यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

घरवालों ने कहा, पुष्पेंद्र व शैलजा ने ली पार्थ की जान


🗒 सोमवार, मई 24 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
घरवालों ने कहा, पुष्पेंद्र व शैलजा ने ली पार्थ की जान

लखनऊ,। सीएम के इंटरनेट मीडिया शाखा में संविदा पर तैनात पार्थ श्रीवास्तव की आत्महत्या के मामले में सोमवार को विवेचक ने पीडि़त परिवार का बयान दर्ज किया। इस दौरान पार्थ के पिता रवींद्रनाथ श्रीवास्तव ने कहा कि उनके बेटे ने आरोपित पुष्पेंद्र और शैलजा की प्रताडऩा से तंग आकर जान दी है। आरोपित आए दिन पार्थ को प्रताडि़त करते थे। पीडि़त परिवार ने बयान दर्ज कराकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की है।विवेचक अतिरिक्त निरीक्षक राम कुमार यादव के मुताबिक पार्थ के पिता रवींद्रनाथ श्रीवास्तव का बयान दर्ज कर आगे की विवेचना की जा रही है। साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। विवेचक से पार्थ के ट््वीट डिलीट किए जाने के संबंध में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। विवेचक का कहना है कि आरोपितों से विवेचना के दौरान पूछताछ की जाएगी। आरोपित पुष्पेंद्र बेसिल कंपनी का कर्मचारी है, जिसके अधीन पार्थ काम करता था।पुष्पेंद्र मान्यता प्राप्त पत्रकार भी है। सुसाइड नोट में पार्थ ने लिखा था कि पुष्पेंद्र और शैलजा की वजह से वह जान दे रहा है, जो आत्महत्या नहीं बल्कि कत्ल है। इस पूरे मामले में पार्थ का ट््वीट किसने डिलीट किया, इसकी अभी तक पुष्टि नहीं हो सकी है। पीडि़त परिवार का कहना है कि उन्हें शासन पर पूरा भरोसा है और पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि बुधवार को पार्थ ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या कर ली थी। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» संजय सिंह समेत कई वरिष्ठ नेता सीतापुर में गिरफ्तार

» तीन का अंतिम संस्कार, चौथे का परिवार दिल्ली में पोस्टमार्टम पर अड़ा

» सुकन्या योजना के तहत रुपये दिलाने का झांसा देकर दुष्कर्म

» छात्रा को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

» प्रियंका गांधी वाड्रा सीतापुर में गिरफ्तार, रिहाई पर असमंजस