागार में शांति है तथा स्थिति नियंत्रण में है।अंशु दीक्षित के साथ भिड़ंत में मारा गया मेराजुद्दीन बांदा जेल में बंद बसपा के विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी का करीबी था। बागपत जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद मेराजुद्दीन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुख्तार का काम देखता था। इसमें मुकीम काला भी उसकी मदद करता था। मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का इनामी गैंगस्टर था। बागपत जिला जेल में सुनील राठी ने नाइन एमएम की पिस्टल से मुन्ना बजरंगी की हत्या की थी। मुन्ना बजरंगी भी पेशी पर उन दिनों बागपत गया था, जबकि सुनील राठी को उत्तराखंड की जेल से बागपत जेल में शिफ्ट किया था। राठी इन दिनों फर्रुखाबाद की फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में बंद है। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बोले- 'पहले टीका फिर परीक्षा

» प्रियंका वाड्रा ने शुरू किया 'जिम्मेदार कौन?' अभियान, कोरोना से बने हालात पर पूछेंगी सरकार से सवाल

» उत्तर प्रदेश सहकारिता विभाग की भर्तियों में जमकर हुई थी धांधली, SIT ने दर्ज किए छह और मुकदमे

» लखनऊ जेल लाया गया कुख्यात सुरेंद्र कालिया, धनंजय सिंह को फंसाने की रची थी सजिश

» लखनऊ में ससुराल में युवक की पीटकर हत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बोले- 'पहले टीका फिर परीक्षा

» इटावा में इलाज के नाम पर उगाही का मामला आया सामने, डॉक्टर बनकर मरीज के स्वजन से ठगे 75 हजार रुपये

» आरती शर्मा की हत्या के मामले में शूटर और पति को जेल, आरोपित भोलू की तलाश जारी

» कानपुर में युवती की हत्या के आरोप में प्रधान समेत पांच के खिलाफ मुकदमा

» उन्नाव में हिंदू युवती से विवाह की तैयारी कर रहा था दूसरे मत का युवक, अचानक पहुंची पुलिस